लाइव टीवी

आपने भी खरीदा है सोना तो जरूर जान लें ये बात, होगा बड़ा फायदा

News18Hindi
Updated: November 27, 2019, 5:50 PM IST
आपने भी खरीदा है सोना तो जरूर जान लें ये बात, होगा बड़ा फायदा
इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करते समय सोने की जानकारी देनी चाहिए.

सोना (Gold) खरीदने के बाद उसका बिल रखने के कई फायदे होते है. इससे सोने के सही वजन, उसके सोर्स से लेकर इनकम टैक्स रिटर्न (Income Tax Return) दाखिल करने में आसानी होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2019, 5:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आमतौर पर सोने की खरीदारी (Latest Gold Rate) बड़ी वैल्यू में की जाती है, ऐसे में हर किसी के लिए जरूरी है कि उनके पास इसका बिल हो. इस बिल (Gold Receipt) की मदद से आप बाद में सोने के वजन और खरीदते समय सोने की कीमत के बारे में पता कर सकते हैं. हालांकि, इसके अलावा भी सोना खरीदारी के बिल से आपको एक और फायदा हो सकता है. इनकम टैक्स रिटर्न (Income Tax Return) में इस बिल की मदद से आप सोने के सोर्स के बारे में जानकारी दे सकते है. अगर कभी आपके द्वारा दाखिल किए गए इनकम टैक्स रिटर्न की जांच होती है तभी भी आपको इससे फायदा मिल सकता है.

इसलिए भी जरूरी है सोने का बिल
इस मामले से जुड़े एक जानकार ने कहा, 'अगर आपके पास सोने की खरीदारी का बिल है तो आपको उसके सोर्स के बारे में कोई चिंता करने की जरूरत नहीं होगी. रेग्युलर टैक्स फाइल​ करने वाले टैक्सपेयर्स (Taxpayers) के लिए यह अच्छी बात है कि वो अपने पास सोने का बिल रखते हैं.'

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! लगातार 5वें दिन सस्ता हुआ सोना, जानें 10 ग्राम की नई कीमतें

>> अगर आप किसी भी सोर्स से 50 लाख रुपये व उससे अधिक की कमाई रखते हैं तो इसके लिए आपको अपने गोल्ड होल्डिंग के बारे में जानकारी देनी होगी. इसमें ज्वेलरी से लेकर हर प्रकार के सोने के बारे में जानकारी होनी चाहिए.

>> टैक्स रिटर्न फाइलिंग के समय इसे आपको दर्शाना होगा. अगर आपको किसी ने सोना गिफ्ट किया है तो आप वास्तविक खरीदार का बिल दर्शा सकते हैं.


Loading...

>> अगर किसी व्यक्ति ने विदेशों में सोना रखा है तो इनकम टैक्स ​रिटर्न दाखिल करते समय विदेशी संपत्ति के तौर पर इसे भी दर्शाना होगा.

>> साल 2016 में सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज के एक सर्कुलर के मुताबिक, गहनों के रूप में आप अपनी मर्जी के हिसाब से सोना रख सकते हैं. लेकिन, आपको इस बारे में जानकारी देनी होगी कि आखिर किस सोर्स से होने वाली कमाई से आपने सोने का ये गहना खरीदा है.

ये भी पढ़ें: ये बैंक दे रहा ‘SMART EMI’ पर कार लोन, इंश्योरेंस और मेंटेनेंस का खर्च हो जाएगा फ्री

>> किसी भी घर में शादीशुदा महिला के नाम पर 500 ग्राम तक का सोने का गहना, ​अविवाहिता के नाम पर 250 ग्राम और पुरुष सदस्यों के नाम पर अधिकतम 100 ग्राम तक का सोना व उससे बने हुए गहनों को सीज़ नहीं किया जा सकता है.

>> आपको इस बात का खयाल रखना होगा कि ऊपर दी गई जानकारी घर के सदस्यों द्वारा रखी गई ज्वेलरी तक ही सीमित होगी. अगर ज्वेलरी किसी अन्य व्यक्ति की पायी जाती है तो उसे जब्त किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: प्याज सस्ती करने के लिए सरकार ने उठाया एक और कदम, राज्यों को दिया ये आदेश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 5:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...