होम /न्यूज /व्यवसाय /Indian Economy के लिए अच्‍छे संकेत, लो बेस इफेक्‍ट के कारण जून 2021 तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 20.1% रही

Indian Economy के लिए अच्‍छे संकेत, लो बेस इफेक्‍ट के कारण जून 2021 तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 20.1% रही

देश की जीडीपी में जून 2021 तिमाही के दौरान शानदार बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

देश की जीडीपी में जून 2021 तिमाही के दौरान शानदार बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

वित्‍त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही के दौरान भारतीय अर्थव्‍यव्‍स्‍था (Indian Economy) में (-)24.4 फीसदी की गिरावट दर्ज क ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस महामारी के दौरान जून 2020 तिमाही में देश की अर्थव्‍यवस्‍था (Indian Economy) में -24.4 फीसदी जबरदस्‍त गिरावट दर्ज की गई थी. इसके बाद धीरे-धीरे अर्थव्‍यवस्‍था में सुधार दर्ज किया जा रहा है. अब जून 2021 तिमाही के दौरान कोरोना संकट के कारण आई गिरावट से उबरते हुए देश की जीडीपी ग्रोथ (GDP Growth) 20.1 फीसदी पर पहुंच गई है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, यह 1990 से लेकर अब तक के किसी वित्‍त वर्ष की किसी भी तिमाही की सबसे बेहतरीन वृद्धि है. बता दें कि मार्च 2021 तिमाही में जीडीपी की ग्रोथ 1.6 फीसदी रही थी. वित्‍त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में लो बेस इफेक्ट (Low-Base Effect) के कारण इतनी तेजी दर्ज की गई है.

    क्‍यों शानदार नजर आ रही है जीडीपी की ग्रोथ
    कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) के कारण साल 2020 के दौरान पूरे देश में आर्थिक गतिविधियां (Economic Activities) ठप रही थीं. ऐसे में जून 2020 तिमाही के मुकाबले जून 2021 तिमाही में आर्थिक वृद्धि (Economic Growth) की रफ्तार शानदार नजर आ रही है. जून 2021 तिमाही में जीडीपी ग्रोथ अनुमान के मुताबिक ही रही है. विशेषज्ञों ने पहली तिमाही में भारत की जीडीपी ग्रोथ 20 फीसदी रहने का ही अनुमान जताया था. नेशनल स्टैटिकल ऑफिस (NSO) की ओर से आज जारी आंकड़ों के मुताबिक, रियल ग्रॉस वैल्यू (Real Gross Value) पहली तिमाही में 18.8 फीसदी बढ़ी.

    ये भी पढ़ें- Rupee में लगातार चौथे दिन जबरदस्‍त उछाल, डॉलर के मुकाबले 29 पैसे की बढ़त, 4 सत्र में 124 पैसे चढ़ा

    जून तिमाही में क्‍यों बढ़ी आर्थिक वृद्धि की रफ्तार
    साल-दर-साल आधार पर देश की आर्थिक वृद्धि की रफ्तार में इस तेजी की वजह ट्रेड (Trade), होटल (Hotel), ट्रांसपोर्ट (Transport) और कम्युनिकेशंस सर्विसेज (Communication Services) में आई 68.3 फीसदी की बढ़ोतरी है. पिछले साल की इसी तिमाही में इन सेक्टर्स में बड़ी गिरावट दर्ज की गई थी.एसबीआई की इकोरैप रिसर्च रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया था कि मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में देश की जीडीपी दर 18.5 फीसदी रह सकती है. वहीं, भारतीय रिजर्व बैंक का अनुमान था कि पहली तिमाही में अर्थव्यवस्था 21.4 फीसदी की दर तक जा सकती है. ऐसे में जीडीपी ग्रोथ रेट रिजर्व बैंक के अनुमान के करीब है. जीडीपी की शानदार ग्रोथ रेट संकेत दे रही है कि भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से सुधर रही है.

    Tags: Business news in hindi, Economic growth, GDP growth, India's GDP, Indian economy

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें