अपना शहर चुनें

States

4 साल बाद किसी एक महीने में सबसे ज्यादा सस्ता हुआ सोना, जानें कब तक कम रहेगा भाव

कोविड-19 वैक्सीन की खबरों के बाद सोने में गिरावट आई है.
कोविड-19 वैक्सीन की खबरों के बाद सोने में गिरावट आई है.

Gold Rate Update : नवंबर 2020 में सोने के भाव में रिकॉर्ड गिरावट देखने को मिल रही है. इस महीने में अभी तक इसमें 5.7 फीसदी तक की गिरावट आ चुकी है. दिसंबर में भी सोने के भाव में तेजी के आसार नहीं दिख रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2020, 2:48 PM IST
  • Share this:
नई​ दिल्ली. सप्ताह के पहले कारोबारी सत्र में गिरावट के साथ ही अब सोना बीते 4 साल के दौरान किसी एक महीने में सबसे बड़ी गिरावट की ओर बढ़ रहा है. कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर उम्मीद बढ़ी है, जिसकी वजह से आर्थिक रिकवरी की रफ्तार भी बढ़ी है. यही कारण है कि निवेशक अब पारंपरिक रूप से जोखिम वाले एसेट्स में निवेश करने की ओर बढ़ रहे हैं. सोमवार को दोपहर तक सोने का भाव करीब 1 फीसदी लुढ़ककर 1,771.22 डॉलर प्रति औंस पर आ गया. नवंबर महीने में अब तक 5.7 फीसदी की गिरावट आई है. 2016 के बाद किसी भी महीने में यह सबसे बड़ी गिरावट हो सकती है. अमेरिका में वायदा सोने का भाव भी 0.7 फीसदी लुढ़ककर 1,775 डॉलर पर आ गया है.

क्यों आ रही सोने के भाव में गिरावट?
जानकारों का कहना है कि बीते कुछ समय में वैक्सीन को लेकर सामने आईं खबरों का असर साकारात्मक रहा है. यही कारण है कि सोने जैसे सुरक्षित निवेश की तरफ रुचि कम हुई है. इसके अलावा पीली धातु का भाव 1,800 डॉलर से नीचे होने के बाद इसमें और भी बिकवाली देखने को मिली.

यह भी पढ़ें: DBS Bank में लक्ष्मी विलास बैंक के विलय के बाद ग्राहकों को कितना ब्याज मिलेगा? यहां जानिए
निकट भविष्य में तेजी के आसार नहीं


वैक्सीन की खबरों के बाद डॉलर बीते ढाई साल के निचले स्तर पर फिसल चुका है. शेयर बाजारा में भी रिकॉर्ड तेजी देखने को मिली है. एक्सपर्ट्स बता रहे हैं कि निकट भविष्य में सोने में तेजी के आसार नहीं दिखाई दे रहे हैं. अभी भी इसमें कमजोरी देखने को मिलेगी. उनका कहना है कि बीते कुछ समय में सोने की रिकॉर्ड बिक्री देखने को मिली है. यही कारण है कि अब मौजूदा कमजोरी कुछ समय के लिए बनी रहेगी.

दूसरी तरफ जोखिम लेने की प्रवृ​त्ति एक बार फिर बढ़ते हुए दिखाई दे रही है. हालिया आंकड़ों से पता चलता है कि चीन का फैक्ट्री आउटपुट नवंबर महीने में बीते 3 साल में सबसे तेज रहा है. निवेशकों की नजर अब अमेरिकी फेडरल रिज़र्व चेयरमैन जेरोम पॉवेल की अमेरिकी सिनेट में टेस्टिमनी पर है.

यह भी पढ़ें: गांवों में ATM से कैश विड्रॉल का चलन बढ़ा, जनधन योजना और डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर का असर

कब आएगी सोने में तेजी?
इस बीच सिटी बैंक ग्रुप का कहना है कि दिसंबर महीने में ​भी बुलियन मार्केट में बिकवाली देखने को मिलेगी. यह 1700 डॉलर के आसपास ही कारोबारी करते नजर आएगा. हालांकि, सिटी बैंक ग्रुप को इस बात की भी उम्मीद है कि अगले तीन से 6 महीने में यह 2000 डॉलर प्रति औंस के करीब पहुंच सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज