अपना शहर चुनें

States

Budget 2021: वर्क फ्रॉम होम करने पर आपके हाथ में आ सकती है ज्यादा सैलरी, जानिए कैसे

कोरोना महामारी के चलते वर्क फ्रॉम होम का चलन बढ़ गया है.
कोरोना महामारी के चलते वर्क फ्रॉम होम का चलन बढ़ गया है.

पिछले साल की शुरुआत में कोविड-19 महामारी (COVID-19 Pandemic) के प्रकोप के बाद कई कंपनियों ने अपने कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) करने की पॉलिसी अपनाई.

  • Last Updated: January 22, 2021, 9:06 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कंसल्टिंग फर्म पीडब्ल्यूसी इंडिया (PWC India) ने गुरुवार को कहा कि सरकार आगामी बजट (Budget 2021) में वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) करने वाले कर्मचारियों को टैक्स डिडक्शन का लाभ देने पर विचार करना चाहिए. उसका मानना है कि इस कदम से बाजार में मांग को बढ़ावा मिलेगा जैसा कि सरकार चाहती है.

मांग को बढ़ाने के लिए आम लोगों के हाथ पर ज्यादा धन छोड़ने की जरूरत
पीडब्ल्यूसी इंडिया के सीनियर टैक्स पार्टनर राहुल गर्ग ने एक बजट पूर्व सेशन में कहा कि मांग को बढ़ाने के लिए आम लोगों के हाथ पर ज्यादा धन छोड़ने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि एक स्पष्ट सोच यह है कि कोविड-19 के मद्देनजर छोटे और मझोले टैक्सपेयर्स को टैक्स में राहत दी जाए, खासतौर से वर्क फ्रॉम होम करने वाले वेतनभोगी कर्मचारियों के लिए.

ये भी पढ़ें- Budget 2021: टैक्सपेयर्स को झटका दे सकती हैं वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण, टैक्‍स स्लैब में बदलाव की उमीद नहीं
उन्होंने कहा कि वे वर्क फ्रॉम होम करने के दौरान जो भी खर्च कर रहे हैं, जो ऑफिस में काम करने के दौरान इम्प्लॉयर द्वारा किया जाता, तो उस खर्च को उनके वेतन से घटाया जा सकता है, जिससे उनका कर बचेगा और उनके हाथ में ज्यादा धन बचेगा.



पिछले साल की शुरुआत में कोविड-19 महामारी के प्रकोप के बाद कई कंपनियों ने अपने कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम करने की पॉलिसी अपनाई.

ये भी पढ़ें- SBI में है खाता तो फटाफट अपडेट करा दें Pan Card की डिटेल्स, नहीं तो इस ट्रांजेक्शन में हो सकती है परेशानी

ज्यादा धन बचने से बाजार में बढ़ेगी मांग
गर्ग ने कहा कि ऐसा उपाय पूरी तरह न्यायसंगत होगा, क्योंकि यदि बिजनेस उस खर्च को उठाते तो उनके खातों में यह कटौती योग्य खर्च होता. उन्होंने कहा ऐसे में आज वह कटौतीयोग्य राशि वेतनभोगी व्यक्तियों के खातों में होगी और इस तरह रेवेन्यू में किसी तरह की कमी नहीं होगी. उन्होंने कहा कि लोगों के पास ज्यादा धन बचेगा, तो बाजार में मांग भी बढ़ेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज