अगर गोल्‍ड ज्‍वेलरी पर लेना है 90 फीसदी लोन तो पूरी करनी होगी ये बड़ी शर्त

अगर गोल्‍ड ज्‍वेलरी पर लेना है 90 फीसदी लोन तो पूरी करनी होगी ये बड़ी शर्त
गोल्ड लोन RBI ने गोल्ड ज्वेलरी पर कर्ज की वैल्यू को बढ़ा दिया है. अब कुछ शर्तें पूरी करने पर ग्राहक को गोल्ड पर 90 फीसदी तक कर्ज मिल सकेगा.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने मौद्रिक नीति का ऐलान करते हुए बताया था कि अब लोग गोल्‍ड ज्‍वेलरी की कीमत के 90 फीसदी तक लोन (Gold Loan) ले सकेंगे. हालांकि, ये जरूरी नहीं कि हर व्‍यक्ति या कारोबारी को 90 फीसदी गोल्‍ड मिले. इसके लिए कुछ शर्तों को पूरा करना जरूरी होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 14, 2020, 2:58 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना संकट के बीच रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने आम आदमी और छोटे कारोबारियों को बड़ी राहत देते हुए गोल्ड ज्वेलरी पर लोन वैल्यू बढ़ाने का ऐलान किया. आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) के मुताबिक, अब कोई भी व्‍यक्ति जरूरत महसूस होने पर अपने घर या बैंक के लॉकर में पड़ी गोल्‍ड ज्‍वेलरी की कीमत के 90 फीसदी तक लोन (Gold Loan) ले सकता है. ये नया नियम 31 मार्च 2021 तक प्रभावी रहेगा.बता दें कि इससे पहले तक गोल्ड ज्‍वेलरी की अधिकतम 75 फीसदी कीमत के बराबर लोन लेने का नियम था. हालांकि, गोल्‍ड ज्‍वेलरी की 90 फीसदी कीमत के बराबर लोन के लिए लोगों को कुछ शर्तें पूरी करनी होंगी.

कीमतें घटीं तो कर्ज का मूल्‍य ज्‍वेलरी से हो सकता है ज्‍यादा
गोल्ड लोन में बैंकों और नॉन-बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों को सिक्‍योरिटी के तौर पर गोल्‍ड ज्‍वेलरी या बुलियन गिरवी रखने के कारण जोखिम कम रहता है. इसलिए गोल्‍ड लोन के लिए बहुत अच्‍छा सिबिल स्कोर (CIBIL Score) होना जरूरी नहीं माना जाता था. अब आरबीआई के कर्ज और सोने के मूल्य का अनुपात (Loan to Value Ratio - LTV) बढ़ाने के फैसले से सिबिल स्कोर की भूमिका अहम हो जाएगी. दरअसल, आरबीआई के फैसले से बैंक और एनबीएफसी की चिंता बढ़ेगी क्‍योंकि इस समय गोल्‍ड की कीमतें छू रही हैं. अगर भविष्‍य में सोने की कीमतों में बड़ी गिरावट हुई तो कर्जदाता के पास गिरवी रखे सोने का मूल्य लोन की रकम से कम हो सकता है.

ये भी पढ़ें- नई हेल्‍थ इंश्‍योरेंस पॉलिसी लॉन्‍च! कवर होगा कोविड-19 का 100% मेडिकल खर्च, मिलेगी कैशलेस सुविधा
सिबिल स्‍कोर अच्‍छा हुआ तो मिलेगा 90% गोल्‍ड लोन


बैंकों और एनबीएफसी के लिए कर्ज वसूलना मुसीबत बन सकता है. उनके पास गारंटी के तौर पर सिर्फ 10 फीसदी गोल्‍ड ही रह जाएगा. ऐसे में गोल्‍ड लोन अप्रूवल में ग्राहकों के सिबिल स्‍कोर की अहमियत बढ़ जाएगी. बैंकिंग सेक्‍टर के विशेषज्ञों का मानना कि आरबीआई ने भले ही सोने की कीमत का 90 फीसदी तक कर्ज लेने की सुविधा दे दी है, लेकिन सोने की आसमान छूती कीमतों को देखते हुए बैंक इस सीमा तक कर्ज देने में काफी सतर्कता सतर्कता बरतेंगे. बैंक सिर्फ उन्हीं ग्राहकों को 90 फीसदी तक कर्ज देंगे, जिनका सिबिल स्कोर अच्‍छा होगा. ऐसे में ग्राहकों के लिए सोने की कीमत का 90 फीसदी तक कर्ज पाना आसान नहीं होगा. कर्जदाता अधिकतम 80 फीसदी तक कर्ज दे सकते हैं.

ये भी पढ़ें- Good News: अब 5 के बजाय 1 साल में ही मिलेगी ग्रेच्युटी! संसदीय समिति ने की सिफारिश

ऐसे बिजनेस के लिए मिल सकता है 90% गोल्‍ड लोन
केडिया एडवाइजरी के एमडी अजय केडिया का कहना है कि बेहतर सिबिल स्कोर के साथ ही लोन लेने का उद्देश्‍य भी अहम होगा. बैंक इस आधार पर तय कर सकते हैं कि ग्राहक के सोने की कीमत का कितना फीसदी कर्ज दें. उनका कहना है कि अगर ग्राहक सर्विस सेक्‍टर, फूड सर्विस, रोजमर्रा की जरूरतों से जुड़े कारोबार या होम डिलिवरी से जुड़े व्‍यवसाय में निवेश के लिए लोन अप्‍लाई कर रहा है तो बैंक या वित्‍तीय संस्‍थाान 90 फीसदी तक कर्ज दे सकते हैं. वहीं, अगर टूर्स एंड ट्रेवल्‍स या ऐसे कारोबार में पैसा लगाना चाहते हैं, जो कोविड-19 के कारण बुरी तरह प्रभावित हुआ तो ग्राहक को 90 फीसदी गोल्‍ड लोन मिलना मुश्किल होगा. केडिया के मुताबिक, बैंक 90 फीसदी गोल्‍ड लोन देने से पहले ग्राहक की कर्ज चुकाने की क्षमता का भी आकलन करेंगे.

ये भी पढ़ें- EMI मोरेटोरियम के बाद बाकी लोन कराना चाहते हैं दूसरे बैंक में ट्रांसफर तो करें ये जरूरी काम

ईएमआई से भी कर सकते हैं गोल्‍ड लोन का भुगतान
ग्राह‍क गोल्‍ड लोन का भुगतान ईएमआई के जरिये भी कर सकते हैं. इसके अलावा बैंक खाते में ओवरड्राफ्ट बनाकर जरूरत के अनुसार खर्च कर सकते हैं. गोल्‍ड लोन अप्‍लाई करने वाले ग्राहक आईडी प्रूफ के तौर पर पैन कार्ड, पासपोर्ट, आधार, ड्राइविंग लाइसेंस या कोई अन्य पहचान पत्र दे सकते हैं. एड्रेस प्रूफ के लिए आपके पास आधार कार्ड, बिजली का बिल, टेलीफोन बिल, पानी का बिल, राशन कार्ड में से कोई भी एक होना चाहिए. कई बैंक आपके हस्ताक्षर की जांच के लिए पासपोर्ट या ड्राइविंग लाइसेंस की मांग कर सकते हैं. इसके साथ ही दो पासपोर्ट साइज फोटो भी जरूरी हैं. अगर कस्टमर अनपढ़ है तो विटनेस लेटर जमा करना होता है.

ये भी पढ़ें- RIL की बड़ी छलांग, Fortune Global 500 की सूची में 10 स्‍थान के उछाल के साथ टॉप-100 में हुई शामिल

एसबीआई से सस्‍ती दरों पर ले सकते हैं गोल्‍ड लोन
एसबीआई से आप सस्ती दर पर गोल्‍ड लोन ले सकते हैं. स्‍टेट बैंक इस समय गोल्‍ड लोन पर 7.50 फीसदी की दर से ब्‍याज ले रहा है. वहीं, केनरा बैंक 7.65 फीसदी, पीएनबी 8.60-8.85 फीसदी, बैंक ऑफ बड़ौदा 9.75 फीसदी, आईसीआईसीआई बैंक 11 फीसदी की दर पर गोल्‍ड लोन उपलब्‍ध करा रहा है. बैंक बाजार डॉट कॉम के मुताबिक, एक्सिस बैंक 15 फीसदी, बजाज फिनसर्व 12 फीसदी, आईआईएफएल फाइनेंस 9.24-24 फीसदी, मुथूट फाइनेंस 11.9-25 फीसदी और मणप्पुरम फाइनेंस 12-29 फीसदी की दर पर गोल्‍ड लोन दे रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज