Home /News /business /

good news india achieved export target of 400 billion dollar for the first time check details rrmb

बड़ी उपलब्धि! भारत ने पहली बार 400 अरब डॉलर का किया निर्यात, तय समय से पहले ही हासिल कर लिया लक्ष्‍य

कोविड-19 की मार और रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण उत्‍पन्‍न हुई विपरीत परिस्थितियों में भी भारत ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है.

कोविड-19 की मार और रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण उत्‍पन्‍न हुई विपरीत परिस्थितियों में भी भारत ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है.

कोरोना महामारी की मार और रूस-यूक्रेन युद्ध (Russia-Ukraine War) के कारण विश्‍वभर में फैली अनिश्चितता के बीच भारत ने निर्यात मोर्चे (Indian export) पर बड़ी सफलता हासिल की है.

नई दिल्‍ली. कोविड-19 की मार और रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण पैदा हुई विपरीत परिस्थितियों में भी भारत ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है. भारत ने 400 अरब डॉलर के माल निर्यात (Indian export) के लक्ष्‍य को हासिल कर लिया है. भारत सरकार की ओर से तय की गई अवधि से 9 दिन पहले ही इस लक्ष्‍य को पूरा किया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने बुधवार को ट्विट कर इसकी जानकारी दी. आंकड़ों के मुताबिक, भारत ने हर दिन औसतन 1 अरब डॉलर का निर्यात किया. वहीं, महीने के हिसाब से देखें तो हर महीने 33 अरब डॉलर वस्‍तुओं का निर्यात किया गया.

ये भी पढ़ें :   सस्ते होम लोन से बिक्री बढ़ी तो देश में बढ़ने लगी मकान की कीमतें, जानिए कितने महंगे हुए घर

‘आत्‍मनिर्भर भारत यात्रा में अहम मील का पत्‍थर’
भारत की इस शानदार उपलब्धि की जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विट (Narendra Modi’s tweet) कर दी. प्रधानमंत्री ने लिखा, ‘भारत ने पहली बार 400 अरब डॉलर के माल निर्यात का लक्ष्य हासिल किया है. मैं इस सफलता के लिए अपने किसानों, बुनकरों, एमएसएमई, निर्माताओं व निर्यातकों को बधाई देता हूं. यह हमारी आत्मनिर्भर भारत यात्रा में महत्वपूर्ण मील का पत्थर है.’ ट्वीट में पीएम मोदी ने बताया है कि सरकार ने तय समय सीमा से 9 दिन पहले ही यह लक्ष्य हासिल कर लिया है.

ये भी पढ़ें :   रुचि सोया के FPO से मिलेंगे 4,300 करोड़ रुपये, इस पैसे का क्या करेंगे बाबा रामदेव? जानिए

आयात में वृद्धि से व्‍यापार घाटा भी बढ़ा
भारत का आयात (Indian Export) भी कच्‍चे तेल और सोने की कीमतों में वृद्धि के कारण 36 फीसदी बढ़ गया है. इसी कारण जनवरी में 17.4 अरब डॉलर का व्यापार घाटा फरवरी में 20.9 अरब डॉलर हो गया. रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण कीमतों में बढ़ोतरी के बावजूद फरवरी में भारत की सेवाएं और विनिर्माण गतिविधि स्थिर रहीं. ब्‍लूमबर्ग न्‍यूज द्वारा संकलित किए गए सभी आठ हाई फ्रीक्‍वेंसी इंडिकेटर्स ने स्थिरता का संकेत दिया है.

Tags: Export, Pm narendra modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर