नए साल में इस वजह से 1500 रुपए से ज्यादा सस्ता हो सकता है Gold!

नए साल में इस वजह से 1500 रुपए से ज्यादा सस्ता हो सकता है Gold!
पिछले पांच में पहली बार रिटर्न की रेस में सेंसेक्स सोने से पिछड़ गया है. लेकिन नए साल यानी 2020 में फिर से सेंसेक्स और निफ्टी में 15 फीसदी से ज्यादा के रिटर्न की उम्मीद लगाई जा रही है. वहीं, मौजूदा स्तर से सोने की कीमतों में 5 फीसदी से ज्यादा की गिरावट का अनुमान है. आइए जानें साल 2020 में कहां बनेगा पैसा.

पिछले पांच में पहली बार रिटर्न की रेस में सेंसेक्स सोने से पिछड़ गया है. लेकिन नए साल यानी 2020 में फिर से सेंसेक्स और निफ्टी में 15 फीसदी से ज्यादा के रिटर्न की उम्मीद लगाई जा रही है. वहीं, मौजूदा स्तर से सोने की कीमतों में 5 फीसदी से ज्यादा की गिरावट का अनुमान है. आइए जानें साल 2020 में कहां बनेगा पैसा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 20, 2019, 11:41 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वैसे तो भारत में सोना खरीदना हमेशा ही ‘शुभ’ माना जाता है लेकिन बड़े त्योहार जैसे अक्षय तृतीया, धनतेरस-दिवाली के मौके पर, सिक्कों, सोने के बिस्कुट और यहां तक बार (छड़) के रूप में भारतीय सोने की खरीदारी (Gold Outlook 2020) करते आए हैं. हालांकि, अब वक्त बदल गया है. आज के जमाने में लोग सोने में पैसा लगाकर मोटा मुनाफा कमाते है. देश के जाने-माने वित्तीय सलाहकार बताते हैं कि साल 2019 में अगर किसी ने गोल्ड ईटीएफ (Gold ETF) में पैसा लगाया होता तो उसे सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने का मौका मिलता. क्योंकि बीते एक साल में सोने ने 20 फीसदी (Gold Returns in 2019) का रिटर्न दिया है. हालांकि, नए साल यानी 2020 में सोने की कीमतों में जारी तेजी अब थम सकती है. दिसंबर महीने की शुरुआत से ये देखने को भी मिला है. सोना ऊपरी स्तर से 6 फीसदी लुढ़क गया है. एक्सपर्ट्स बताते हैं कि रुपये की मजबूती और अमेरिका-चीन के बीच हुई ट्रेड डील की वजह से सोने आगे भी और सस्ता हो सकता है.

गोल्ड Vs शेयर बाजार- पिछले एक साल में रिटर्न की रेस में सबसे आगे सोना रहा है. लेकिन नए साल यानी 2020 में ये पिछड़ सकता है. साल 2020 में इक्विटी मार्केट यानी शेयर बाजार में पैसा लगाने वाले बड़े रिटर्न हासिल कर सकते हैं. हालांकि, साल 2019 में शेयर बाजार ने निवेशकों को 14 फीसदी का रिटर्न दिया है. इसके अलावा देश में सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली एफडी (फिक्सड डिपॉजिट) पर 5.8 फीसदी का रिटर्न मिला है.





नए साल में सस्ता हो सकता है सोना-अब अगर साल 2020 की बात करें तो सोने के कारोबारी और कमोडिटी एक्सपर्ट्स मार्च तक सोने की कीमतों में गिरावट का अनुमान लगा रहे हैं. उनका कहना है ‘ट्रेड वॉर’ को लेकर अमेरिका और चीन के बीच हुई सहमति सोने की कीमतों पर दबाव बनाएगी.
एक्सपर्ट्स बताते हैं कि 'पहले चरण' की ट्रेड ट्रेड डील की वजह से सोने की कीमतें 5 फीसदी तक गिर सकती हैं. इसका मतलब हुआ कि मौजूदा स्तर से सोना 1800 रुपये प्रति दस ग्राम तक सस्ता हो सकता है. वहीं, डील नहीं होने पर कीमतों में फिर से तेजी आएगी.



केडिया कमोडिटी के एमडी अजय केडिया ने न्यूज18 हिंदी को बताया कि साल 2020 के शुरुआती छह महीने में सोने की कीमतों पर दबाव रह सकता है. क्योंकि ट्रेड डील पर सहमति बन चुकी है. वहीं, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया भी मजबूत हो रहा है. ऐसे में कीमतों पर दबाव बने रहने की उम्मीद है.



एसकोर्ट सिक्योरिटी के रिसर्च हेड आसिफ इकबाल बताते हैं कि अमेरिका की ओर से ब्याज दरों में बड़े बदलाव की संभावना नहीं है. हालांकि, ग्लोबल अर्थव्यवस्थाओं में अब रिकवरी आ रही है. ऐसे में दुनियाभर के निवेशकों का रुझान सोने से हटकर फिर शेयर बाजार की ओर जा सकता है.

ये भी पढ़ें-30 हजार किसानों को ऑनलाइन मिलेंगी खास सुविधाएं, इस कंपनी ने बनाया प्लान
इससे सोने में सेफ इन्वेस्टमेंट के तौर पर हो रही खरीदारी रुक जाएगी. IBJA के राष्ट्रीय अध्यक्ष पृथ्वीराज कोठारी ने बताया कि डॉलर के मुकाबले रुपया 72 के मुकाबले मजबूत होकर 70.80 पर आ गया है. यह भी गोल्ड को प्रभावित करने वाला अहम फैक्टर है.



ये भी पढ़ें-बड़ी खबर! वित्त मंत्रालय ने किया सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम के नियमों में बदलाव
शेयर बाजार में इस बार पैसा बनाने का बड़ा मौका- दुनियाभर की अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती के चलते साल 2019 के पहले छह महीने शेयर बाजार पर भारी पड़े. लेकिन अब आर्थिक सुस्ती का दौर खत्म होने की ओर है. इसीलिए बीते एक महीने में अमेरिका और एशिया के शेयर बाजार फिर से नए शिखर पर पहुंच गए है. एक्सपर्ट्स बताते हैं कि भारतीय शेयर बाजार की नजरें अब आम बजट के फैसलों पर टिकी हैं. इसके अलावा ट्रेड वॉर डील अगर आगे बढ़ती है तो निवेशकों के लिए इस साल शेयर बाजार में पैसा बनाने का सबसे बड़ा मौका होगा.


कैपिटल सिंडिकेट के मैनेजिंग पार्टनर सुब्रमण्यम पशुपति ने न्यूज18हिंदी को बताया कि बाजार अब एक फरवरी को पेश होने वाले बजट को फोकस कर रहा है. अगर इनकम टैक्स में कटौती होती है तो देश की कंज्म्पशन स्टोरी को फिर से बढ़ावा मिलेगा. ऐसे में फिर से शेयर बाजार में तेजी की उम्मीद है.



वीएम पोर्टफोलियो के रिसर्च हेड विवेक मित्तल का कहना है कि बजट में इस बार लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस टैक्स हटाया जा सकता है. अगर ऐसा होता है तो शेयर बाजार में बड़ी तेजी आएगी. साथ ही, कॉर्पोरेट टैक्स मे कटौती का फायदा अब कंपनियों को मिलने लगेगा. ऐसे में कंपनियों के तिमाही नतीजे बेहतर रहने की उम्मीद है.

विवेक का कहना है कि ऑटो सेक्टर्स में भी अगले साल सुधार आने की उम्मीद है. क्योंकि BS-6 अब लागू हो जाएगा. लिहाजा कार खरीदने वालों की सबसे बड़ी टेंशन BS-4 खरीदें या फिर BS-6 खरीदें अब दूर हो जाएगी.

इन शेयरों में कर सकते हैं खरीदारी- विवेक मित्तल ने मौजूदा स्तर पर जेएसल में खरीदारी की सलाह दी है. उन्होंने शेयर पर 55 रुपये का लक्ष्य तय किया है. इसके अलावा जेके टायर पर 90 रुपये, OBC पर 70 रुपये और टाटा मोटर्स डीवीआर पर 110 रुपये का लक्ष्य तय किया है.

ये भी पढ़ें: अब नहीं पड़ेगी बैंक ब्रांच जाने की जरूरत, SBI ATM के जरिए देता है ये 14 सर्विस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज