Good News: ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी की Covishield का आखिरी दौर का ह्यूमन ट्रायल सोमवार से पुणे में होगा शुरू

ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी की कोरोना वैक्‍सीन कोविशील्‍ड का सोमवार से पुणे में आखिरी दौर का ह्यूमन ट्रायल शरू होगा.
ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी की कोरोना वैक्‍सीन कोविशील्‍ड का सोमवार से पुणे में आखिरी दौर का ह्यूमन ट्रायल शरू होगा.

ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) की कोविड-19 वैक्‍सीन (Covid-19 Vaccine) का तीसरे और आखिरी दौर का ह्यूमन ट्रायल (Human Trial) पुणे के सूसन जनरल हॉस्पिटल में सोमवार से शुरू हो जाएगा. इसमें 150 से 200 लोगों को वैक्‍सीन की डोज दी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2020, 11:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारत में हर दिन कोरोना वायरस (Coronavirus In India) के नए पॉजिटिव केस आने का सिलसिला थम नहीं रहा है. देश में अब तक कारोना पॉजिटिव केस की संख्‍या 53 लाख को पार कर गई है. इनमें से 42 लाख से ज्‍यादा लोग ठीक हो चुके हैं. वहीं, 85 हजार से ज्‍यादा की मौत हो गई है. देश को कोरोना वायरस की वैक्‍सीन (COVID-19 Vaccine) का बेसब्री से इंतजार है. इस बीच अच्‍छी खबर आई है कि ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) की बनाई कोविड-19 वैक्‍सीन ह्यूमन ट्रायल (Human Trial) के तीसरे और आखिरी दौर में पहुंच गई है. ये ट्रायल पुणे (Pune) में सोमवार से शुरू हो जाएगा.

सीरम इंडिया पुणे के ससून हॉस्पिटल में करेगी ह्यूमन ट्रायल
ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्‍सीन की मैन्‍युफैक्‍चरिंग पार्टनर भारतीय कंपनी सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ह्यूमन ट्रायल के लिए तैयार है. बताया जा रहा है कि पुणे के ससून जनरल हॉस्पिटल में कोविशील्ड (Covishield) के तीसरे चरण का ह्यूमन ट्रायल शुरू होगा. कोविशील्‍ड वैक्‍सीन के परीक्षण के लिए काफी वॉलेंटियर्स आगे आ चुके हैं. करीब 150 से 200 लोगों को इस वैक्‍सीन की डोज दी जाएगी. ससून हॉस्पिटल ने आखिरी दौर के ट्रायल के लिए वॉलेंटियर्स का नामांकन करना शुरू कर दिया है.

ये भी पढ़ें- राज्‍यों को जीएसटी नुकसान की भरपाई करेगा केंद्र! वित्‍त मंत्री ने कहा- जिम्‍मेदारी से नहीं भाग रही सरकार
डीसीजीआई ने कुछ शर्तों के साथ दी है ट्रायल की अनुमति


वैक्‍सीन के दूसरे चरण का ट्रायल भारती विद्यापीठ मेडिकल कॉलेज और केईएम हॉस्पिटल में हुए थे. सीरम इंडिया ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की बनाई वैक्‍सीन की मैन्‍युफैक्‍चरिंग के लिए फार्मा कंपनी एस्‍ट्राजेनेका (AstraZeneca) के साथ समझौता किया है. बता दें कि 15 सितंबर को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) डॉ. वीजी सोमानी ने सीरम इंडिया को कोविशील्‍ड के ट्रायल दोबारा शुरू करने की मंजूरी दे दी थी. डीसीजीआई ने इसके लिए जांच के दौरान अतिरिक्त ध्यान देने समेत कई शर्तें रखी हैं.

ये भी पढ़ें- राज्यसभा में IBC संशोधन विधेयक पारित, कंपनी और गारंटर पर एकसाथ हो सकती है कार्रवाई

डीसीजीआई ने 11 सितंबर को लगा दी थी ट्रायल पर रोक
डीसीजीआई ने सीरम इंडिया से विपरित परिस्थतियों से निपटने में नियम के अनुसार तय इलाज की भी जानकारी देने को कहा है. इससे पहले 11 सितंबर को डीसीजीआई ने सीरम इंडिया को निर्देश दिया था कि कोविड-19 की संभावित वैक्‍सीन के ट्रायल पर रोक लगाई जाए क्योंकि एस्ट्राजेनेका ने अध्ययन में शामिल एक व्यक्ति की तबीयत खराब होने के बाद अन्य देशों में परीक्षण रोक दिया था. भारत के अलावा इस वैक्सीन का ब्रिटेन, अमेरिका, ब्राजील समेत अन्य देशों में ट्रायल चल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज