Gold-Silver Rate: 6000 रुपये तक सस्ता हो चुका है सोना, जानिए आगे कितनी आ सकती है गिरावट

अगस्त में सोना 56,200 रुपये प्रति 10 ग्राम के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया था.
अगस्त में सोना 56,200 रुपये प्रति 10 ग्राम के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया था.

डॉलर व कोविड-19 वैक्सीन की खबरों के बीच सोना-चांदी सस्ता हुआ है. गोल्ड ईटीएफ (Gold ETF) में भी निवेशक कुछ खास रुचि नहीं दिखा रहे हैं. अगस्त के बाद से अब तक सोनो करीब 6,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक सस्ता हो सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 22, 2020, 11:53 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. घरेलू बाजार में सोने-चांदी के भाव (Gold-Silver Rate) में एक बार फिर गिरावट देखने को मिल रही है. गुरुवार को मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर गोल्ड वायदा का भाव 0.3 फीसदी लुढ़ककर 50,180 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया है. लगातार चौथे दिन इसमें गिरावट दर्ज की जा रही है. जबकि चांदी भी 0.8 फीसदी की गिरावट के साथ 62,043 रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर पर आ गया है. सोना आज करीब 450 रुपये सस्ता हुआ, जबकि चांदी 718 रुपये सस्ती हुई. अगस्त महीने में सोने का भाव 56,200 रुपये के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया था. इसमें अब 6000 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट आ चुकी है.

वैश्विक बाजार में भी गिरावट
आज वैश्विक बाजारों में भी सोने के भाव में गिरावट देखने को मिली. डॉलर ने सोने पर दबाव डाला है. साथ ही, कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) को लेकर उम्मीद भी पीली धातु पर भारी पड़ती दिखाई दे रही है. वैश्विक बाजार में सोना 0.1 फीसदी सस्ता होकर 1,869.86 डॉलर प्रति औंस पर रहा है. यहां चांदी 0.3 फीसदी की गिरावट के साथ 24.24 डॉलर प्रति औंस पर है.

यह भी पढ़ें: CSR फंड से हो कर्मचारियों का टीकाकरण तो सरकार पर कम होगा बोझ: किरण मजूमदार शॉ
एनलिस्ट्स का कहना है कि 1,850 डॉलर प्रति औंस पर पार करने के बाद भी सोने का भाव 1,900 डॉलर के स्तर को नहीं छू पा रहा है. कई कारणों से सोना इस रेंज में कारोबार कर रहा है. कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर आ रही खबरों ने सोना पर दबाव डाला है. हालांकि, अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि आखिर कब तक यह वैक्सीन आम लोगों के लिए उपलब्ध हो सकेगी.



जल्द यूरोपीय व अमेरिकी नियामकों से Pfizer की वैक्सीन को मंजूरी
डॉलर इंडेक्स में 0.16 फीसदी की तेजी देखने ​को मिली है. इस वजह से दूसरी करंसी रखने वालों के लिए सोना महंगा साबित हो रहा है. Pfizer ने बुधवार को कहा कि उसकी कोविड-19 वैक्सीन 95 फीसदी तक प्रभावी है और अमेरिका फूड एंड ड्रग ए​डमिनिस्ट्रेशन (USFDA) द्वारा आपातकाल में इस्तेमाल किए जाने वाली सुरक्षा मानकों पर खरी उतरी है. Pfizer अब अगले कुछ दिनों में अमेरिका और यूरोपीय नियामकों से मंजूरी प्राप्त करेगा.

गोल्ड ईटीएफ से भी मोहभंग
गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (Gold ETF) में भी निवेशकों ने कम रुचि दिखाई दी है. बुधवार को एसपीडीआर गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग 0.60 फीसदी कम होकर 1,219 टन तक रह गई है. यह दुनिया की सबसे बड़ी गोल्ड ईटीएफ है.

यह भी पढ़ें: लक्ष्मी विलास बैंक के इंडियाबुल्स फाइनेंस के साथ असफल विलय से लेकर अब तक की पूरी कहानी

50 हजार के ​नीचे फिसल सकता है सोना
जानकारों का कहना है कि सोने का भाव 50,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के नीचे फिसल सकता है. हालांकि, 49,550 का सपोर्ट लेवल देखने को मिल सकता है. चांदी का भाव भी 62,000 रुपये से नीचे आ सकता है. आने वाले दिनों में चांदी का सपोर्ट लेवल 59,500 के स्तर पर रहेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज