Gold-Silver Rates: 740 रुपये सस्ती हुई चांदी, जानिए क्या आज गोल्ड का नया भाव

Gold-Silver Rates: 740 रुपये सस्ती हुई चांदी, जानिए क्या आज गोल्ड का नया भाव
दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने-चांदी की कीमतें जारी हो गई है.

Gold Silver Rates Today: दिल्ली सर्राफा बाजार में आज सोने की कीमतों में तेजी देखने को मिली है. हालांकि, चांदी की कीमतों में 740 रुपये प्रति किलोग्राम की गिरावट आई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली सर्राफा बाजार में आज यानी शुक्रवार के लिए सोने-चांदी के भाव (Gold-Silver Rates) जारी हो गए है. इंटरेनशनल मार्केट दोनों कीमती धातुओं की सपाट कारोबार देखने को मिला है. इसी बीच दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने की कीमतों (Gold Price) में 237 रुपये प्रति 10 ग्राम बढ़ा है. वहीं, चांदी की कीमतों (Silver Price) में 740 रुपये प्रति किलोग्राम सस्ती हुई है.

सोने की नई कीमतें (Gold Price on 3rd July 2020)- एचडीएफसी सिक्योंरिटीज के मुताबिक, आज दिल्ली सर्राफा बाजार में 237 रुपये प्रति 10 ग्राम बढ़कर 49,022 के स्तर पर पहुंच गया. इसके पहले गुरुवार को 48,785 रुपये प्रति 10 ग्राम था. इंटरनेशल मार्केट में गोल्ड का नया भाव 1,774 डॉलर प्रति आउंस पर रहा.

चांदी की नई कीमतें (Silver Price on 3rd July 2020)- इसी प्रकार चांदी का भाव 740 रुपये प्रति किलोग्राम सस्ती हुई, जिसके बाद नया भाव 49,060 रुपये के स्तर पर है. इसके पहले गुरुवार को यह भाव 49,800 रुपये प्रति किलोग्राम पर था. लेकिन, इंटरनेशनल मार्केट सपाट कारोबारी देखने को मिला, जिसके बाद चांदी का नया भाव 17.99 डॉलर प्रति आउंस रहा.



यह भी पढ़ें: नौकरी करने वालों के लिए बड़ी खबर- इस तारीख तक आएगा आपका फॉर्म -16
दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले के बीच कैश की जरूरतों को पूरा करने के लिए निवेश गोल्ड समेत अन्य एसेट क्लास को बेचने की भी कोशिश कर रहे हैं. घरेलू बाजार में सोने का भाव 47,950 रुपये से लेकर 48,300 के करीब भी रह सकता है.

आर्थिक अनिश्चितता से गोल्ड को सपोर्ट मिला
इस मामले से जुड़े एक एक्सपर्ट का कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने वैश्विक ग्रोथ का अनुमान घटा दिया है और कहा है कि मौजूदा माहामारी से दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं की हालत बेहद खराब व चिंताजनक होगी. आईएमएफ के अनुमान के मुताबिक, 2020 में वैश्विक अर्थव्यवस्था में 4.9 फीसदी की गिरावट आएगी. यही कारण है कि सोने की कीमतों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है.

आर्थिक संकट को लेकर क्या कहते हैं आंकड़े?
दरअसल, मौजूदा महामारी को लेकर साफ दृश्य नहीं दिखाई दे रहा कि आखिर यह कब खत्म होगा. दूसरी ओर अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव भी आ रहा है. ऐसे में इन दोनों वजहों से सोने को सपोर्ट मिलेगा. 2001 और 2008 के आंकड़ों से पता चलता है आर्थिक संकट के बाद गोल्ड ही सबसे पहला एसेट क्लास था, जिसमें बड़ी तेजी आई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading