लाइव टीवी

नेचुरल गैस के लिए बनेगा ट्रेडिंग हब, पेट्रोलियम मंत्रालय ने कैबिनेट को भेजा प्रस्ताव

News18Hindi
Updated: January 16, 2020, 6:33 PM IST

सूत्रों के मुताबिक मंत्रालयों को कंसल्टेशन का कैबिनेट नोट भेजा गया है. नए कैबिनेट नोट में GAIL के पाइपलाइन बिजनेस को अलग करने का भी प्रस्ताव है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 16, 2020, 6:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पॉवर एक्सचेंज (Power Exchange) के तर्ज पर नेचुरल गैस (Natural Gas) के लिए ट्रेडिंग हब (Trading Hub) बनाने के लिए सरकार एक्शन में आ गई है. सूत्रों से मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक पेट्रोलियम मंत्रालय (Petroleum Ministry) ने नया प्रस्ताव कैबिनेट को भेजा है.

सूत्रों के मुताबिक मंत्रालयों को कंसल्टेशन का कैबिनेट नोट भेजा गया है. नए कैबिनेट नोट में गेल के पाइपलाइन बिजनेस को अलग करने का भी प्रस्ताव है. सूत्रों के मुताबिक GAIL के पाइपलाइन बिजनेस की अलग सब्सिडियरी बन सकती है. नैचुरल गैस के लिए नेशनल ट्रेडिंग हब वित्त वर्ष 2021 की पहली तिमाही तक ऑपरेशनल हो जाएगा. वित्त वर्ष 21 के पहले क्वार्टर तक ये ट्रेडिंग हब शुरू हो जाएगा.

ये भी पढ़ें: 'भारत में 1 अरब डॉलर निवेश कर कोई एहसान नहीं कर रहे दुनिया के सबसे अमीर शख्स'

सूत्रों के मुताबिक, स्पेशल पर्पज व्हीकल (SPV) के जरिए ट्रेडिंग हब के गठन का प्रस्ताव है. ट्रेडिंग हब में किसी का मालिकाना हक नहीं होगा. कंपनियों को डोमेस्टिक गैस को डिमांड के आधार पर बेचने की आजा़दी मिल सकती है. प्रियॉरिटी सेक्टर के लिए सस्ते दरों पर ही नेचुरल गैस सप्लाई की सिफारिश की गई है. रेगुलेटेड सेक्टर को छोड़कर डोमेस्टिक गैस मार्केट प्राइस पर बेचने का अधिकार मिलेगा.

(प्रकाश प्रियदर्शी, संवाददाता- CNBC आवाज़)

यह भी पढ़ें:

अब चुटकियों में बदलें आधार कार्ड में अपने घर का पता! UIDAI ने वीडियो जारी कर बताया सबसे आसान तरीकाFASTag लगाना भूल गए तो भी नहीं देना होगा दोगुना टैक्स, सरकार ने दी बड़ी राहत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 5:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर