Gold Price: क्या अक्षय तृतीया पर बढ़ेगी सोने की मांग, निवेश करने पर होगा फायदा?- जानें एक्सपर्ट की राय

गोल्ड ने एक बार फिर पकड़ी तेजी

Gold Price: कोरोना की दूसरी लहर और शादियों के सीजन के साथ ही गोल्ड ने एक बार तेजी पकड ली है. ऐसे में ज्‍यादातर निवेशक इस उलझन में हैं कि उन्‍हें अपने पास मौजूद गोल्‍ड को बेच देना चाहिए या रोक कर रखना चाहिए. आइए जानते हैं क्या है इस पर एक्सपर्ट की राय.

  • Share this:
    Akshaya Tritiya 2021मनई दिल्‍ली. कोरोना संकट के बीच 2020 में गोल्‍ड ने निवेशकों को सबसे शानदार मुनाफा (Top Performing Asset) दिया. गोल्‍ड के दाम (Gold Prices) 7 अगस्‍त 2020 को एमसीएक्‍स (MCX) पर 55,922 रुपये प्रति 10 ग्राम के उच्‍चस्‍तर पर बंद हुए थे. तब से अब तक सोने के भाव में 9,000 रुपये तक की भारी गिरावट आई है. कोरोना की दूसरी लहर और शादियों के सीजन के साथ ही गोल्ड ने एक बार तेजी पकड ली है. एमसीएक्स पर आज गोल्ड 0.16 फीसदी की तेजी के साथ 47,670 प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया है. वहीं, चांदी 0.26 फीसदी बढ़कर 72,000 रुपये प्रति किलोग्राम के करीब आ गई है.

    ऐसे में ज्‍यादातर निवेशक इस उलझन में हैं कि उन्‍हें अपने पास मौजूद गोल्‍ड को बेच देना चाहिए या रोक कर रखना चाहिए. आइए जानते हैं क्या है इस पर एक्सपर्ट की राय.

    बीते 1 साल में दिया 17% का रिटर्न
    पिछले साल यानी मार्च 2020 में सोना 38,800 रुपए प्रति 10 ग्राम था जो अब 45,000 पर आ गया है. यानी सोने ने बीते 1 साल में करीब 17% का रिटर्न दिया है. वहीं बीते 5 साल की बात करें तो सोने ने 61% का रिटर्न दिया है. मार्च 2016 को सोने के दाम 28000 रुपये प्रति 10 ग्राम के करीब थे.

    ये भी पढ़ें: Gold Price Today: सोना चांदी के भाव में आया जबरदस्त उछाल, 72000 रु किलो हुई चांदी, चेक करें 10 ग्राम गोल्ड का भाव

    क्या सोने में निवेश करना सही?
    सोने की कीमत एक बार फिर बढ़ने लगी है. एक्सपर्ट का मानना है कि कोरोना की दूसरी लहर और शादियों का सीजन शुरू होने के कारण सोने की मांग बढ़ने लगी है. इसके चलते सोना इस साल के आखिर तक एक बार फिर 52 हजार रुपए तक पहुंच सकता है. अनुज गुप्ता के अनुसार अगर कोई निवेशक गोल्ड में निवेश करना चाहता है तो ये सही समय हो सकता है. विशेषज्ञों का मानना है कि अगर सोने की मांग में 20 फीसदी की बढ़ोतरी होती है तो सोने की कीमत में प्रति 10 ग्राम 1000 रुपये का इजाफा हो सकता है.

    बढ़ती मांग के चलते सोने के दाम में हो सकता है इजाफा
    IIFL सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अनुज गुप्ता कहते हैं कि कोरोना के कारण अगस्त 2020 में सोना 56 हजार पर पहुंच गया था और अब एक बार फिर देश में कोरोना की दूसरी लहर आ गई है. इसके अलावा अब शादी को सीजन शुरू हो चुका है इस कारण भी सोने में बढ़त देखने को मिल रही है. इसके अलावा मई में अक्षय तृतीया भी है उससे भी सोने की मांग बढ़ेगी और सोने के दाम बढ़ सकते हैं.

    ऑनलाइन बिक्री में कमी
    भारत में सोने की बिक्री के लिए अक्षय तृतीया और गुड़ी पड़वा को बहुर शुभ दिन माना है. हालांकि, यह दूसरा वर्ष है जब इस दिन स्टोर बंद होने की संभावना है. कई ज्वैलर्स इस बात से काफी निराश हैं क्योंकि पिछले साल भी लॉकडाउन के चलते इस समय सभी स्टोर बंद थे. ANMOL के संस्थापक ईशू दतवानी के अनुसार, इस समय अधिकांश आभूषण विक्रेताओं के औसतन कारोबार में 70 प्रतिशत से अधिक की गिरावट आई थी.

    ये भी पढ़ें: Petrol, Diesel Price Today: लगातार महंगा हो रहा पेट्रोल डीजल, दिल्ली में 91 रुपये के पार, जानें अपने शहर का भाव
    इसलिए अक्षय तृतीया पर खरीदा जाता है सोना
    ज्योतिष के ग्रह नक्षत्रों की मानें तो अक्षय तृतीया को सोना खरीदने से व्यक्ति के जीवन में सुख समृद्धि आती है. इसके अलावा सोने की तुलना सूर्य से की जाती है. अक्षय तृतीया पर सूरज देवता सबसे तेज चमकते हैं. सोना खरीदना शक्ति और ताकत का प्रतीक माना गया है. सोने को हमेशा से बहुमूल्य धातु और धन समृद्धि का प्रतीक समझा गया है. इसलिए अक्षय तृतीया पर सोना खरीदना शुभ माना गया है.