सोना 2000 रुपये सस्ता हुआ, चांदी भी 9000 रुपये लुढ़की, एक हफ्ते में ही क्यों आई इतनी बड़ी गिरावट

पिछले सप्ताह सोने-चांदी के भाव में बड़ी गिरावट आई है.
पिछले सप्ताह सोने-चांदी के भाव में बड़ी गिरावट आई है.

Gold-Silver Price: बीते कई महीनों में पहली बार हुआ है कि किसी एक सप्ताह में सोने-चांदी की कीमतों में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है. घरेलू बाजार में पिछले सप्ताह सोना 2,000 रुपये तक सस्ता हुआ है. जबकि, वैश्विक बाजार में चांदी 15% तक लुढ़की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 26, 2020, 12:54 PM IST
  • Share this:
मुंबई. इस सप्ताह में सोने और चांदी की कीमतों (Gold-Silver Rates) में बड़ी गिरावट देखने को मिली है. बीते कई महीनों के दौरान दोनों कीमती धातुओं में इतनी बड़ी गिरावट देखने को नहीं मिली थी. मल्टी-कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर शुक्रवार को सोने का वायदा (Gold Future) भाव 238 रुपये लुढ़कर 49,666 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया. गोल्ड के साथ-साथ चांदी में भी गिरावट देखने को मिली. चांदी करीब 1 फीसदी लुढ़ककर 59,018 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई है.

साप्ताहिक आधार पर देखें तो सोने के भाव में करीब 2,000 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट रही. जबकि, चांदी करीब 9,000 रुपये प्रति किलोग्राम से ज्यादा सस्ती हुई है. ब्रोकेरेज हाउसेज का कहना है कि सोने का भाव 49,250 रुपये से नीचे आने का मतलब है कि अब यह 48,900 से लेकर 48,800 रुपये प्रति 10 ग्राम के बीच ट्रेड करेगा.

यह भी पढ़ें: SBI का नया Restructuring Plan, लाखों ग्राहकों को फायदा, जानिए इससे जुड़ी सभी बातें



वैश्विक बाजार में 15 फीसदी तक सस्ती हुई चांदी
वैश्विक बाजार (Global Market) में मार्च के बाद से सोने-चांदी में सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली. यहां बीते एक सप्ताह में सोने में 4.6 फीसदी की गिरावट आई है, जबकि चांदी भी 15 फीसदी तक सस्ती हुई है. एनलिस्ट्स का कहना है कि डॉलर में मजबूती और वैश्विक अर्थव्यवस्था को लेकर अनिश्चितता की स्थिति की वजह से कीमती धातुओं के भाव में गिरावट आ रही है.

बढ़ती महंगाई बनी समस्या
सोने में निवेश करने का एक कारण यह भी होता है कि बढ़ती महंगाई (Inflation) से निपटने में मदद मिलती है. लेकिन, सुस्त रिकवरी के बीच महंगाई और भी बढ़ने की आशंका जाहिर की जा रही है. डॉलर बीते दो महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है, जिसका असर सोने के गिरते भाव पर पड़ा है.

कुछ एनलिस्ट्स का यह भी कहना है कि सोने के भाव में यह गिरावट कुछ समय के लिए होगा. दरअसल, अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव (US Presidential Election) के मद्देनजर भी अनिश्चितता बरकरार है. वहीं, दूसरी तरफ इकोनॉमिक आउटलुक कुछ पॉजिटिव संकेत नहीं दे रहा है और भू​-राजनीतिक तनाव (Geo-political Tension) ने भी सोने की मांग पर असर डाल रहा है.

यह भी पढ़ें: फेस्टिवल सीजन शुरू होने से पहले मोदी सरकार देने वाली है सबसे बड़ा राहत पैकेज, इन चीजों पर होगा फोकस

अमेरिका में प्रोत्साहन पैकेज से डॉलर को मजबूती मिलेगी
संभावना है कि आने वाले दिनों में अमेरिका में एक और प्रोत्साहन पैकेज का ऐलान किया जाए. इससे डॉलर में और भी मजबूती आएगी. अमेरिकी सरकार करीब 2.4 ट्रिलियन डॉलर के प्रोत्साहन पैकेज पर काम कर रही है. अगले सप्ताह तक इसका ऐलान भी किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज