Home /News /business /

सोने की फिजिकल डिमांड बढ़ने से कीमतों में तेजी जारी, जानिए दिवाली तक कहां पहुंचेगा सोना

सोने की फिजिकल डिमांड बढ़ने से कीमतों में तेजी जारी, जानिए दिवाली तक कहां पहुंचेगा सोना

गोल्ड बॉन्ड, गोल्ड ईटीएफ और म्यूचुअल फंड के जरिए सोने में निवेश किया जा सकता है.  (Image-Reuters)

गोल्ड बॉन्ड, गोल्ड ईटीएफ और म्यूचुअल फंड के जरिए सोने में निवेश किया जा सकता है. (Image-Reuters)

सोने में अक्टूबर महीने में रिकवरी देखने को मिली है. क्रूड की बढ़ रही कीमतों, महंगाई, फिजिकल डिमांड, पावर क्राइसिस से सप्लाई कंसर्न और इक्विटी मार्केट के हाई वैल्युएशन से सोने की कीमतों को सपोर्ट मिल रहा है.

    Gold Price: इंटरनेशनल मार्केट को देखते हुए सोमवार 18 अक्टूबर को भारत में भी सोने की कीमतों मे तेजी आई. आज 18 अक्टूबर को Multi-Commodity Exchange (MCX) पर दिसंबर गोल्ड प्राइस 0.11 फीसदी बढ़कर 47,265 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गई है. सोमवार को चांदी के भाव में भी तेजी रही. चांदी 18 अक्टूबर को 0.16 फीसदी उछलकर 63,371 रुपये पर पहुंच गई.

    अमेरिकी बॉन्ड यील्ड और डॉलर में नरमी से अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोमवार को सोने के भाव में तेजी आई. हाजिर सोना 0.2 प्रतिशत बढ़कर 1,770.26 डॉलर प्रति औंस हो गया, जबकि अमेरिकी सोना वायदा 0.1 प्रतिशत बढ़कर 1,770.50 डॉलर हो गया.

    सोने में रिकवरी तेज हुई 
    सोने में अक्टूबर महीने में रिकवरी देखने को मिली है. सितंबर के अंत तक सोना 46 हजार प्रति 10 ग्राम के नीचे चला गया था, जो अभी MCX पर 47900 रुपये प्रति 10 ग्राम के आस पास ट्रेड कर रहा है. क्रूड की बढ़ रही कीमतों, महंगाई, फिजिकल डिमांड, पावर क्राइसिस से सप्लाई कंसर्न और इक्विटी मार्केट के हाई वैल्युएशन से सोने की कीमतों को सपोर्ट मिल रहा है. एक्सपर्ट का कहना है कि मौजूदा समय में ऐसे कई फैक्टर हैं, जो सोने को सपोर्ट दे रहे हैं. ऐसे में दिवाली के पहले अभी सोने में पैसे लगाने का सही समय है. इनमें कुछ गिरावट आए तो शॉर्ट टर्म और लॉन्ग टर्म के लिए एंट्री ली जा सकती है.

    रिकवरी की बड़ी वजह
    इंटरनेशनल लेवल पर क्रूड की कीमतों में तेजी बनी हुई है. ब्रेंट क्रूड लगातार 83 डॉलर प्रति बैरल के आस पास ट्रेड कर रहा है. एजेंसियां मान रही हैं कि आने वाले दिनों में क्रूड 90 डॉलर प्रति बैरल तक जा सकता है. क्रूड की कीमतों के बढ़ने से महंगाई बढ़ रही है, जिससे सोने और चांदी की कीमतों में रिकवरी आई है.

    वहीं ग्लोबल इक्विटी की बात करें तो बाजारों का वैल्युएशन हाई है. आगे इसमें करेक्शन की आशंका जताई जा रही है. अलग अलग देशों के डाटा संकेत दे रहे हैं कि गोल्ड की फिजिकल डिमांड बढ़ी है. चांदी में इंडस्ट्रियल डिमांड बढ़ रही है. वहीं चीन में पावर क्राइसिस के चलते सप्लाई को लेकर भी चिंता बनी है. ये सारे फैक्टर गोल्ड और सिल्वर के लिए पॉजिटिव हैं.

     49500 रुपये का टारगेट 
    IIFL सिक्योरिटीज के VP (रिसर्च) अनुज गुप्ता का कहना है कि टेक्निकली देखें तो शॉर्ट टर्म के लिए सोने को इंटरनेशनल मार्केट में 1720 डॉलर प्रति औंस पर सपोर्ट है तो 1850 डॉलर प्रति औंस रेजिस्टेंस बना है. घरेलू स्तर पर सोने को नीचे की ओर 47300 रुपये प्रति 10 ग्राम के लेवल पर सपोर्ट है, जबकि 49000 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रेजिस्टेंस है. घरेलू मार्केट में निवेशकों को सोने में 47500 रुपये के भाव पर 49000 रुपये से 49500 रुपये का टारगेट बनाकर एंट्री करनी चाहिए. जबकि 46800 रुपये पर स्टॉप लॉस लगाएं.

    वहीं इंटरनेशनल मार्केट में 1750 डॉलर से 1760 डॉलर के भाव पर 1850 डॉलर से 1900 डालर का टारगेट बनाकर एंट्री करनी चाहिए. जबकि 1720 डॉलर पर स्टॉप लॉस लगाएं.

    शॉर्ट टर्म में सोने में अच्छी तेजी दिख रही
    केडिया का कहना है कि सोने की फिजिकल डिमांड बढ़ी है. घरेलू स्तर पर आगे फेस्टिव डिमांड से भी सोने की कीमतों पर असर पड़ेगा. आईएमएफ ने ग्लोबल इकोनॉमी को लेकर दबाव रहने की आशंका जताई है. मौजूदा समय में महंगाई, क्रूड की बढ़ रही कीमतों, डॉलर इंडेक्स, पावर क्राइसिस के चलते सप्लाई कंसर्न सोने के लिए पॉजिटि सेंटीमेंट हैं.

    दुनियाभर के बाजारों का वैल्युएशन भी निवेशकों को डरा रहा है. ऐसे में शॉर्ट टर्म में सोने में अच्छी तेजी दिख रही है. उनका कहना है कि निवेशकों को दिवाली तक की बात करें तो 47500 रुपये से 47000 रुपये के भाव पर खरीदारी करनी चाहिए. जबकि सोने के लिए दिवाली तक पहला टारगेट 49500 रुपये और इससे अगला टारगेट 50000 रुपये प्रति 10 ग्राम का रखें. वहीं चांदी में 61000 रुपये के भाव पर एंट्री करें और 66000 रुपये का टारगेट रखें.

    Tags: Gold, Gold investment, Gold price, Gold price News, Gold Price Today, Gold Rate, Gold Rate Today

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर