लाइव टीवी

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से मिला नोटिस असली है या नहीं, यहां करें चेक, रहेंगे टेंशन फ्री

News18Hindi
Updated: November 6, 2019, 4:43 PM IST
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से मिला नोटिस असली है या नहीं, यहां करें चेक, रहेंगे टेंशन फ्री
इनकम टैक्स नोटिस को जांचने की नई सुविधा शुरू हो गई है.

इनकम टैक्स नोटिस पर कंप्यूटर जेनरेटेड डॉक्यूमेंट आइडेंटिफिकेशन नंबर (DIN) होगा. साथ ही, अब नए फैसले के तहत अब ये नंबर टैक्सपेयर्स को मिले वाले सभी डॉक्युमेंट पर भी जरूरी हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2019, 4:43 PM IST
  • Share this:
मुंबई. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) की ओर से मिले नोटिस का पता लगाना अब बहुत आसान हो गया है. इसे जांचने के लिए इनकम टैक्स की ओर नई सुविधा शुरू की गई है. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने इसको लेकर सर्कुलर भी जारी किया है. इसके अनुसार, विभाग से जारी हर इनकम टैक्स नोटिस पर कंप्यूटर जेनरेटेड डॉक्यूमेंट आइडेंटिफिकेशन नंबर (DIN) होगा. साथ ही, अब नए फैसले के तहत अब ये नंबर टैक्सपेयर्स को मिले वाले सभी डॉक्युमेंट पर भी जरूरी हो गया है. यह सिस्टम टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन में अधिक जवाबदेही और पारदर्शिता सुनिश्चित करेगी.

सीबीडीटी के निर्देशों के मुताबिक विशेष परिस्थितियों को छोड़कर बिना DIN के इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से जारी किए गए सभी कागजात और पत्राचार अवैध माने जाएंगे. DIN केवल उसी स्थिति में लगाना जरूरी नहीं होगा, जहां ये जरूर नहीं समझा जाएगा पर इसके लिए प्रधान आयकर आयुक्त या आयकर महानिदेशक से मंजूरी लेनी होगी.



ऐसे चेक करें इनकम टैक्स डिपार्टमेंट नोटिस असली है या नहीं..
Loading...

1 अक्टूबर, 2019 के बाद जारी नोटिस या आर्डर पर DIN प्रिंट होगा. 1 अक्टूबर 2019 से पहले जारी नोटिस या आर्डरों को 31 अक्टूबर, 2019 तक अपलोड कर दिया जाएगा.

ये पूरा प्रोसेस...

स्टेप-1 सबसे पहले www.incometaxindiaefiling.gov.in पर जाएं.

स्टेप-2 'क्विक लिंक्स' टैब के नीचे 'आथेंटिकेट' टैब के तहत आपको 'नोटिस/आर्डर इश्यूड बाई आईटीडी' दिखेगा. इस पर क्लिक करें.

स्टेप-3आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर नया वेबपेज खुल जाएगा. जो डॉक्यूमेंट मिला है, उसे जांचने के लिए आपको दो विकल्प दिए जाएंगे. आप डॉक्यूमेंट के सच का पता डॉक्यूमेंट नंबर या फिर पैन, एसेसमेंट ईयर, नोटिस सेक्शन, महीने, ईयर आफ इश्यू से लगा सकते हैं.

स्टेप-4 कैप्चा नंबर करें और सब्मिट पर क्लिक करें. अगर जारी किया गया नोटिस या आर्डर असली होगा तो वेबसाइट पर वह दिखाई देगा. वेबसाइट पर आप मैसेज दिखेगा : यस, नोटिस इज वैलिड एंड इश्यूड बाई इनकम टैक्स अथॉरिटी.

ये भी पढ़ें-मोदी सरकार के फैसले से हिट हुआ ये बिजनेस! आपके पास ₹50,000/महीने कमाने का मौका

>> अब नोटिस कंप्यूटर आधारित तकनीक के तहत DIN के जरिये भेजे जाएंगे. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने हाल के दिनों में रिटर्न भरने और शिकायत निवारण प्रणाली में डिजिटल को बढ़ावा दिया है. यह उसी दिशा में उठाया गया कदम है.

>> सीबीडीटी के दिशानिर्देश के मुताबिक, ऐसे पत्राचार को 15 दिन के भीतर डिपार्टमेंट के पोर्टल पर अपलोड करना होगा.

>> कई मौकों पर ऐसा देखने को मिला है कि कागजातों को देखकर ये पता नहीं चलता था कि उन्हें असल में जारी किसने किया है.

>> यही वजह है कि ये नई व्यवस्था बनाई जा रही है जिसके जरिए ईमानदार टैक्सपेयर्स को परेशानी का सामना न करना पड़े.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 3:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...