Gold Price Today: कोरोनाकाल में भी लोगों ने खूब खरीदा सोना, बीते वित्त वर्ष में गोल्ड इंपोर्ट 22.58 फीसदी बढ़ा

गोल्ड इंपोर्ट 22.58 फीसदी बढ़ा

गोल्ड इंपोर्ट 22.58 फीसदी बढ़ा

Gold imports: वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, घरेलू मांग बढ़ने से सोने का आयात बढ़ा है. आंकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष के दौरान चांदी का आयात 71 प्रतिशत घटकर 79.1 करोड़ डॉलर रह गया.

  • Share this:
नई दिल्ली: बीते वित्त वर्ष 2020-21 में सोने का आयात 22.58 प्रतिशत बढ़कर 34.6 अरब डॉलर या 2.54 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया. सोने का आयात चालू खाते के घाटे (कैड) को प्रभावित करता है. वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, घरेलू मांग बढ़ने से सोने का आयात बढ़ा है. आंकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष के दौरान चांदी का आयात 71 प्रतिशत घटकर 79.1 करोड़ डॉलर रह गया.

इससे पिछले वित्त वर्ष 2019-20 में सोने का आयात 28.23 अरब डॉलर रहा था. सोने के आयात में बढ़ोतरी के बावजूद बीते वित्त वर्ष में देश का व्यापार घाटा कम होकर 98.56 अरब डॉलर रह गया. 2019-20 में यह 161.3 अरब डॉलर रहा था.

GJEPC के चेयरमैन ने दी जानकारी

जेम एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रोमोशन काउंसिल (GJEPC) के चेयरमैन कोलिन शाह ने कहा कि घरेलू मांग बढ़ने से सोने का आयात बढ़ रहा है. शाह ने कहा कि अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) और शादी-ब्याज के सीजन (Marriage Season) की वजह से सोने का आयात और बढ़ सकता है. इससे चालू खाते का घाटा भी बढ़ेगा. देश में विदेशी मुद्रा के आने और यहां से बाहर जाने का अंतर कैड कहलाता है.
यह भी पढ़ें: खुशखबरी! पेट्रोल भरवाने पर मिलेगा 150 रुपये का कैशबैक, इस तरह पेमेंट कर उठाएं फायदा

भारत है सबसे बड़ा सोने का आयातक

आपको बता दें भारत दुनिया का सबसे बड़ा सोने का आयातक है. मुख्य रूप से आभूषण उद्योग की मांग को पूरा करने के लिए सोने का आयात किया जाता है. बीते वित्त वर्ष में रत्न एवं आभूषणों का निर्यात 27.5 प्रतिशत घटकर 26 अरब डॉलर रह गया.



मात्रा के हिसाब से भारत हर साल 800 से 900 टन सोने का आयात करता है. सरकार ने बजट में सोने पर आयात शुल्क 12.5 प्रतिशत से घटाकर 10 प्रतिशत कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज