दो दिन बाद फिर से सोने और चांदी की कीमतों में हुआ ये बदलाव, यहां जानिए नए रेट्स

दो दिन बाद फिर से सोने और चांदी की कीमतों में हुआ ये बदलाव, यहां जानिए नए रेट्स
निवेशकों ने सुरक्षित निवेश के तौर पर सोने में खरीदारी शुरू कर दी है. इसी वजह से घरेलू स्तर पर सोने की की कीमतों में तेजी आई है.

Gold Price on 27th February 2020-चीन के कोरोना वायरस का असर अब दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर दिखने लगा है. इसीलिए, निवेशकों ने सुरक्षित निवेश के तौर पर सोने में खरीदारी शुरू कर दी है. इसी वजह से घरेलू स्तर पर सोने की की कीमतों में तेजी आई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 27, 2020, 4:42 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. चीन के कोरोना वायरस (China Coronavirus) का असर अब दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर दिखने लगा है. इसीलिए, निवेशकों ने सुरक्षित निवेश के तौर पर सोने (Gold Price Today) में खरीदारी शुरू कर दी है. इसी वजह से घरेलू स्तर पर सोने (Gold Silver Price Today) की की कीमतों में तेजी आई है. दो दिन की गिरावट के बाद दिल्ली में 10 ग्राम सोने की कीमतें मामूली 78 रुपये की तेजी के साथ 43,513 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गई है. आपको बता दें कि इससे पहले दो दिन में सोना 1000 रुपये प्रति दस ग्राम तक सस्ता हो गया था.

सोने का नया भाव (Gold Price on 27th February 2020)- दिल्ली सर्राफा बाजार में गुरुवार को 99.9 फीसदी की शुद्धता वाले 10 ग्राम सोने की कीमत 43,435 रुपये से बढ़कर 43,513 रुपये प्रति दस ग्राम हो गई है. वहीं, इससे पहले बुधवार को दिल्ली में सोने का भाव 43,502 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया था. बता दें कि मंगलवार को सोना 43,564 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर बंद हुआ था.अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना 1,649 डॉलर प्रति औंस और चांदी 18.05 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार कर रही थी.





चांदी की नई कीमत (Silver Rate on 27th February 2020)- सोने की तरह चांदी की कीमतों में भी मामूली तेजी आई है. गुरुवार को 1 किलोग्राम चांदी के दाम 35 रुपये बढ़कर 48,130 रुपये पर पहुंच गए है. वहीं बुधवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में चांदी की कीमत गिरकर 48,146 रुपये प्रति किलोग्राम पर गई थी. मंगलवार को चांदी 48,974 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर बंद हुई थी.



अब आगे क्या- HDFC सिक्योरिटीज के सीनियर एनालिस्ट (कमोटिडीज) तपन पटेल का कहना हैं कि सेफ इन्वेस्टमेंट के तौर पर बढ़ी डिमांड के चलते सोने की कीमतों में तेजी आई है. हालांकि, कीमतों में ज्यादा तेजी की संभावना नहीं है.

ये भी पढ़ें-बिजली मीटर की रीडिंग लेने अब आपके घर पर नहीं आएगा कोई!जानें नए स्मार्ट मीटर को

केडिया कमोडिटी के एमडी अजय केडिया ने न्यूज18 हिंदी को बताया कि अगर किसी का इन्वेस्टमेंट है तो उसे मुनाफावसूली कर लेनी चाहिए और सोने की जगह अब चांदी में तेजी से पैसा बनाने का मौका मिल सकता है. क्योंकि गोल्ड-सिल्वर रेशियो बढ़ा है.

अगर आसान शब्दों में कहें तो सोने-चांदी की कीमत का अनुपात साल 2010 में निचले स्तर पर जाने के बाद लगातार बढ़ा है. फिलहाल यह अनुपात 86 से अधिक है. अजय केडिया बताते हैं कि जब सोने-चांदी की कीमतों के अनुपात में बढ़ोतरी होती है, तो इससे किसी भावी संकट का पता चलता है.

सामान्य तौर पर अगर अनुपात 80 से ऊपर है तो यह काफी अधिक माना जाता है और इस बार पिछले एक साल का औसत 82 से अधिक रहा है.

यह अनुपात बताता है कि एक औंस सोने से कितनी औंस चांदी खरीदी जा सकती है. इसलिए यह अनुपात जितना अधिक होता है सोने की कीमत उतनी ही अधिक होती है और अनुपात कम होने का मतलब होता है कि चांदी में मजबूती आ रही है.

हालांकि, उनका कहना है कि सोने-चांदी की कीमत के अनुपात (गोल्ड-सिल्वर रेशियो बढ़ा) में तेजी ज्यादा समय तक नहीं रहेगी. लिहाजा सोने की कीमतों में फिर से गिरावट आने का अनुमान है. लिहाजा आप अगर किसी बहुत बड़ी इमरजेंसी में नहीं फंसे हैं तो सोने की ज्वेलरी में निवेश बरकरार रखना चाहिए

ये भी पढ़ें-एशिया में सबसे अमीर और दुनिया के नौवें सबसे रईस शख्स बने मुकेश अंबानी
First published: February 27, 2020, 4:16 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading