Gold Price: कोरोनाकाल में सस्ता सोने खरीदने का शानदार मौका, इस तरह करेंगे निवेश तो होगा तगड़ा मुनाफा

Gold में करें निवेश

Gold में करें निवेश

साल 2020 में सोने (Gold price) की कीमतों में काफी तेजी देखने को मिली थी. सोने का भाव 56 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के लेवल को पार कर गया था, लेकिन क्या आपको इस समय सोने में निवेश करना चाहिए...?

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2021, 9:09 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: देशभर में फैली महामारी के बीच साल 2020 में सोने (Gold price) की कीमतों में काफी तेजी देखने को मिली थी. सोने का भाव 56 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के लेवल को पार कर गया था, लेकिन दिसंबर के बाद से लगातार सोने की कीमतों में गिरावट आई है. बता दें दिसंबर से लेकर अब तक सोने के दाम करीब 11 हजार रुपये तक कम हुए थे तो क्या ऐसे में आपको इस समय सोने में निवेश करना चाहिए...क्या यह गोल्ड में निवेश करने का सही समय है. आइए आपको बताते हैं-

आपको बता दें अधिकांश वित्तीय सलाहकार कहते हैं कि निवेशकों को सोने को हमेशा एक पोर्टफोलियो की तरह रखना चाहिए, लेकिन इसको निवेश का जरूरी हिस्सा मानना चाहिए.

यह भी पढ़ें: Ration Card में अगर पड़ा हुआ है गलत या पुराना नंबर तो इस तरह करें चेंज, आसान है तरीका

जानें एक्सपर्ट की राय
BankBazaar.com के CEO, Adhil Shetty के मुताबिक, सबसे अधिक जोखिम वाले निवेशक सुरक्षा और तरलता की तलाश करते हैं. ऐसे में निवेश करने से पहले रिटर्न की ओर देखते हैं. बता दें सोने ने पिछले 10 सालों में CAGR रिटर्न में 9.8 फीसदी वार्षिक कर दिया है, जिससे यह एक सुरक्षित निवेश माना जाता है.

8 से 15 फीसदी करना चाहिए सोने का आवंटन

इसलिए शेट्टी का मानना ​​है कि निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो के 8-15 फीसदी से अधिक सोने का आवंटन नहीं करना चाहिए. इसके साथ ही फिजिकल गोल्ड लिक्विड है और डिजिटल गोल्ड ज्यादा बेहतर विकल्प हो सकता है.



सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में करना चाहिए निवेश

प्रांजल कामरा के मुताबिक, आपको बता दें लॉन्ग टर्म फाइनेंशियल लक्ष्य के लिए किसी व्यक्ति को पर्याप्त इक्विटी एक्सपोजर की जरूरत होती है, लेकिन जैसा कि हम जानते हैं कि इक्विटी निवेश काफी वॉलेटाइल हैं. तो ऐसे में निवेशकों को सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खरीदने पर विचार करना चाहिए. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड सोने में निवेश करने का अच्छा ऑप्शन है.

डिजिटल गोल्ड है सेफ

आपको बता दें डिजिटल गोल्ड में सुरक्षा की बात सबसे अहम है. डिजिटल गोल्ड मुहैया कराने वाले के पास ही इसकी सुरक्षा की गारंटी होती है यानी कि खरीदार को इसकी टेंशन लेने की जरूरत नहीं जितने रुपये में डिजिटल गोल्ड की खरीदारी की थी, उसी रेट पर इसे बेच सकते हैं और इसमें कोई हिडेन चार्ज भी नहीं होता.

यह भी पढ़ें: PNB में है खाता तो हो जाइए खुश, कोरोना काल में बैंक दे रहा खास सुविधा, अब घर बैठे करें ये 7 बैंकिग कामकाज

डिजिटल गोल्ड के फायदों में से एक यह है कि इसमें आपको सोने की फिजिकल डिलीवरी लेने का विकल्प मिलता है. मगर आपको डिलीवरी शुल्क देना पड़ सकता है. इसके अलावा अगर आप अपने डिजिटल सोने के निवेश को फिजिकल सोने में बदल रहे हैं तो इसमें भी कुछ शुल्क शामिल हो सकता है. आप डिजिटल गोल्ड को सोने की चेन या सिक्कों में बदल सकते हैं. यहां आपसे डिजाइन शुल्क लिया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज