अटके प्रोजेक्ट्स के घर खरीदारों के सपने को पूरा करेगी ये कंपनी, लॉन्च की प्रॉपर्टी स्वैप स्कीम

अटके प्रोजेक्ट्स के घर खरीदारों के सपने को पूरा करेगी ये कंपनी, लॉन्च की प्रॉपर्टी स्वैप स्कीम
अटकी परियोजनाओं के निवेशकों के घर के सपने को पूरा करेगी इन्वेस्टर्स क्लिनिक

इन्वेस्टर्स क्लिनिक (Investors Clinic) ने अटकी पड़ी रियल एस्टेट परियोजनाओं के ग्राहकों को नया घर और व्यावसायिक इकाई उपलब्ध कराएगी. ग्राहक ने अगर अटकी परियोजना में घर बुक कराते समय कोई बैंक लोन लिया है तो उसे बंद कर दिया जाएगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. संपत्ति ब्रोकरेज कंपनी इन्वेस्टर्स क्लिनिक (Investors Clinic) रियल एस्टेट सेक्टर की अटकी पड़ी परियोजनाओं के निवेशकों के घर के सपने को पूरा करेगी. कंपनी ने इसके लिये राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) की चार रियल एस्टेट कंपनियों (Real Estate Companies) से करार किया है. इसके तहत इन्वेस्टर्स क्लिनिक अटकी पड़ी रियल एस्टेट परियोजनाओं के ग्राहकों को नया घर और व्यावसायिक इकाई उपलब्ध कराएगी. खास बात यह है कि ग्राहक ने अटकी या रुकी परियोजना में जितना निवेश या भुगतान किया है उस राशि को नई संपत्ति की खरीद में समायोजित किया जाएगा.

कंपनी ने कहा है कि ग्राहक ने यदि अटकी परियोजना में घर बुक कराते समय कोई बैंक लोन लिया है तो उसे बंद कर दिया जाएगा. नई इकाई की खरीद के समय नया लोन लिया जा सकेगा. देशभर में करीब 1,500 रfयल एस्टेट परियेाजनाएं अटकी हुई है और इनमें करीब 5 लाख उपभोक्ताओं का पैसा फंसा हुआ है. यूनिटक (Unitech), जेपी समूह (JP Group) और आम्रपाली (Amrapali) द्वारा अपनी परियोजनाओं को प़ूरा नहीं करने की वजह से एनसीआर बाजार इससे सबसे अधिक प्रभावित हुआ है.

यह भी पढ़ें- कोरोना काल में मासिक 55 रुपए जमा करने पर मिलेंगे हर महीने 3 हजार, 39 लाख लोगों ने उठाया फायदा



इन चार बिल्डरों से किया करार
नोएडा की कंपनी इन्वेस्टर्स क्लिनिक ने शुक्रवार को बयान में कहा कि इन ग्राहकों को चार बिल्डरों- सुपरटेक (Supertech), मिग्सन (Migsun), भूटानी (Bhutani) और होम एंड सोल (Home & Soul) की परियोजनाओं में पूरी तरह तैयार फ्लैट या ऐसे घर जो तैयार होने के करीब हैं, की पेशकश की जाएगी. इस बारे में संपर्क करने पर सुपरटेक के प्रबंध निदेशक मोहित अरोड़ा, भूटानी समूह के प्रबंध निदेशक आशीष भूटानी और मिग्सन ग्रुप के प्रबंध निदेशक यश मिग्लानी ने इस बात की पुष्टि कि वे इस नई योजना में भाग ले रहे हैं. योजना का मकसद अटकी रियल एस्टेट परियोजनाओं के ग्राहकों की मदद करना और नई मांग पैदा करना है.

इन्वेस्टर्स क्लिनिक के सह-संस्थापक सनी कत्याल ने कहा, हम रीयल एस्टेट निवेशकों की परेशानी समझते है. उनके फंसे निवेश का मूल्य निकालने के लिए हमने इस मॉडल की पेशकश की है. कत्याल ने इस संपत्ति अदला-बदली योजना के तहत अगले छह माह में 10,000 सौदे पूरे करने की उम्मीद जताई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज