लैपटॉप, टैबलेट और PC के मैन्युफैक्चरिंग को मिलेगा प्रोत्साहन, PLI स्कीम को कैबिनेट की मंजूरी

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो)

रवि शंकर प्रसाद ने बुधवार को कैबिनेट की बैठक के बाद कहा कि केंद्रीय कैबिनेट ने आईटी हार्डवेयर के लिए 7,350 करोड़ रुपये की पीएलआई स्कीम (PLI Scheme) को मंजूरी दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार ने लैपटॉप, टैबलेट, ऑल-इन-वन पीसी और सर्वर के मैन्युफैक्चरिंग को प्रोत्साहन के लिए प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव यानी पीएलआई (Production Linked Incentive) स्कीम को मंजूरी दे दी है. पीएलआई स्कीम (PLI Scheme) के जरिए सरकार का इरादा घरेलू मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र में वैश्विक कंपनियों को आकर्षित करने का है.

इन हाई-टेक आईटी हार्डवेयर गैजट्स के लिए पीएलआई स्कीम को हरी झंडी से पहले पिछले सप्ताह केंद्रीय कैबिनेट ने दूरसंचार उपकरण मैन्युफैक्चरिंग के लिए 12,195 करोड़ रुपये की योजना को मंजूरी दी थी.

ये भी पढ़ें- रेल यात्रियों के लिए बड़ी खबर! उत्‍तराखंड में स्विट्जरलैंड की तर्ज पर बनाया जाएगा रेल और रोपवे नेटवर्क

आईटी हार्डवेयर के लिए 7,350 करोड़ रुपये की पीएलआई स्कीम
संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने बुधवार को कैबिनेट की बैठक के बाद कहा कि केंद्रीय कैबिनेट ने आईटी हार्डवेयर के लिए 7,350 करोड़ रुपये की पीएलआई स्कीम को मंजूरी दी है. इसके तहत लैपटॉप, टैबलेट, ऑल-इन-वन पीसी और सर्वर आएंगे. प्रसाद ने कहा कि यह योजना भारत को इन प्रोडक्ट्स के बड़े मैन्युफैक्चरिंग केंद्र के रूप में पेश करेगी. इससे निर्यात बढ़ेगा और रोजगार के नए अवसरों का सृजन होगा.

ये भी पढ़ें- रिटायरमेंट को हैप्पी बनाने के लिए SBI लाया खास सुविधा, सिर्फ इन नंबर पर देना है मिस्ड कॉल

निर्यात 2.45 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान



योजना के तहत चार साल के दौरान भारत में इन उत्पादों के मैन्युफैक्चरिंग के लिए 7,350 करोड़ रुपये का प्रोत्साहन दिया जाएगा. चार साल में इन उत्पादों का मैन्युफैक्चरिंग 3.26 लाख करोड़ रुपये और निर्यात 2.45 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज