होम /न्यूज /व्यवसाय /

सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, इस राज्य ने महंगाई भत्ते में किया 3 फीसदी का इजाफा

सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, इस राज्य ने महंगाई भत्ते में किया 3 फीसदी का इजाफा

बढ़ा हुआ डीए 1 जनवरी से लागू माना जाएगा.

बढ़ा हुआ डीए 1 जनवरी से लागू माना जाएगा.

गुजरात सरकार के कर्मचारियों व पेंशनभोगियों के लिए खुशखबरी है. सरकार ने उनके महंगाई भत्ते में 3 फीसदी का इजाफा कर दिया है. इसे 1 जनवरी 2022 से लागू माना जाएगा. गौरतलब है कि इससे पहले मई में भी डीए बढ़ाया गया था.

हाइलाइट्स

गुजरात सरकार ने कर्मचारियों व पेंशनभोगियों का डीए बढ़ाया.
इसका लाभ सातवें वेतन आयोग के तहत आने वाले लोगों को ही मिलेगा.
सरकार ने इससे पहले मई में भी डीए में वृद्धि की थी.

नई दिल्ली. गुजरात सरकार ने अपने कर्मचारियों-पेंशनभोगियों के महंगाई भत्ते को में 3 प्रतिशत वृद्धि की घोषणा की है. यह वृद्धि 1 जनवरी 2022 से मान्य होगी. यानी कर्मचारियों और वेतनभोगियों को एरियर मिलेगा. इसका लाभ 9.38 लाख कर्मचारी-पेंशनभोगियों को मिलेगा. महंगाई भत्ते का भुगतान तीन हिस्सों में किया जाएगा. पहली किश्त अगस्त 2022 के वेतन के साथ दूसरी किस्त सितंबर 2022 के वेतन के साथ और तीसरी किस्त अक्टूबर के वेतन के साथ दी जाएगी.

महंगाई भत्ते में इस बढ़ोतरी से राज्य सरकार पर सालाना करीब 1400 करोड़ रुपये का वित्तीय बोझ बढ़ेगा. महंगाई भत्ते में वृद्धि की घोषणा राज्य के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने 15 अगस्त पर ध्वजारोहण के बाद की. इससे पहले मई में महंगाई भत्ते में 2 फीसदी का इजाफा किया गया था. यह वृद्धि पिछले साल जुलाई से लागू मानी गई थी और इसका भुगतान 2 किस्तों में किया गया था. यह महंगाई भत्ता सातवें वित्त आयोग के तहत बढ़ाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- किसानों के लिए खुशखबरी! पीएम किसान के लिए ई-केवाईसी की अंतिम तिथि आगे बढ़ी, ऐसे पूरी करें केवाईसी

कितना हुआ डीए
गुजरात सरकार के कर्मचारियों का महंगाई भत्ता अब 33 फीसदी हो गया है. सरकार ने इस साल अब तक 2 बार डीए बढ़ाया है. इससे पहले पिछले साल सितंबर में डीए में 11 फीसदी की भारी वृद्धि की गई थी. उस समय सरकारी खजाने पर 378 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ा था.

मुख्यमंत्री की अन्य घोषणाएं
गुजरात के मुख्यमंत्री ने राज्य के 250 तालुकों के 71 लाख एनएफएसए कार्ड धारकों को रियायती दर पर प्रति कार्ड प्रति कार्ड 1 किलो ग्राम दाल दी जाएगी. फिलहाल केवल 50 विकसित तालुकों के लोगों को इसका लाभ मिल रहा है. एनएफएसए स्कीम में शामिल होने के लिए अब न्यूनतम आय सीमा क 10,000 से बढ़ाकर 15,000 रुपये कर दिया गया है. राज्य में हरित ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए द्वारका, अंबाजी, स्टैच्यू ऑफ यूनिटी जैसे प्रतिष्ठित मार्गों पर शून्य वायु प्रदूषण वाली इलेक्ट्रिक बसों का संचालन किया जाएगा. राज्य के नागरिकों की परिवहन सुविधा के लिए 367 करोड़ रुपये की 1200 नई बीएस-6 बसों का संचालन किया जाएगा. नागरिकों की सुविधा के लिए राज्य के 50 बस स्टेशनों पर एटीएम लगाए जाएंगे. इसके अलावा एकतानगर-केवड़िया कालोनी में ट्रॉमा सेंटर सुविधा के साथ 50 बिस्तरों वाले नए आधुनिक जिला स्तरीय अस्पताल के लिए 3 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं.

Tags: Business news, Business news in hindi, Dearness allowance, Gujarat

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर