सोने पर मिल रहा पिछले 5 महीने का सबसे ज्यादा डिस्काउंट, आपके पास भी मौका

सोने पर मिल रहा पिछले 5 महीने का सबसे ज्यादा डिस्काउंट, आपके पास भी मौका
चीन में भी सोने पर भी भारी डिस्काउंट मिल रहा है.

Gold Discount: मांग कम होने की वजह से गोल्ड डीलर्स सोने पर भारी डिस्काउंट दे रहे हैं. भारत के ​अलावा चीन में भी डिस्काउंट मिल रहा है. भारत और चीन में सोने की खपत दुनियाभर में सबसे ज्यादा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. घरेलू बाजार में मांग कम होने की वजह से गोल्ड डीलर्स (Gold Dealers) को सोने के दाम पर भारी डिस्काउंट देना पड़ रहा है. भारत में सोने पर डिस्काउंट (Discount on Gold) करीब 43 डॉलर प्रति आउंस तक रहा है, जोकि बीते 5 महीने में सोने पर मिलने वाला सबसे ज्यादा डिस्काउंट है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने अपनी एक रिपोर्ट में इस बारे में जानकारी दी है. केवल पिछले सप्ताह में ही गोल्ड डीलर्स ने सोने के दाम पर 20 डॉलर तक की डिस्काउंट दी है. मांग कम होने के अलावा, सोने पर ​भारी डिस्काउंट इसलिए भी दिया जा रहा है ताकि पुराने स्टॉक को खत्म किया जा सके. भारत में सोने पर 12.5 फीसदी आयात शुल्क और 3 फीसदी जीएसीटी देय होता है.

उच्चतम स्तर से 5000 रुपये तक सस्ता सोना
शुक्रवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में स्पॉट गोल्ड के दाम में गिरावट देखने को मिली. शुक्रवार को सोने के दाम में 252 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट रही. वहीं, चांदी के भाव में 652 रुपये प्रति किलोग्राम की तेजी रही है. हालांकि, MCX पर वायदा बाजार में दोनें कीमती धातुओं के भाव में तेजी देखने को मिली. 7 अगस्त को 56,200 रुपये की तुलना में सोने का भाव करीब 5,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक कम है. वैश्विक मार्केट में भी सोने के दाम करेक्शन देखने को मिला. 7 अगस्त को सोने का भाव 2,051 डॉलर प्रति आउंस पर था. लेकिन, इसके बाद से इसमें ​कमी आई है.

यह भी पढ़ें: MCX पर सोने के दाम में बड़ी गिरावट, अब सरकार दे रही 5117 रुपये में गोल्ड खरीदने का मौका
इस साल 28 फीसदी महंगा हुआ सोना


लेकिन इसके बावजूद भी अगर 2020 की बात करें तो पिछले साल की तुलना में इस साल सोने के भाव में कुल 28 फीसदी की तेजी देखने को मिली है. दरअसल, कोरोना वायरस महामारी के बीच दुनियाभर के केंद्रीय बैंकों और सरकारों ने बहुत बड़े स्तर पर वित्तीय प्रोत्साहन (Fiscal Stimulus) का ऐलान किया है. जानकारों का कहना है कि महंगाई और ब्याज दरों को लेकर फेड द्वारा उठाए जा रहे कदम इस बात की ओर इशारा करते हैं कि विश्व भर में एक लंबे समय के लिए तरलता (Liquidity) रहेगी. इस फैसले से कई कैटेगरी के एसेट क्लास में तेजी देखने को मिलेगी. ऐसे सोना समेत अन्य कीमती धातुओं और कोर्स इक्विटीज में तेजी जारी रहेगी. दूसरी तरफ, फिलहाल सोने के लिए सबसे बड़ा जोखिम कोरोना वायरस वैक्सीन की उपलब्धता और स्टॉक मार्केट में करेक्शन है.

चीन में भी भारी डिस्काउंट
अंतरराष्ट्रीय बाजार में स्पॉट गोल्ड की तुलना में देखें तो चीन में भी सोने के दाम में 60 से 70 डॉलर प्रति आउंस तक का डिस्काउंट मिल रहा है. बता दें कि दुनियाभर में सबसे ज्यादा सोने की खपत भारत और चीन में होता है.

यह भी पढ़ें: UPI समेत डिजिटल ट्रांजैक्शन पर नहीं देना होगा कोई चार्ज, अगर कटा है आपका पैसा तो मिलेगा रिफंड

5117 रुपये में खरीदें सोना
भारत की बात करें तो सरकार अब सस्ते में सोना निवेश करने का एक और मौका दे रही है. चालू वित्त वर्ष के लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond) की छठे ट्रांच के लिए सोमवार से स​ब्सक्रिप्शन खुल जाएगा. इस गोल्ड बॉन्ड को भारतीय रिज़र्व बैंक (Reserve bank of India) केंद्र सरकार की तरफ से जारी करेगी. इस बार RBI ने गोल्ड बॉन्ड का नया भाव 5,117 रुपये प्र​ति ग्राम तय किया है. 4 सितंबर को यह सब्सक्रिप्शन बंद हो जाएगा. ऑनलाइन अप्लाई करने और डिजिटल पेमेंट करने पर निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम का लाभ भी मिलेगा. एजेंसी इनपुट के साथ.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज