किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी! आज से घट जाएगा पोटाश का दाम, जानिए कितना होगा फायदा

किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी! आज से घट जाएगा पोटाश का दाम, जानिए कितना होगा फायदा
अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये के काफी कमजोर होने के बावजूद किसानों के हित में आईपीएल ने उठाया ये बड़ा कदम, 18 मई से प्रभावी होंगी नई कीमतें

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये के काफी कमजोर होने के बावजूद किसानों के हित में आईपीएल ने उठाया ये बड़ा कदम, 18 मई से प्रभावी होंगी नई कीमतें

  • Share this:
नई दिल्ली. इंडिया पोटाश लिमिटेड (IPL) ने पोटाश म्यूरिएट की कीमत में 75 रुपये प्रति बैग की कमी कर दी है. घटी हुई कीमत सोमवार, 18 मई से लागू होगी. इस खाद की मौजूदा कीमत 19,000 रुपये प्रति मीट्रिक टन से घटकर अब 17,500 प्रति मीट्रिक टन हो जाएगी. पोटाश म्यूरिएट, जिसे पोटेशियम क्लोराइड के रूप में भी जाना जाता है. यह पौधे के विकास और क्वालिटी के लिए जरूरी होता है. यह प्रोटीन और शुगर के उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यही नहीं पौधों में नमी को बनाए रखने में मदद करता है, जिसकी वजह से पौधे सूखने से बच जाते हैं. इससे पत्तियों को उनका सही आकार मिलता है.

किसानों के हित में घटाई गई कीमत

कंपनी ने कहा है कि किसानों के हित के लिए यह कटौती पिछले एक साल में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये के काफी कमजोर होने और एमओपी पर सरकार की सब्सिडी में 604 रुपये प्रति एमटी के कमी के बावजूद की गई है. सब्सिडी में कमी 1 अप्रैल, 2020 से प्रभावी हो गई है.



 good news for farmers, fertilizer price, essential for plant growth, IPL, Indian Potash Limited, Potash price, modi government, agriculture, Chemicals and Fertilizers, Indian rupee, US Dollar, किसानों के लिए अच्छी खबर, उर्वरक मूल्य, पौधों की वृद्धि के लिए आवश्यक, आईपीएल, इंडियन पोटाश लिमिटेड, पोटाश मूल्य, मोदी सरकार, कृषि, रसायन और उर्वरक, भारतीय रुपया, यूएस डॉलर
अब पहले से सस्ता मिलेगा पोटाश

आईपीएल के एमडी डॉ. पीएस गहलौत ने कहा कि हम मानते हैं कि इस कदम से उर्वरकों का संतुलित उपयोग होगा, जो भारत सरकार द्वारा किसानों को उर्वरकों पर लागत कम करने और कृषि उत्पादन को बढ़ाने के लक्ष्य की पूर्ति करने का एकमात्र तरीका है. कंपनी हमेशा उर्वरकों के वैज्ञानिक और विवेकपूर्ण उपयोग को बढ़ावा देने के पक्ष में है.

केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा ने समय की जरूरत को ध्यान में रखते हुए किसानों की सहायता के लिए उठाए गए इस बड़े कदम के लिए डॉ. गहलौत को बधाई दी.

ये भी पढ़ें: Economic Package: क्या इसलिए एग्रीकल्चर सप्लाई चेन में रिफॉर्म करना चाहते हैं पीएम मोदी?

ये है किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने का तरीका, इस स्कीम से अब भी वंचित हैं 7 करोड़ किसान

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज