खुशखबरी! 4 दिन के बाद चांदी की कीमतों में आई गिरावट, जानिए 10 ग्राम सोने के नए भाव

खुशखबरी! 4 दिन के बाद चांदी की कीमतों में आई गिरावट, जानिए 10 ग्राम सोने के नए भाव
सोने और चांदी की नई कीमतें जारी

Gold Rate Today-एक्सपर्ट्स का कहना हैं कि निवेशकों का रुझान शेयर बाजार की ओर बढ़ गया है. इसीलिए अगले कुछ दिनों में सोने में तेज मुनाफावसूली होने की संभावना है. ऐसे में सोने की कीमतें गिर सकती है.

  • Share this:
नई दिल्ली. चांदी (Gold Silver Price Today) की कीमतों में जारी तेजी का सिलसिला अब थम गया है. घरेलू बाजार में एक किलोग्राम चांदी (Silver Price Today) के दाम 110 रुपये तक लुढ़क गए है. वहीं, सोने की कीमतों में तेजी आई है. बुधवार को 10 ग्राम सोने के भाव 245 रुपये तक बढ़ गए. इससे पहले मंगलवार को दिल्ली में 10 ग्राम सोने के दाम 46,833 रुपये से बढ़कर 47,235 रुपये हो गए. इस दौरान कीमतों में 402 रुपये की तेजी आई है. वहीं, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सोने की कीमतें बढ़कर 1705 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई.

सोने की नई कीमतें (Gold Price on 10 June 2020)- बुधवार को दिल्ली में 10 ग्राम सोने की कीमतें 47,419‬ रुपये से बढ़कर 47,664 रुपये हो गई है. इस दौरान कीमतों में 245 रुपये प्रति दस ग्राम की तेजी दर्ज की गई है.

ये भी पढ़ें-कोरोना संकट में ये हैं दुनिया के 10 सबसे ज्यादा सुरक्षित देश, भारत का नंबर?



चांदी की कीमतें (Silver Price on 10 June 2020)- सोने के उलट बधुवार को चांदी की कीमतें गिर गई है.  दिल्ली में एक किलोग्राम चांदी के दाम 49,450 रुपये से गिरकर 49,340 रुपये पर आ गए. इस दौरान कीमतों में 110 रुपये की गिरावट दर्ज की गई है. इससे पहले मंगलवार को  1 किलोग्राम चांदी के दाम 48,451 रुपये से बढ़कर 49,344 रुपये हो गए. इस दौरान चांदी के दाम 893 रुपये तक बढ़ गए. वहीं, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चांदी की कीमतें 17.63 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई.
अगले कुछ दिनों में और सस्ता हो सकता है सोना- केडिया कमोडिटी के एमडी अजय केडिया ने न्यूज18 हिंदी को बताया कि अब निवेशकों का रुझान शेयर बाजार की ओर बढ़ गया है. क्योंकि सोने में अब सेफ इन्वेस्टमेंट की डिमांड कम हुई है. इसीलिए अगले कुछ दिनों में सोने में तेज मुनाफावसूली होने की संभावना है. पिछले दो साल में सोना 50% से अधिक रिटर्न दिया है. ऐसे में अब मुनाफावसूली हावी है. लोग पुराने सोने भी बेच रहे हैं क्योंकि पुराने सोने को बेचने के लिए उच्च कीमतें आकर्षक हैं.

सोने के गहने खरीदते वक्त रखें इन बातों का खास ख्याल

(1) हर ज्वेलरी पर मेकिंग चार्ज अलग-अलग होता है. इसकी सबसे खास वजह है कि हर गहनों की बनावट और कटिंग और फिनिशिंग अलग-अलग होती है. अगर यह मानव निर्मित या मशीन निर्मित . मशीन निर्मित ज्वेलरी मानव निर्मित ज्वेलरी से सस्ती पड़ती है.

(2) मेकिंग चार्ज दो तरह से तय होते हैं या तो सोने की कीमत पर प्रतिशत या प्रति ग्राम सोने पर फ्लैट मेकिंग चार्ज. कई ज्वेलर्स ग्राहकों के मोलभाव करने पर मेकिंग चार्ज कम कर देते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि इसका कोई खास मानक अभी तक इंडस्ट्री में तय नहीं किया गया है.

ये भी पढ़ें-कोरोना संकट में ये हैं दुनिया के 10 सबसे ज्यादा सुरक्षित देश, भारत का नंबर?

(3) सोने की शुद्धता मापने का सबसे अहम पैमाना कैरेट होता है. कैरेट जितना ज्यादा होगा सोना उतना ही खरा होगा. ज्यादा कैरेट मतलब ज्यादा दाम. इसी तरह से कैरेट जितना कम होगा, सोना उतना ही सस्ता होगा. कई बार ज्वेलर्स सोने के गहने खरीदते वक्त ग्राहकों से 24 कैरेट के भाव वसूलते हैं.

(4) ध्यान रखें कि सोने की कोई भी ज्वेलरी 24 कैरेट में नहीं बन सकती है क्योंकि 24 कैरेट सोना काफी ठोस धातु के रूप में होता है इसलिए बिना पिघलाएं इससे गहने बनाना बहुत ही मुश्किल है.

(5) आमतौर पर गोल्ड ज्वेलरी 22 कैरेट की बनती है. इस गुणवत्ता वाले सोना की ज्वेलरी में 91.66 फीसदी सोना होता है. कई बार सोने की ज्वेलरी को मजबूत बनाने के लिए इसमें जिंक, कॉपर, और चांदी को मिलाया जाता है.

ये भी पढ़ें-दुनिया की सबसे लग्जरी एयरलाइंस कंपनी ने की एक ही दिन में 600 पायलटों की छंटनी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading