• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Gold Prices: 8 हफ्ते के उच्चतम स्तर पर पहुंचने के बाद फिर लुढ़का सोना, जानिए क्यों कम हुआ गोल्ड का दाम

Gold Prices: 8 हफ्ते के उच्चतम स्तर पर पहुंचने के बाद फिर लुढ़का सोना, जानिए क्यों कम हुआ गोल्ड का दाम

इंटेलिजेंस यूनिट ने सोने की बड़ी खेप जब्त की है. (सांकेतिक तस्वीर)

इंटेलिजेंस यूनिट ने सोने की बड़ी खेप जब्त की है. (सांकेतिक तस्वीर)

Gold Rate Today: डॉलर में कमजोरी थमने की वजह से मंगलवार को सोने का भाव कम हुआ है. इस बीच बाजार की नजर जॉर्जिया चुनाव और फेड के फैसले पर भी है. सोमवार को बुलियन बाजार में 2.5 फीसदी तक की तेजी देखने को मिली थी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. सोने का भाव (Latest Gold Price) 8 सप्ताह के उच्चतम स्तर पर पहुंचने के बाद मंगलवार को लुढ़का है. दरअसल, अमेरिका में जॉर्जिया चुनाव (Georgia Election) के बाद ही दुनिया की इस सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में अगले प्रोत्साहन पैकेज (US Stimulus Package) का रास्ता साफ हो सकेगा. यही कारण है कि मंगलवार को डॉलर में गिरावट का दौर थमा है. मंगलवार को यहां के बाजार में सोना 0.2 फीसदी लुढ़ककर 1,938.11 डॉलर प्रति औंस (Gold Prices) पर कारोबार करता नजर आया. इसके पहले 9 नवंबर को 1,945.26 डॉलर प्रति औंस पर पहुंचने के बाद उच्चतम स्तर पर पहुंचा था. अमेरिकी वायदा बाजार में भी सोना आज 0.3 फीसदी की गिरावट के साथ 1,941.40 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेड कर रहा है.

    क्यों लुढ़का सोने का भाव
    जानकारों का कहना है कि दो साल के निचले स्तर पर पहुंचने के बाद एक दिन में ही डॉलर में मजबूती आई है. यही कारण है कि सोने के भाव (Gold Prices) पर दबाव बढ़ा है. सोमवार की तेजी की सबसे बड़ी वजह सीनेट चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की जीत रही. कुछ हद तक मुनाफावसूली भी देखने को मिल रही है.

    यह भी पढ़ेंः EPFO ने खातों में क्रेडिट किया ब्याज, क्या आपके अकाउंट में आया पैसा, इस तरह चेक करें बैलेंस

    सोमवार को डॉलर में अप्रैल 2018 के बाद सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया था. इसके बाद बुलियन बाजार (Bullion Market) में 2.5 फीसदी तक की तेजी देखने को मिली. लेकिन, इसके बाद से अमेरिकी करेंसी में मजबूती देखने को मिल रही है.

    जॉर्जिया चुनाव के नतीजे आने के बाद ही तय हो सकेगा कि अमेरिकी सीनेट पर किस पार्टी का कंट्रोल रहेगा. डेमोक्रेट की जीत का मतलब होगा कि प्रेसिडेंट-इलेक्ट जो बाइडन (Joe Biden) अपनी नीतियों को आसानी से अमलीजामा पहना सकेंगे. इसी बीच कोविड-19 संक्रमण बढ़ने की वजह इंग्लैंड में एक बार फिर सख्त लॉकडाउन लगा दिया गया है. न्यूयॉर्क में भी कोरोना वायरस के नए यूके स्ट्रेन का पहला मामला सामने आ चुका है.

    यह भी पढ़ेंः Budget 2021-22: वित्त सचिव ने दिए संकेत, बजट में इन सेक्टर्स को मिल सकती है बड़ी राहत

    फेड के फैसले पर नजर
    बाजार को अब यूएस फेडरल रिज़र्व की अंतिम बैठक के मिनट्स जारी होने का इंतजार है. कल यानी बुधवार को यह जारी होगा. इकोनॉमी में रिबाउंड के साथ यह उम्मीद की जा रही है कि पॉलिसी उदारवादी ही होगी. हालांकि, यह उम्मीद है कि अमेरिका में बढ़ते संक्रमण के बीच फेड रिज़र्व एक और मौद्रिक सपोर्ट का संकेत दे सकता है. वहीं, ब्याज दरों में गिरावट का दौर थोड़ा और बढ़ सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज