सोने और चांदी की कीमतों में आई इस महीने की सबसे बड़ी गिरावट, एक दिन में हुए 5000 रुपये से तक सस्ते

 दिल्ली में 99.9 फीसदी शुद्धता वाले सोने के दाम 672 रुपये गिरकर 51,328 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया है.
दिल्ली में 99.9 फीसदी शुद्धता वाले सोने के दाम 672 रुपये गिरकर 51,328 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया है.

Gold Silver Price Today 22 Sep 2020: मंगलवार को सोने और चांदी की कीमतों में भारी गिरावट आई है. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दाम गिरने से घरेलू बाजार में भाव 5000 रुपये से ज्यादा टूट गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 4:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अमेरिकी डॉलर में आई मजबूती के चलते अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोने की कीमतों में भारी गिरावट आई है. इसी वजह से घरेलू बाजार में सोने के दाम 672 रुपये प्रति 10 ग्राम गिर गए. वहीं, दिल्ली सर्राफा बाजार में एक किलोग्राम चांदी की कीमत एक ही दिन में 5,781 रुपये तक गिर गई. एक्सपर्ट्स का कहना है कि विदेशी बाजारों में सोने के दाम 3 फीसदी से ज्यादा लुढ़ककर एक महीने के निचले स्तर पर आ गए है. कॉमैक्स पर सोना 1900 डॉलर प्रति औंस के नीचे चल गया. हालांकि, कीमतों में और बड़ी गिरावट की आशंका नज़र नहीं आ रही है.

सोने की नई कीमतें (Gold Price on 22nd September 2020)  - एचडीएफसी सिक्युरिटीज के मुताबिक, दिल्ली में 99.9 फीसदी शुद्धता वाले सोने के दाम 672 रुपये गिरकर 51,328 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गये हैं. इसके पिछले सत्र यानी सोमवार को कारोबार के अंत में सोना 52,000 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था. अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना गिरावट के रुख के साथ 1900 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ.

चांदी की नई कीमतें (Silver Price on 22nd September 2020)- गोल्ड की तरह चांदी की कीमतों में भी भारी गिरावट देखने को मिली है. मंगलवार को एक किलोग्राम चांदी के दाम 5,781 रुपये गिरकर 61,606 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गए है. वहीं, इससे ठीक एक दिन पहले सोमवार को चांदी 67,387 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुई थी.
क्यों आई सोने और चांदी की कीमतों में गिरावट (Why Gold and Silver Price down in India)-  एचडीएफसी सिक्युरिटीज में वरिष्ठ विश्लेषक (कमोडिटी) तपन पटेल ने कहा, 'दिल्ली सर्राफा हाजिर बाजार में 24 कैरेट सोने का भाव 672 रुपये टूटा. यह अंतरराष्ट्रीय बाजार में बिकवाली के रुख को दर्शाता है.'



तपन पटेल का कहना है कि, कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी वेव आने की आशंका के चलते निवेशकों ने डॉलर में अब सेफ इन्वेस्टमेंट खरीदारी शुरू कर दी है. इसीलिए अमेरिकी डॉलर में तेजी का रुख बना हुआ है. ऐसे माहौल मे सोने की कीमतें और गिर सकती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज