सरकार ने घर खरीददारों को दी इनकम टैक्स में बड़ी राहत! जानिए कैसे उठा सकते हैं फायदा

सरकार की इस सुविधा का लाभ 30 जून 2021 तक ही मिलेगा
सरकार की इस सुविधा का लाभ 30 जून 2021 तक ही मिलेगा

अगर आप भी घर खरीदना चाहते हैं तो अभी अच्छा मौका है. सरकार ने घरों की खरीद पर सर्कल रेट में भारी छूट की घोषणा की है. सरकार ने सर्किल रेट में छूट को 10 फीसद से बढ़ाकर 20 फीसद कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 6:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी सरकार ने घर खरीदने वालों को दिवाली का तोहफा दिया है. सरकार ने घरों की खरीद पर सर्कल रेट में भारी छूट की घोषणा की है. सरकार ने सर्किल रेट में छूट को 10 फीसद से बढ़ाकर 20 फीसद कर दिया है. वित्त मंत्री ने दो करोड़ रुपए तक की हाउसिंग यूनिट्स की पहली बार सर्किल रेट से कम कीमत पर बिक्री पर इनकम टैक्स नियमों में छूट की घोषणा की. सरकार की इस घोषणा से रेजिडेंशियल रियल एस्टेट को बढ़ावा मिलेगा और मध्यम वर्ग राहत महसूस कर सकेगा. आइए जानते हैं कैसे इसका फायदा उठाया जा सकता है.

सेलर बायर दोनों को टैक्स में छूट पाने के ये हैं नए नियम
>> आपका फ्लैट या मकान नया होना चाहिए ये रिसेल वाले फ्लैट पर लागू नहीं होगा.
>> घर की कीमत 2 करोड़ से कम होनी चाहिए.
>> इस सुविधा का लाभ 30 जून 2021 तक ही मिलेगा.



जानिए क्या होगा फायदा
>> सेक्शन 43C और 50C के तहत बायर और सेलर को टैक्स चुकाना पड़ता था.
>> स्टांप ड्यूटी और एग्रीमेंट वैल्यू में 10% से अधिक अंतर पर LTCG टैक्स चुकाना पड़ता था.



ये भी पढ़ें : बड़ा झटका! HDFC समेत इन दो प्राइवेट बैंकों ने घटाईं एफडी की ब्याज दरें, चेक करें नए रेट्स

आत्मनिर्भर भारत पैकेज 3.0 के अंतर्गत की घोषणा
बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को आत्मनिर्भर भारत पैकेज 3.0 के अंतर्गत यह घोषणा की थी. वित्त मंत्री ने गुरुवार को 2,65,080 करोड़ रुपए के आर्थिक राहत पैकेज की घोषणा की थी. इस पैकेज में सरकार ने उद्योगों के साथ ही मजदूर, किसान और मध्यम वर्ग को भी राहत दी है. वित्त मंत्री ने कहा, घर खरीदारों और डेवलपर्स को आयकर में राहत दी जाती है. सर्किल रेट और एग्रीमेंट वैल्यू में अंतर को 10 फीसद से बढ़ाकर 20 फीसद करने का निर्णय भी लिया गया है.



दिवाली गिफ्ट पर ऐसे लगेगा जीएसटी
यदि आप अलग-अलग सामान की एक बास्केट बना कर गिफ्ट करते हैं तो अलग-अलग GST वाले प्रोडक्ट्स की एक साथ पैकेजिंग पर जीएसटी लगेगा. बास्केट में मौजूद GST के सबसे उंची दर वाले प्रोडक्ट के हिसाब से लगेगा पूरी बास्केट पर टैक्स लगाया जाएगा. इससे छूट के दायरे में आने वाले सामान पर GST लग जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज