बड़ी राहत! भारत को जुलाई 2021 तक फाइजर वैक्सीन मिलने की उम्मीद, जानें कितनी मिलेंगी डोज

फाइजर जुलाई से अक्टूबर के बीच भारत को कोरोना वैक्‍सीन की 5 करोड़ डोज देने के लिए तैयार है.

फाइजर जुलाई से अक्टूबर के बीच भारत को कोरोना वैक्‍सीन की 5 करोड़ डोज देने के लिए तैयार है.

नीति आयोग के सदस्‍य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि फाइजर (Pfizer), मॉडर्ना समेत दूसरी अंतरराष्ट्रीय वैक्सीन कंपनियों (International Vaccine Companies) से भी बातचीत की जा रही है. वहीं, भारत बायोटेक (Bharat Biotech) और सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) भी वैक्सीन की उत्पादन क्षमता बढ़ा रही हैं.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) की किल्लत के बीच नीति आयोग सदस्य ने कहा कि भारत को जल्द ही फाइजर वैक्सीन (Pfizer Vaccine) मिल सकती है. साथ ही आने वाले महीनों में कोवैक्सीन (Covaxin) और कोविशील्ड (CoviShield) की भी प्रोडक्शन क्षमता बढ़ेगी. नीति आयोग सदस्य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि फाइजर की तरफ से भारत के लिए वैक्सीन की उपलब्धता के संकेत मिले हैं. केंद्र सरकार (Central Government) की कंपनी से लगातार बातचीत चल रही है. उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि जुलाई 2021 तक भारत को फाइजर की कोरोना वैक्‍सीन मिल जाएगी.

भारतीय वैक्‍सीन कंपनियां बढ़ा रही हैं अपनी उत्‍पादन क्षमता

डॉ. पॉल ने कहा कि मॉडर्ना समेत दूसरी अंतरराष्ट्रीय वैक्सीन कंपनियों से भी बातचीत की जा रही है. उन्‍होंने कहा कि भारत बायोटेक (Bharat Biotech) की वैक्सीन बनाने की क्षमता अब प्रतिमाह करीब 90 लाख हो गई. कंपनी अपनी उत्पादन क्षमता बढ़ा रही है. सितंबर-अक्टूबर 2021 तक उसकी उत्पादन क्षमता बढ़कर प्रति माह 10 करोड़ वैक्सीन की हो जाएगी. इसी तरह सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) भी वैक्सीन की उत्पादन क्षमता बढ़ा रहा है. ये अभी 6.5 करोड़ प्रति माह वैक्‍सीन का प्रोडक्‍शन कर रही है, जिसे बहुत जल्द बढ़ाकर 11 करोड़ प्रतिमाह या इससे ज्यादा कर लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: सोने के दाम 319 रुपये/10 ग्राम लुढ़के, चांदी 71 हजार रुपये के नीचे आई, फटाफट देखें लेटेस्‍ट भाव
फाइजर की वैक्‍सीन भारत में फैले वैरिएंट पर है असरदार

अमेरिकी फार्मा कंपनी फाइजर ने दावा किया है कि वैक्‍सीन भारत में फैल रहे कोरोना वायरस वैरिएंट (Coronavirus Variant) के खिलाफ असरदार है. कंपनी ने वैक्सीन के स्टोरेज पर भी चर्चा की है. फाइजर जुलाई से अक्टूबर के बीच भारत को 5 करोड़ डोज देने के लिए तैयार है. फार्मा कंपनी देश में फास्ट ट्रैक अप्रूवल पाने की कोशिश कर रही है. फाइजर ने कहा कि हाही में मिले डाटा प्‍वाइंट्स SARS-CoV-2 के वैरिएंट्स के खिलाफ और भारतीयों में BNT612b2 के दो डोज की उच्च प्रभावशीलता की पुष्टि करते हैं. तकनीकि रूप से फाइजर की वैक्सीन को BNT612b2 के नाम से जाना जाता है. कंपनी ने कहा है कि हाल में पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड की तरफ से कराई गई स्टडी में 26 फीसदी भारतीय या ब्रिटिश इंडियन थे. 22 मई को पूरी हुई स्टडी से पता चला है कि B.1.617.2 वैक्सीन की प्रभावशीलता काफी ज्यादा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज