Home /News /business /

Gold Jewelry Update: मेकिंग चार्ज के नाम पर 10% महंगी हुई ज्वैलरी, इन तरीकों को अपनाएंगे तो सस्ते पड़ेंगे गहने

Gold Jewelry Update: मेकिंग चार्ज के नाम पर 10% महंगी हुई ज्वैलरी, इन तरीकों को अपनाएंगे तो सस्ते पड़ेंगे गहने

Gold Price Today- शादियों का सीजन (wedding season) चल रहा है जिसकी वजह से बड़ी संख्या में लोग सोने की खरीदारी कर रहे हैं. ऐसे लोग जो सोना खरीदना चाहते हैं उनके लिए अच्छी खबर है. इन दिनों सोना अपने रिकाॅर्ड हाई से सस्ता मिल रहा है.

Gold Price Today- शादियों का सीजन (wedding season) चल रहा है जिसकी वजह से बड़ी संख्या में लोग सोने की खरीदारी कर रहे हैं. ऐसे लोग जो सोना खरीदना चाहते हैं उनके लिए अच्छी खबर है. इन दिनों सोना अपने रिकाॅर्ड हाई से सस्ता मिल रहा है.

Gold Jewelry Update: नॉन हॉलमार्किंग ज्वैलरी (Non Hallmarking Jewelry) बेचने वाले ज्वैलर्स (jewelers) का मुनाफा कम हुआ तो मेकिंग चार्ज (making charge) बढ़ाकर इसकी भरपाई करना शुरू कर दी है.

    नई दिल्ली. सोने के गहनों में होने वाली मिलावट को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने इसकी हॉलमार्किंग अनिवार्य कर दी है. ऐसे में नॉन हॉलमार्किंग ज्वैलरी बेचने वाले ज्वैलर्स का मुनाफा कम हुआ तो उन्होंने मेकिंग चार्ज बढ़ाकर इसकी भरपाई करना शुरू कर दी है.
    देश के कई शहरों में अलग-अलग तरीके से मेकिंग चार्ज बढ़ाया गया है. कहीं यह प्रति ग्राम 500 से 1500 रुपए तक बढ़ गया है, तो कहीं, प्रति ग्राम की कीमत पर 10 से 15 प्रतिशत तक वसूला जा रहा है. न्यूज18 ने पड़ताल की तो औसतन प्रति ग्राम 10 प्रतिशत तक मेकिंग चार्ज बढ़ गए हैं. भोपाल मेें मेकिंग चार्ज 10 प्रतिशत तक होते थे जो अब बढ़कर 13 प्रतिशत हो गए हैं. मुंबई में लेबर चार्ज के नाम पर ज्वैलर्स प्रॉफिट कमा रहे हैं.  सबसे पहले आप इन दो उदाहरणों से समझे कैसे मैकिंग चार्ज के नाम पर हो रहा खेल…
    यह भी पढ़ें:Naukari Ki Baat : टीचर हैं तो ई-लर्निंग, सेल्स में सोशल मीडिया मार्केटिंग जैसे कोर्सेस से अपने आपको अपडेट करें

    1. दिल्ली निवासी अमरजीत सिंह अपने करीबी रिश्तेदार को सोने की अंगूठी गिफ्ट देने के लिए घर के पास के चांदनी ज्वैलर्स के पास पहुंचे. उन्हें 22 कैरेट सोने के ताजे भाव के आधार 22300 रुपए कीमत बताई. इसमें 2700 रुपए मेकिंग चार्ज था. अमरजीत को यह महंगा लगा तो वह एक ब्रांडेड ज्वैलरी शोरूम पहुंच गए. यहां उन्हें उतने ही वजन की ज्यादा और नई डिजाइन वाली अंगूठी 21400 रुपए में मिल गई. कीमत कम होने की वजह मेकिंग चार्ज महज 1200 रुपए होना था.

    2. मध्यप्रदेश के रीवा की स्नेहा दुबे (परिवर्तित नाम) ने अपने घर में शादी के लिए ज्वैलरी खरीदी. इनमें से सुखदेव ज्वैलर्स के पास से 2.5 ग्राम की एक अंगूठी भी थी. वे कई सालों से सुखदेव ज्वलर्स के यहां से गहने खरीद रही थीं, इसलिए उन पर पूरा भरोसा था. बाद में जब बिल देखा तो मेकिंग चार्ज 17 प्रतिशत लगा दिया गया. दुबे ने ज्वैलर्स से इसकी वजह पूछी तो बताया गया कि हॉलमार्किंग आने के बाद मेकिंग चार्ज में बढ़ गया है.

    ज्वैलरी का मेकिंग चार्ज, गोल्ड हॉलमार्किंग, सोने के गहने, सोने के गहनों की हॉलमार्किंग, ज्वैलर्स, गैर-हॉलमार्किंग आभूषण, सोने के पुराने गहने, गहने महंगे हुए, गहनों के दामों में बढ़ोतरी, Jewelery making charge, gold hallmarking, gold jewellery, gold jewelery hallmarking, jewellers, non-hallmarking jewellery, old gold jewellery, jewelery become expensive, jewelery prices hiked,

    मध्यप्रदेश के रीवा शहर के सुखदेव ज्वैलर्स ने 17 प्रतिशत मेकिंग चार्ज वसूला है.

    ज्वलर्स के अलग-अलग सुर
    ऑल इंडिया जेम्स एंड ज्वैलरी डोमेस्टिक काउंसिल के चेयरमैन आशीष पेठे कहते हैं कि ज्वैलरी की डिजाइन के हिसाब से बनाने में कितना टाइम लग रहा है, इस पर मेकिंग चार्ज तय होता है. चूंकि, इस बारे में कोई नियम नहीं है, इसलिए यह ज्वैलर्स पर निर्भर है कि वह कितना मेकिंग या लेबर चार्ज ले. India Bullion and Jewelers Association (आईबीजेए) के राष्ट्रीय सचिव सुरेंद्र मेहता का कहना है कि हॉलमार्किंग की वजह से अब कैरेट वाइज सोने के फिक्स दाम होते हैं. लिहाजा,  ज्वैलर्स का मार्जिन सिर्फ मेकिंग चार्ज पर निर्भर है. वैसे, मेकिंग चार्ज में कई कारक होते हैं जिनकी वजह से कुछ डिजाइन पर यह 15 से 20 या 25 प्रतिशत तक हो जाता है. मुंबई ज्वैलर्स एसोसिएशन (Mumbai Jewelers Association) के वाइस प्रेसिडेंट कुमार जैन का कहना है कि जो ज्वैलर्स पहले से हॉलमार्किंग में काम कर रहे थे, उनके लेबर चार्जेस में कोई फर्क नहीं आया है. यदि किसी ने मेकिंग चार्ज बढ़ाए हैं तो इसका मतलब साफ है कि वह हॉलमार्किंग अनियार्य होने से पहले कम गुणवत्ता वाली ज्वैलरी बेचता रहा हो. भोपाल सर्राफा महासंघ के महासचिव नवनीत अग्रवाल का कहना है हॉलमार्किंग की वजह से अब सोना सभी जगह एक कीमत पर है, जिससे प्रॉफिट कम हो गया है. लिहाजा पहले औसत 10 प्रतिशत तक मैकिंग चार्ज होता था, जो कि अब 13 प्रतिशत हो गया है.
    यह भी पढ़ें: Financial Advice: उधारी से निजात पाने के आसान तरीके जानें, महंगा कर्ज सबसे पहले चुकाएं

    आप क्या करें…
    मुंबई ज्वैलर्स एसोसिएशन (Mumbai Jewelers Association) के वाइस प्रेसिडेंट कुमार जैन का कहना है कि हॉलमार्किंग की वजह से अब किसी भी ज्वैलर्स से गहने खरीद सकते हैं. आपकी मनचाही डिजाइन दूसरे ज्वैलर्स के पास उपलब्ध हो और मेकिंग चार्ज कम हो तो वहां से भी खरीदी कर सकते हैं. लिहाजा, जब भी ज्वैलरी खरीदने जाएं तो पहले कुछ ज्वैलर्स के यहां मेकिंग चार्ज पता कर लें.

    Tags: Gold hallmarking, Gold price, Gold price News, Hallmark gold rate today, Jewellery companies

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर