खुल गई गोल्ड ज्वेलरी की दुकानें, ग्राहकों के लिए जरूरी है इन नियमों को पालन करना

खुल गई गोल्ड ज्वेलरी की दुकानें, ग्राहकों के लिए जरूरी है इन नियमों को पालन करना
अंतर्राष्ट्रीय बाजार में आज सोने- चांदी के भाव स्थिर रहे.

कोरोना संकट (Coronavirus Pandemic) के बीच जेवेलर्स (Gold Jeweler) ने अपने शोरूम खोल दिये है साथ ही कोरोना संक्रमण से बचने के लिए कई कदम भी जेवेलर्स की ओर से उठाए जा रहे है.

  • Share this:
नई दिल्ली. पिछले 70 दिन से बंद सोने की ज्वेलरी शॉप्स (Gold Jewelry Shop) अब खुलने लगी है. लेकिन कोरोना की वजह से बदले माहौल में ज्वेलर्स ने भी कई चीज़ों में बदलाव किया है. अगर इस बार आप सोने की ज्वेलरी (Gold Shops) खरीदने जाएंगे तो आपको इस बार बिल्कुल नई चीज़ें मिलेंगी. आपको बता दें कि अब पिछले दो दिन में सोने की कीमतों में बड़ी गिरावट आई है. शुक्रवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में 10 ग्राम सोने का भाव 20 रुपये कम होकर 47,268 रुपये हो गया है. गुरुवार को दिल्ली में 10 ग्राम सोने (Gold Price) के भाव में 274 रुपये की गिरावट आई, जिसके बाद यह 47,185 रुपये के स्तर पर लुढ़क गया है. इसके पहले दिन यानी बुधवार को पीली धातु का भाव 47,459 रुपये प्रति 10 ग्राम रहा था.

आपके पड़ोस वाली ज्वेलर्स की दुकान में हुए कई बदलाव- देश की राजधानी दिल्ली में ज्वेलरी की दुकाने खुलने लगी है. अब यहां आने वाले ग्राहकों के लिए थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है. साथ ही, मास्क और ग्लव्स पहन कर शोरुम में एंट्री ज़रूरी कर दी गई है. स्टाफ और ग्राहकों के लिए सोशल डिस्टनसिंग अपनाई जा रही है.

एंट्री गेट पर सेंनेटाइजेशन की व्यवस्था भी कई गई है. ज्वेलरी को सेनेटाइज करने का नया तरीका अपनाया जा रहा है. ज्वेलरी में UV रेज़ के ज़रिए संक्रमण के खतरे को कम किया जा रहा है. ग्राहक के ज्वेलरी छूने के बाद UV बॉक्स में डाली जाती है. ज्वेलर्स का का कहना है कि UV किरणों से क्वालिटी पर कोई असर नहीं होता है.



ज्वेलर्स दे रहा है डिस्काउंट- ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए कई बड़े ज्वेलर्स डिस्काउंट दे रहे हैं. क्योंकि डिमांड में जोरदार गिरावट आई है.



गोल्ड बॉन्ड में बढ़ा लोगों को रुझान- वित्तीय संकट या ऐसे समय बाजार में जब उथल-पुथल सबसे ज्यादा दिखाई देती है, उस दौरान गोल्ड में निवेश (Investment in Gold) करना सबसे बेहतर विकल्प माना जाता है क्योंकि इसमें जोखिम कम और रिटर्न अच्छा होता है. पिछले एक साल में गोल्ड पर 40 फीसदी का रिटर्न (Return on Gold) मिला है.

ये भी पढ़ें-लगातार दूसरे दिन सस्ता हुआ सोना, फटाफट जानिए क्या है 10 ग्राम का भाव

वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (World Gold Council) की एक रिपोर्ट के अनुसार 2020 के पहले तिमाही के दौरान गोल्ड में जबरदस्त इन्वेस्टमेंट डिमांड देखने को मिली है. इस रिपोर्ट में कहा गया, 'साल-दर-साल के आधार पर इस दौरान गोल्ड डिमांड 80 फीसदी बढ़करर 539.6 टन रहा.'

कोरोना वायरस महामारी के आर्थिक प्रभाव को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष, ऑर्गेनाइजेशनन फॉर इकोनॉमिक को-ऑपरेशन एंड डेवलपमेंट, मूडीज और विश्व बैंक जैसी संस्थाओं ने वैश्विक ग्रोथ के अनुमान में भारी कमी किया है. यही कारण है कि गोल्ड में निवेश करने को सबसे सुरक्षित विकल्प माना जा रहा है.

(दिपाली नंदा, CNBC आवाज़)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading