लाइव टीवी

खुशखबरी! सोने की कीमतों में फिर आई बड़ी गिरावट, यहां चेक करें 10 ग्राम के नए रेट्स

पीटीआई
Updated: November 18, 2019, 4:21 PM IST
खुशखबरी! सोने की कीमतों में फिर आई बड़ी गिरावट, यहां चेक करें 10 ग्राम के नए रेट्स
अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कमजोर रुख से सोमवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में 10 ग्राम सोना (Gold) 85 रुपये टूट गया. साथ ही एक किलोग्राम चांदी 290 रुपये तक सस्ती हो गई है.

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कमजोर रुख से सोमवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में 10 ग्राम सोना (Gold) 85 रुपये टूट गया. साथ ही एक किलोग्राम चांदी 290 रुपये तक सस्ती हो गई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोने-चांदी की कीमतों (Gold-Silver Prices) में बड़ी गिरावट आई. अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कमजोर रुख से सोमवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में 10 ग्राम सोना (Gold) 85 रुपये टूट गया. साथ ही, चांदी (Silver Price Today) के दामों में भी बड़ी गिरावट दर्ज हुई है. सोमवार को एक किलोग्राम चांदी 290 रुपये तक सस्ती हो गई है.

सोने का नया भाव- सोमवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में 10 ग्राम सोने का भाव 38,860 रुपये से गिरकर 38,775 रुपये पर आ गया. शनिवार को सोना 38,860 रुपये प्रति दस ग्राम पर बंद हुआ था. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोना गिरावट के साथ 1,470 डॉलर प्रति औंस और चांदी भी कमजोरी के रुख से 16.88 डॉलर प्रति औंस पर थी.

चांदी की नई कीमत- इसी तरह चांदी के भाव भी 290 रुपये टूटकर 45,250 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गए. शनिवार को चांदी 45,540 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुई थी. ये भी पढ़ें: 50 हजार रुपये लगाकर शुरू करें ये बिजनेस, मोदी सरकार दे रही कमाई करने का मौका



सोने-चांदी में गिरावट की ये है वजह- HDFC सिक्योरिटीज के सीनियर एनालिस्ट (कमोडिटीज) तपन पटेल ने कहा कि दिल्ली में 24 कैरट सोने का हाजिर दाम 85 रुपये नीचे आ गया. हाजिर मांग में कमी और वैश्विक स्तर पर कमजोर रुख से यहां सोने में गिरावट आई. रुपये में गिरावट से भी सोने की धारणा प्रभावित हुई. दिन में कारोबार के दौरान रुपया 7 पैसे नीचे आ गया. उन्होंने कहा, अमेरिका और चीन ट्रेड डील पर सकारात्मक टिप्पणी की वजह से निवेशकों का सेंटीमेंट बढ़ा है.

सोने के गहनों के दाम ऐसे तय करते हैं ज्वेलर्स
>> आपको ज्वेलर की ओर से लगाए गए दामों पर आंख मूंदकर भरोसा नहीं करना चाहिए. कारण है कि ऐसी कई बातें हैं जिनसे अंतिम राशि पर असर पड़ता है. इनमें सोने की कीमत, मेकिंग चार्ज, रत्नों का मूल्य आदि शामिल हैं. अभी देश में कीमतें तय करने के एक मानक नहीं हैं. इसलिए सोने के गहनों की कीमतों में अंतर दिखता है.>> देश में बिल (इनवॉइस) बनाने का कोई स्टैंडर्ड तरीका नहीं है. हर एक ज्वेलर के यहां बिलिंग सिस्टम अलग है. प्रत्येक शहर में जूलरी एसोसिएशन है. ये एसोसिएशन हर सुबह सोने की कीमतों का एलान करते हैं. इसके चलते हर एक शहर में सोने की दर अलग-अलग होती है.
>> यह है गहनों की कीमत तय करने का फॉर्मूला
ज्वेलरी का अंतिम दाम = सोने की कीमत (22 कैरट या 18 कैरट) X ग्राम में भार + बनाने के यानी मेकिंग चार्ज + (ज्वेलरी की कीमत +मेकिंग चार्ज) पर 3% जीएसटी

ये भी पढ़ें: 
घर खरीदारों के लिए खुशखबरी! ये कंपनी नहीं लेगी होम लोन लेने पर कोई फीस
ये है पैसों को दोगुना-तिगुना करने का फॉर्मूला, जानकर आप भी बन सकते हैं अमीर!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 3:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर