Home /News /business /

good news for farmers agriculture ministry is bringing new scheme government will spend 2500 crores pmgkp

किसानों के लिए अच्छी खबर : कृषि मंत्रालय ला रहा नई योजना, 2500 करोड़ रुपए खर्च करेगी सरकार

 इस योजना का मकसद खेती की मौजूदा प्रणाली को बाधित किए बिना प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा देना है.’’

इस योजना का मकसद खेती की मौजूदा प्रणाली को बाधित किए बिना प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा देना है.’’

कृषि मंत्रालय देश में प्राकृतिक खेती को प्रोत्साहन के लिए एक नई केंद्रीय योजना के साथ तैयार है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि इस योजना पर अनुमानत: 2,500 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे.

नई दिल्ली . प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों के लिए एक अच्छी खबर आ रही है. कृषि मंत्रालय देश में प्राकृतिक खेती को प्रोत्साहन के लिए एक नई केंद्रीय योजना के साथ तैयार है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि इस योजना पर अनुमानत: 2,500 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. अधिकारी ने बताया कि इस प्रस्तावित नई योजना को जल्द मंत्रिमंडल की मंजूरी के लिए रखा जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल दिसंबर में गुजरात में प्राकृतिक खेती पर एक राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा था कि उर्वरक और कीटनाशक आधारित खेती के विकल्प की तलाश करने की जरूरत है. उसके कुछ माह बाद यह नई योजना बनाई गई है.

यह भी पढ़ें- PNB में इस खास कैटेगरी में अकाउंट खुलवाने पर 20 लाख का फायदा, जानिए पूरी डिटेल

कोई ‘साइड इफेक्ट’ नहीं 
मोदी ने कहा था कि प्राकृतिक खेती अधिक बेहतर उत्पाद ला सकती है जिनका कोई ‘साइड इफेक्ट’ नहीं होता. अधिकारी ने कहा, ‘‘हितधारकों के साथ कई दौर की बातचीत के बाद प्राकृतिक खेती पर एक योजना का मसौदा तैयार किया गया है. इस योजना का मकसद खेती की मौजूदा प्रणाली को बाधित किए बिना प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा देना है.’’

आम बजट 2022 में विशेष प्रस्ताव
अधिकारी ने बताया कि प्रस्तावित योजना के तहत प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों, उनके उत्पादों के विपणन के लिए सहयोग दिया जाएगा. इसके अलावा उन्हें विस्तारित सेवाएं भी प्रदान की जाएंगी. उल्लेखनीय है कि सरकार ने आम बजट 2022 में देशभर में रसायन-मुक्त प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने की घोषणा की थी. इसकी शुरुआत गंगा नदी के साथ पांच किलोमीटर के गलियारे वाले खेतों के साथ होनी थी.

यह भी पढ़ें- ब्याज से आय पर क्या है टैक्स का गणित, किसको मिलती है राहत, समझिए पूरा हिसाब-किताब

सरकारी शोध संस्थान नीति आयोग के अनुसार, प्राकृतिक खेती एक रसायन-मुक्त परंपरागत खेती का तरीका है. भारत में प्राकृतिक खेती को केंद्र प्रायोजित योजना परंपरागत कृषि विकास योजना (पीकेवीवाई) के तहत प्राकृतिक कृषि पद्धति प्रोग्राम (बीपीकेपी) के जरिये प्रोत्साहन दिया जाता है.

Tags: Agriculture, Agriculture ministry, Business opportunities, Farming, Farming in India

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर