इस साल अब तक 35 फीसदी महंगा हुआ सोना, जानिए क्या है नया रिकॉर्ड स्तर

इस साल अब तक 35 फीसदी महंगा हुआ सोना, जानिए क्या है नया रिकॉर्ड स्तर
पिछले सप्ताह गोल्ड का भाव नये रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया.

भारत में इस साल सोने का भाव (Gold Price) अब तक 35 फीसदी तक बढ़ चुका है. पिछले एक सप्ताह में गोल्ड की कीमतों में 2500 रुपये प्रति 10 ग्राम की तेजी आई है, जिसके बाद अब यह रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच चुका है. आगे भी इसमें तेजी का अनुमान है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 2, 2020, 6:08 PM IST
  • Share this:
मुंबई. बीते सप्ताह में सोने का भाव एक बार फिर नये रिकॉर्ड स्तर (Gold at Record Lever) पर पहुंच गया है. मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर अक्टूबर गोल्ड फ्यूचर का भाव 1.12 फीसदी बढ़कर 53,425 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया है. शुक्रवार को कारोबारी सत्र के दौरान, सोने का भाव 53,700 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर तक पहुंचा था. पिछले एक सप्ताह में सोने के भाव में 4.6 फीसदी यानी 2,500 रुपये प्रति 10 ग्राम का इजाफा हुआ है. सोना ही नहीं बल्कि ​चांदी वायदा बाजार में भी तेजी देखने को मिली. बीते सप्ताह चांदी के भाव 3.6 फीसदी यानी 2,300 रुपये प्रति किलोग्राम (Silver Price) बढ़ी. इसके साथ ही अब एक किलो ग्राम चांदी का भाव बढ़कर 64,970 रुपये हो गया है.

इस साल 35 फीसदी महंगा हुआ सोना
भारत में इस साल सोने के भाव में अब तक 35 फीसदी तक का इजाफा हुआ है. वैश्विक बाजार में भी कीमती धातुाओं में तेजी देखने को मिल रही है. जानकारों का कहना है कि कोविड-19 की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था में भारी गिरावट देखने को मिली है. कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे मामलों ने स्थिति और कठिन कर दी है. यही कारण है कि सोने-चांदी के भाव (Gold-Silver Rates) में तेजी दर्ज की जा रही है.

अमेरिकी अर्थव्यवस्था की हालत खराब
आंकड़ों से पता चलता है कि ग्रेट डिप्रेशन (Great Depression) के बाद से पहली बार अमेरिकी ​अर्थव्यवस्था (USA Economy) में भारी गिरावट दर्ज की गई है. मौजूदा महामारी की वजह से दूसरी तिमाही में अमेरिकी की जीडीपी ग्रोथ 32.9 फीसदी लुढ़क चुकी है. वहीं, दूसरी तरफ निवेशक अब राजनीतिक अनिश्चितता के लिए भी खुद को तौयार कर रहे हैं.



यह भी पढ़ें: इन 10 बैंकों में एफडी पर सबसे ज्यादा रिटर्न मिलता है, टैक्स की भी होगी बचत

ईटीएफ में रिकॉर्ड निवेश
इसके अलावा डॉलर में कमजोरी और ब्याज दरों में कमी देखने को मिल रही है. यही कारण है कि पिछले सप्ताह वैश्विक बाजार में भी गोल्ड के भाव मजबूती के साथ बंद हुए हैं. यहां दोनों कीमती धातुओं में 30 फीसदी तक की तेजी दर्ज की जा चुकी है. वैश्विक बाजार में सिल्वर और गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच चुके हैं.

पिछले सप्ताह ही अमेरिकी फेडरल रिजर्व (Federal Reserve) ने अर्थव्यवस्था को बूस्ट करने के लिए हर संभव प्रयास करने को कहा है. इसके बाद शुक्रवार को स्पॉट गोल्ड का भाव 1,983.36 डॉलर प्रति आउंस पर पहुंच गया.

क्या है एनलिस्ट्स का अनुमान
आने वाले दिनों में सरकारों की तरफ से दूसरे राहत पैकेज के ऐलान की उम्मीद की जा रही है. इसके बाद अब एनलिस्ट एक बार फिर अनुमान लगा रहे हैं कि गोल्ड की कीमतों में तेजी आएगी. गोल्डमैन सैक्स (Goldman Sachs) ने अनुमान लगाया है कि गोल्ड का भाव 2,300 डॉलर प्रति 10 ग्राम तक पहुंच सकता है. जबकि, बैंक ऑफ अमेरिका का कहना है यह कीमतें 3,000 डॉलर प्रति 10 ग्राम तक पहुंच सकती हैं. हालांकि, जेपी मॉर्गन चेज एंड कंपनी ने अपने रिपोर्ट में कहा है कि इस साल के अंत में पीली धातु की चमक कम होगी.

यह भी पढ़ें: यहां लगाएंगे बचत का पैसा तो जल्दी होगा डबल! जानिए क्या है इसका गणित

कल से खुल रहा गोल्ड बॉन्ड का सब्सक्रिप्शन
भारत की बात करें तो सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (SGB) के पांचवें ट्रांच को सब्सक्रिप्शन के लिए कल से खोल दिया जाएगा. इसके लिए इश्यू प्राइस 5,334 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को केंद्र सरकार की तरफ से आरबीआई जारी करता है. गोल्ड बॉन्ड एक तरह की सरकारी सिक्योरिटीज होती है, जिसे प्रति ग्राम गोल्ड के हिसाब से सब्सक्राइब किया जाता है. इसे फिजिकल रूप में सोना रखने का एक विकल्प माना जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading