Home /News /business /

Gold Price: सोने के दाम 11,000 तो चांदी 10,000 रुपये से ज्‍यादा लुढ़की, जानें क्‍या मौजूदा भाव पर निवेश से मिलेगा तगड़ा मुनाफा

Gold Price: सोने के दाम 11,000 तो चांदी 10,000 रुपये से ज्‍यादा लुढ़की, जानें क्‍या मौजूदा भाव पर निवेश से मिलेगा तगड़ा मुनाफा

गोल्‍ड के भाव अपने सर्वोच्‍च स्‍तर से 11 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम घट चुके हैं.

गोल्‍ड के भाव अपने सर्वोच्‍च स्‍तर से 11 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम घट चुके हैं.

सोने के दाम (Gold Prices) अगस्‍त 2020 के अपने सर्वोच्‍च स्‍तर से अब तक 11,000 रुपये से ज्‍यादा घट चुके हैं. वहीं, चांदी भी शीर्ष स्‍तर से 10 हजार रुपये प्रति किग्रा (Silver Price) से ज्‍यादा गिर चुकी है. वहीं, ये भी कहा जा रहा है कि गोल्‍ड की कीमतों में 2021 में बढ़ोतरी होना तय है. आइए जानते हैं कि मौजूदा भाव पर गोल्‍ड में पैसा लगाने कितना फायदेमंद साबित होगा.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. गोल्‍ड मुश्किल दौर में सबसे बड़ा मददगार माना जाता है. कोरोना संकट के दौर में सोने ने इस कहावत को सच करके दिखाया. साल 2020 में सोने में पैसा लगाने वालों ने जमकर मुनाफा कमाया. दिल्‍ली सर्राफा बाजार में 7 अगस्‍त 2020 को गोल्‍ड की कीमत (Gold Prices) 57,008 रुपये प्रति 10 ग्राम के सर्वोच्‍च स्‍तर पर बंद हुई. तब से इस कीमती पीली धातु के दामों में शुक्रवार 26 फरवरी 2021 तक 11,409 रुपये की गिरावट दर्ज की जा चुकी है. वहीं, चांदी 7 अगस्‍त 2020 को 77,840 रुपये प्रति किग्रा पर थी, जो बीते शुक्रवार को 10,421 रुपये कम होकर 67,419 रुपये पर पहुंच गई है. अब हालांकि, अब हर दिन गिरती कीमतों के कारण ज्‍यादातर निवेशक इस ऊहापोह में हैं कि उन्‍हें गोल्‍ड में निवेश करना चाहिए या कुछ और इंतजार करना चाहिए. वहीं, कुछ निवेशक अपने पास मौजूद गोल्‍ड को बेचने या रोक कर रखने को लेकर उलझन में हैं. आइए जानते हैं कि निवेशकों के लिए सही कदम क्‍या हो सकता है?

    अमेरिकी बॉन्‍ड्स के यील्‍ड में वृद्धि का गोल्‍ड की कीमतों पर पड़ा असर
    निवेशकों का एक बड़ा तबका ऐसा भी है, जो ये जानना चाहता है कि क्‍या मौजूदा कीमतों पर गोल्‍ड में निवेश करना सुरक्षित रहेगा. क्‍या उन्‍हें इस मौके का फायदा उठाकर तगड़ा मुनाफा मिल सकता है. इस पर इंडिया बुलियन एंड ज्‍वेलर्स एसोसिएशन (IBJA) के राष्‍ट्रीय सचिव सुरेंद्र मेहता ने हाल में कहा था कि सोने के दामों में हुई गिरावट के कई कारण हैं. इनमें सबसे बड़ा कारण डॉलर का दूसरी बड़ी करेंसीज के मुकाबले मजबूत होना है. उनके मुताबिक, अमेरिकी डॉलर और सोना एकदूसरे के उलट व्‍यवहार करते हैं. अगर डॉलर की मांग में इजाफा होगा तो सोने के दाम दबाव में आ जाएंगे. वहीं, अमेरिकी बॉन्‍ड्स यील्‍ड में हुई वृद्धि के कारण भी गोल्‍ड के दामों में गिरावट हुई है.

    यह भी पढ़ें- अब इंश्योरेंस प्रीमियम को रिन्यू कराने पर मिलेगी 100 फीसदी की छूट, जानें कौन सी कंपनी दे रही ये ऑफर

    मौजूदा कीमतों पर गोल्‍ड से तगड़ा मुनाफा कमा सकते हैं निवेशक
    मेहता कहते हैं कि कोरोना वैक्‍सीनेशन शुरू होने और आर्थिक गतिविधियों में तेजी आने के बाद अब लोग तगड़े मुनाफे के लिए ज्‍यादा जोखिम वाले निवेश विकल्‍पों का रुख भी कर रहे हैं. इनमें इक्विटी और क्रिप्‍टोकरेंसी जैसे विकल्‍प शामिल हैं. हालांकि, उन्‍हें लगता है कि गोल्‍ड की कीमतों में गिरावट अस्‍थायी और कम समय के लिए है. लिहाजा, निवेशक मौजूदा कीमतों पर सोने में निवेश कर लंबी अवधि में शानदार मुनाफा कमा सकते हैं. इसके उलट इक्विटी में आई तेजी के लंबी अवधि तक टिके रहने की गुंजाइश कम ही नजर आ रही है. लिहाजा, जल्‍द मुनाफा कमाकर बाहर निकलना बेहतर विकल्‍प बताया जा रहा है. अगर शेयर बाजारों में गिरावट होती है तो निवेशक फिर गोल्‍ड का रुख करेंगे और इसकी कीमतों में तेजी से इजाफा होगा. उनके मुताबिक, सोना 3 से 4 महीने के भीतर 1960 डॉलर प्रति औंस का उच्‍चस्‍तर छू सकता है, जो अब से करीब 150 डॉलर ज्‍यादा होगा.

    यह भी पढ़ें- 1 मार्च से बदल जाएंगे ये जरूरी नियम, जान लें आज ही वरना कल से नहीं कर पाएंगे पैसों का लेनदेन

    विशेषज्ञों का अनुमान, 2021 में नए स्‍तर को छू सकता है सोना
    क्‍वांटम म्‍यूचुअल फंड के सीनियर फंड मैनेजर चिराग मेहता ने कहा है कि गोल्‍ड की कीमतों में कमी की बड़ी वजह अमेरिकी बेंचमार्क बॉन्‍ड यील्‍ड (US Benchmark Bond Yield) में हुई बढ़ोतरी है. बेंचमार्क बॉन्‍ड यील्‍ड ने बाजार को चौंका दिया है. पिछले साल अगस्‍त में जहां ये 0.6 फीसदी के निचले स्‍तर पर था, वहीं अब ये दोगुना से ज्‍यादा 1.37 फीसदी पर पहुंच गया है. इससे सोने के दामों में गिरावट हुई है. हालांकि, उन्‍हें नहीं लगता कि ये स्थिति ज्‍यादा समय तक बनी रहेगी. अगर यील्‍ड में फिर बढ़ोतरी हुई तो केंद्रीय बैंक (Central Bank) हस्‍तक्षेप करेगा. इससे फिर सोने को समर्थन मिलेगा. विशेषज्ञों का मानना है कि गोल्‍ड की कीमतों में 2021 में बढ़ोतरी होना तय है. साथ ही 7-10 फीसदी गोल्‍ड आपके निवेश पोर्टफोलियो में विविधता (Diversified Portfolio) लाता है. विशेषज्ञों का अनुमान है कि एक बार सोने की कीमतों में बढ़ोतरी होनी शुरू होगी तो ये 62,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्‍तर को पार कर जाएगी.

    Tags: Business news in hindi, Gold, Gold business, Gold Price Today, Gold Rate Today, Investment and return, Multi Commodity Exchange

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर