लाइव टीवी
Elec-widget

खुशखबरी! सरकारी बैंकों के कर्मचारियों की जल्द बढ़ सकती है इन-हैंड सैलरी

News18Hindi
Updated: November 20, 2019, 12:54 PM IST
खुशखबरी! सरकारी बैंकों के कर्मचारियों की जल्द बढ़ सकती है इन-हैंड सैलरी
आठ लाख बैंक कर्मचारियों को सैलरी के अलावा परफॉर्मेंस-लिंक्ड इंसेंटिव मिलेगा

सरकारी बैंक (Government Bank Employees) के कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी है. सरकार लगभग आठ लाख बैंक कर्मचारियों को अगले वित्त वर्ष से सैलरी (Financial Year) के अलावा परफॉर्मेंस-लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) देने का प्लान कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2019, 12:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सरकारी बैंक (Government Bank Employees) के कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी है. सरकार लगभग आठ लाख बैंक कर्मचारियों को अगले वित्त वर्ष से सैलरी (Financial Year) के अलावा परफॉर्मेंस-लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) देने का प्लान कर रही है. इससे पहले बैंकों के मैनेजमेंट ने वेरिएबल पे या परफॉर्मेंस-लिंक्ड पे का प्रपोजल दिया था. वेरिएबल पे प्राइवेट सेक्टर के बैंकों के एंप्लॉइज को पहले से मिलती है.

इस एसोसिएशन ने दिया था प्रपोजल
इकॉनोमिक टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (IBA) की सैलरी पर बात करने वाली कमेटी ने पिछले सप्ताह PLI का प्रपोजल दिया था, जिसे सैद्धांतिक तौर पर स्वीकार कर लिया गया है. इस कमेटी के प्रमुख यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर राजकिरण राय हैं. बैंकों के एनुअल रिजल्ट की घोषणा के बाद PLI को कैलकुलेट किया जा सकता है. सरकारी बैंकों के कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी पर द्विपक्षीय समझौता प्रत्येक पांच वर्षों में होता है. सैलरी में बढ़ोतरी के 11वें समझौते पर अभी बातचीत हो रही है. यह समझौता 1 नवंबर, 2017 से लागू होना है.

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर! PMC बैंक के ग्राहक खाते से निकाल सकते हैं 1 लाख रुपये

ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन (AIBOC) के जनरल सेक्रेटरी सौम्य दत्ता कहना है कि परफॉर्मेंस लिंक्ड पे के मुद्दे पर रुख में बदलाव हुआ है. IBA ने स्पष्ट किया है कि PLI को सैलरी में शामिल नहीं किया जाएगा. IBA ने सैलरी में 12 पर्सेंट की वृद्धि की पेशकश की है, जबकि बैंक यूनियंस कम से कम 15 पर्सेंट की बढ़ोतरी पर जोर दे रही हैं.

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सहित कई सरकारी बैंकों ने पहले ही विशेष मापदंडों के आधार पर कर्मचारियों को रिवॉर्ड और इंसेंटिव की पेशकश की है, लेकिन नया स्ट्रक्चर अलग होगा, क्योंकि यह विशेष बैंकों के प्रदर्शन पर निर्भर करेगा, कर्मचारियों के प्रदर्शन पर नहीं.

ये भी पढ़ें: सोने के गहने खरीदने का है प्लान तो ठहरिए! 1 जनवरी से बदल जाएगा ये बड़ा नियम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 12:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...