इस शहर की कामकाजी महिलाओं को सरकार का तोहफा, अब मिलेगी ये बड़ी सुविधा

प्रतीकात्मक तस्वीर (Getty Images)

प्रतीकात्मक तस्वीर (Getty Images)

मुंबई में नौकरी करने वाली कामकाजी महिलाओं को महाराष्ट्र सरकार तोहफा देने वाली है. इनको दूर तक आने-जाने के प्रवास से बचाने के लिए सरकार द्वारा ताड़देव स्थित म्हाडा संक्रमण शिविर की जगह पर 1 हजार महिलाओं के लिए 450 कमरों का सुसज्जित हॉस्टल बनाया जाने वाला है.

  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप महिला हैं और मायानगरी मुंबई में नौकरी करती हैं तो आपके लिए बड़ी खुशखबरी है. जैसा कि हम सब जानते हैं कि मुंबई में रहने की सबसे बड़ी समस्या है. ऐसे में जो बाहर से आते हैं उन्हें घर, होस्टल मिलने में काफी दिक्कतें आती है. लेकिन अब इस समस्या से उन्हें मुक्ति मिल सकती है. मुंबई में नौकरी करने वाली कामकाजी महिलाओं को महाराष्ट्र सरकार तोहफा देने वाली है. इनको दूर तक आने-जाने के प्रवास से बचाने के लिए सरकार द्वारा ताड़देव स्थित म्हाडा संक्रमण शिविर की जगह पर 1 हजार महिलाओं के लिए 450 कमरों के सुसज्जित हॉस्टल बनाये जाने वाले हैं. ये जानकारी कल यानी मंगलवार को राज्य के गृहनिर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने दी है.

जानें क्या कहा मंत्री ने?

गृहनिर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने बताया कि राज्य भर से महिलाएं मुंबई में काम करने के लिए आती हैं लेकिन उनके लिए कार्यालय के पास रहना संभव नहीं हो पाता है. इस जरूरत को समझते हुए म्हाडा के ताड़देव स्थित एम.पी. मिल कंपाउंड परिसर में महिलाओं के लिए सुसज्जित हॉस्टल बनाया जाएगा.

ये भी पढ़ें- कोरोना की दूसरी लहर से बढ़ी महंगाई! सरसों तेल का भाव ₹200 तक पहुंचा, दाल से लेकर डब्बाबंद दूध तक महंगा
छह महीने में निविदा प्रक्रिया कंप्लीट

लोकसत्ता में छपी खबर के मुताबिक मंत्रालय, मुंबई सेंट्रल, महालक्ष्मी, ग्रांट रोड जैसे महत्वपूर्ण स्थानों से हॉस्टल नजदीक होने के कारण मुंबई में नौकरी करने वाली महिलाओं का समय और आने-जाने वाली यात्रा में होने वाली तकलीफ से राहत मिलेगी. आव्हाड ने कहा कि 450 कमरों का हॉस्टल डेढ़ से दो साल में तैयार किया जाएगा और छह महीने में इसकी निविदा प्रक्रिया पूर्ण की जाएगी.

35 करोड़ रुपये की आएगी लागत 



इस काम के लिए करीब 35 करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे और हॉस्टल बन जाने के बाद उसकी देखभाल एक स्वतंत्र संस्था द्वारा की जाएगी. इसकी वजह से इसकी क्वालिटी और सुख-सुविधाओं पर कोई असर नहीं होगा. कामकाजी महिलाओं के लिए मुंबई में हॉस्टल बनाने की मांग की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और एनसीपी चीफ शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले ने की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज