• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Indian Economy के लिए अच्‍छी खबर! S&P ने बरकरार रखा भारत का आर्थिक वृद्धि अनुमान, चीन का घटाया

Indian Economy के लिए अच्‍छी खबर! S&P ने बरकरार रखा भारत का आर्थिक वृद्धि अनुमान, चीन का घटाया

रेटिंग एजेंसी एसएंडपी ने भारत के जीडीपी वृद्धि अनुमान को पहले के स्‍तर पर कायम रखा है.

रेटिंग एजेंसी एसएंडपी ने भारत के जीडीपी वृद्धि अनुमान को पहले के स्‍तर पर कायम रखा है.

ग्‍लोबल रेटिंग एजेंसी स्‍टैंडर्ड एंड पुअर्स (S&P) ने वित्‍त वर्ष 2022 के लिए भारत के आर्थिक वृद्धि अनुमान (Growth Forecast) को 9.5 फीसदी पर कायम रखा है. वहीं, 2021 के लिए चीन (China) के इकोनॉमिक ग्रोथ अनुमान को घटाकर 8 फीसदी कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्‍ली. कोरोना संकट से निपटने के लिए वैक्‍सीनेशन अभियान (Corona Vaccination Drive) में तेजी के साथ देश में आर्थिक गतिविधियों में इजाफा होने से अर्थव्‍यवस्‍था (Indian Economy) में भी सुधार हो रहा है. ग्‍लोबल रेटिंग एजेंसी स्‍टैंडर्ड एंड पुअर्स (S&P Global Ratings) ने भी इसके संकेत देते हुए कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद भारत तेजी से आर्थिक सुधार कर रहा है. इसके साथ ही ग्‍लोबल रेटिंग एजेंसी ने वित्‍त वर्ष 2021-22 के लिए भारत के आर्थिक वृद्धि अनुमान (Growth Forecast) को पहले के स्‍तर 9.5 फीसदी पर बरकरार रखा है.

    तेजी के मिले हैं स्‍पष्‍ट संकेत: S&P
    ग्‍लोबल रेटिंग एजेंसी भारत की तारीफ करते हुए कहा कि अप्रैल-जून 2021 के दौरान दूसरी लहर के कारण देश की कारोबारी गतिविधियों में काफी अड़चनें पैदा हुईं. इसके बाद भी जुलाई-सितंबर 2021 के दौरान अर्थव्‍यवस्‍था के ज्‍यादातर इंडिकेटर्स से गतिविधियों में तेजी से मजबूती के संकेत मिले हैं. साथ ही कहा कि हाउसहोल्‍ड इंडस्‍ट्री, सूक्ष्‍म व छोटे कारोबारियों पर दूसरी लहर का सबसे ज्‍यादा असर पड़ा है. ये सेक्‍टर्स जब अपनी बैलेंस शीट दुरुस्‍त करेंगे तो अर्थव्‍यवस्‍था की रफ्तार कुछ धीमी नजर आएगी. हालांकि, इस दौरान महंगाई उच्‍चस्‍तर पर बनी रही है और सार्वजनिक कर्ज चिंता बढ़ा रहे हैं.

    ये भी पढ़ें- Gold Price Today: चांदी में बड़ी गिरावट, गोल्‍ड के दाम फिर फिसले, फटाफट चेक करें नए भाव

    क्‍यों घटाया चीन का वृद्धि अनुमान?
    एसएंडपी ने भारत के उलट चीन के आर्थिक वृद्धि अनुमान को साल 2021 के लिए 30 आधार अंक घटाकर 8 फीसदी कर दिया है. रेटिंग एजेंसी के मुताबिक, एशिया की सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था के नीतिगत फैसलों और रियल एस्‍टेट कंपनी एवरग्रांडे के डिफॉल्‍ट होने के डर के कारण अनिश्चितता का माहौल बना हुआ है. इसलिए चीन की आर्थिक वृद्धि के अनुमान में कटौती की जा रही है. रेटिंग एजेंसी ने कहा कि एवरग्रांडे संकट का असर चीन की दूसरी रियल एस्‍टेट कंपनियों और डेवलपर्स पर भी पड़ सकता है. यही नहीं, एवरग्रांडे को कर्ज देने वाले बैंक व वित्‍तीय संस्‍थानों के अलावा सप्‍लायर्स और कॉन्‍ट्रैक्‍टर्स पर भी असर पड़ सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज