लाइव टीवी

सरकार ने जेम पोर्टल से की 40 हजार करोड़ की खरीदारी, आप भी इससे जुड़कर कर सकते हैं कमाई

भाषा
Updated: February 10, 2020, 5:42 PM IST
सरकार ने जेम पोर्टल से की 40 हजार करोड़ की खरीदारी, आप भी इससे जुड़कर कर सकते हैं कमाई
जेम पोर्टल पर खरीद-फरोख्त 40,000 करोड़ रुपये तक पहुंची

वाणिज्य मंत्रालय ने अगस्त 2016 में GeM को शुरू किया था. इसका मकसद सरकारी विभागों/मंत्रालयों की खरीद के लिए एक खुली और पारदर्शी व्यवस्था बनाना है. अभी इस मंच पर 3.24 लाख से अधिक वेंडर्स पंजीकृत हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. सार्वजनिक क्षेत्र की खरीदारी के लिए बनाए गए ऑनलाइन पोर्टल ‘जेम’ (GeM) (गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस) से 40,000 करोड़ रुपये तक की सरकारी खरीद-फरोख्त की गयी है. यह जानकारी सोमवार को व्यय सचिव टी.वी सोमनाथन ने दी. उन्होंने कहा कि सार्वजनिक खरीद व्यवस्था का पूरा जोर अर्थव्यवस्था, निष्पक्षता और पारदर्शिता पर है. इसलिए सार्वजनिक खरीद व्यवस्था की क्षमता सरकार के राजकोषीय अनुशासन में एक बड़ा अंतर पैदा करती है.

सोमनाथन ने कहा कि इसे सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने हाल ही में साधारण वित्तीय नियमों (GFR) और खरीद नियमावली को संशोधित किया है और सार्वजनिक खरीद के लिए प्रौद्योगिकी के उपयोग को बढ़ावा दिया है. ये भी पढ़ें: खुशखबरी! BOB ने ब्याज दरों में की कटौती, 12 फरवरी से कम हो जाएगी आपकी होम लोन EMI



GeM में 3.24 लाख से अधिक वेंडर्स रजिस्टर्ड

वाणिज्य मंत्रालय ने अगस्त 2016 में GeM को शुरू किया था. इसका मकसद सरकारी विभागों/मंत्रालयों की खरीद के लिए एक खुली और पारदर्शी व्यवस्था बनाना है. अभी इस मंच पर 3.24 लाख से अधिक वेंडर्स पंजीकृत हैं.

सोमनाथन यहां वैश्विक खरीद शिखर सम्मेलन 2020 को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा, हमारे पास जेम है, एक केंद्रीय खरीद पोर्टल. राज्य सरकारों की निविदाओं को मिलाकर इस पर वर्तमान में एक लाख टेंडर हैं. इसके अलावा हमारे पास केंद्रीय सार्वजनिक खरीद पोर्टल (सीपीपीपी) पर सालाना 18 से 19 लाख करोड़ रुपये की निविदाओं की व्यवस्था है. उन्होंने कहा, 2016 में सरकार ने जेम को शुरू किया. इस पर अब तक 40,000 करोड़ रुपये से अधिक की खरीद-फरोख्त की जा चुकी है. ये भी पढ़ें: शहद बेचकर 4.3 लाख रुपये कमाती है ये महिला, आपके पास भी शानदार मौका

 

वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में भी कहा था कि सरकार की योजना जेम पोर्टल का कारोबार बढ़ाकर तीन लाख करोड़ रुपये तक करने की है. सीपीपीपी वर्ष 2012 से परिचालन में है.

ये भी पढ़ें:

बड़ी खबर! PM-Kisan सम्मान निधि के लाभार्थियों को दिए जाएंगे किसान क्रेडिट कार्ड, मिलेगा ये बड़ा लाभ
50 हजार रुपये लगाकर सालाना कमाएं ₹2.50 लाख, शुरू करें इसकी खेती
अब घर बैठे बदल सकेंगे ट्रेन बोर्डिंग स्टेशन, बस फॉलो करने होंगे ये 4 स्टेप्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 5:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर