लाइव टीवी

GST रिटर्न से जुड़ी टेंशन को दूर करने के लिए जारी हुआ नया टोल फ्री नंबर, अपनी भाषा में पा सकेंगे सवालों के जवाब

News18Hindi
Updated: February 27, 2020, 8:40 AM IST
GST रिटर्न से जुड़ी टेंशन को दूर करने के लिए जारी हुआ नया टोल फ्री नंबर, अपनी भाषा में पा सकेंगे सवालों के जवाब
GSTN के मुताबिक, हेल्पडेस्क में नई चीजों को जोड़ा गया है. इस पूरी प्रणाली में करदाताओं के अनुभव को बेहतर बनाने के लिये इसे अधिक पारदर्शी और सुदृढ़ बनाया गया है.

GSTN के मुताबिक, हेल्पडेस्क में नई चीजों को जोड़ा गया है. इस पूरी प्रणाली में करदाताओं के अनुभव को बेहतर बनाने के लिये इसे अधिक पारदर्शी और सुदृढ़ बनाया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 27, 2020, 8:40 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. माल एवं सेवाकर नेटवर्क (GSTN- Goods and Services Tax Network) ने GST हेल्पडेस्क के लिए एक नया टोल फ्री नंबर जारी किया है. इस नंबर पर सालभर यानी 365 दिन ऑनलाइन GST रिटर्न भरने से संबंधित सवालों का जवाब मिल सकेगा. GSTN की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि उसने GST हेल्पडेस्क को और बेहतर बनाया है. GSTN ने इसके साथ ही यह भी कहा है कि नया टोल फ्री नंबर जारी करने के बाद GST हेल्पडेस्क का मौजूदा नंबर 0120- 24888999 बंद कर दिया गया है. GST हेल्पडेस्क को दिन में औसतन 8,000 से लेकर 10,000 तक फोन कॉल आते हैं.

आपको बता दें कि गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) रिटर्न को लेकर आम बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण में बताया था कि जीएसटी रिटर्न की प्रक्रिया और आसान हो जाएगी. 1 अप्रैल 2020 से सरलीकृत नई विवरणी प्रणाली शुरू की जाएगी.

हालांकि, उन्होंने कहा कि 1 जुलाई 2017 को लागू किए जाने के बाद से जीएसटी के सामने कुछ दिक्कतें आईं, लेकिन जीएसटी काउंसिल (GST Council) इन्हें दूर करने में सक्रिय रहा. पिछले दो साल में 60 लाख अधिक टैक्सपेयर्स को जोड़ा गया. वित्त मंत्री ने बताया कि जीएसटी एक ऐतिहासिक फैसला है. इस दौरान उन्होंने जीएसटी लागू करने वाले पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को भी याद किया.

GST रिटर्न को लेकर जारी हुआ नया टोल फ्री नंबर



सुबह 9 से रात 9 बजे तक रहेगी सर्विस-GSTN ने नया GST हेल्पडेस्क टोल फ्री नंबर जारी किया है. यह नंबर 1800 103 4786 है. साल के 365 दिन सुबह 9 बजे से लेकर रात 9 बजे तक इस नंबर पर सवाल पूछा जा सकता है.

हेल्पडेस्क पर अब हिन्दी और अंग्रेजी के साथ ही 10 नई स्थानीय भाषाओं में बात हो सकेगी. कुल मिलाकर – बंगाली, मराठी, तेलुगू, तमिल, गुजराती, कन्नड़, ओडिया, मलयालम, पंजाब और असमी, इन 12 भाषाओं में अब हेल्पडेस्क से मदद मिल सकेगी.

ये भी पढ़ें-मार्च में बदल जाएंगे आपके बैंक खाते और ATM समेत ये 5 बड़े नियम!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 27, 2020, 8:38 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर