Home /News /business /

सरकारी कर्मचारियों को दिवाली से पहले बड़ा तोहफा, GPF पर बढ़ी ब्याज दरें

सरकारी कर्मचारियों को दिवाली से पहले बड़ा तोहफा, GPF पर बढ़ी ब्याज दरें

सरकार ने जनरल प्रोविडेंट फंड (GPF) पर ब्याज दरें बढ़ा दी है. अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के लिए GPF दर बढ़ाकर 8 फीसदी कर दी गई है. इसका फायदा लाखों सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा.

सरकार ने जनरल प्रोविडेंट फंड (GPF) पर ब्याज दरें बढ़ा दी है. अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के लिए GPF दर बढ़ाकर 8 फीसदी कर दी गई है. इसका फायदा लाखों सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा.

सरकार ने जनरल प्रोविडेंट फंड (GPF) पर ब्याज दरें बढ़ा दी है. अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के लिए GPF दर बढ़ाकर 8 फीसदी कर दी गई है. इसका फायदा लाखों सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा.

    सरकार ने जनरल प्रोविडेंट फंड (GPF) पर ब्याज दरें बढ़ा दी हैं . अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के लिए  दर 7.6 फीसदी से बढ़ाकर 8 फीसदी कर दी गई है. इसका फायदा लाखों सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा. आपको बता दें कि पिछले दिनों सरकार ने छोटी बचत योजनाओं की दरें भी 0.40 फीसदी तक बढ़ा दी थीं.

    जीपीएफ या जनरल प्रोविडंट फंड एक प्रोविडंट फंड खाता होता है जिसे सिर्फ सरकारी कर्मचारी ही खुलवा सकते हैं. एक सरकारी कर्मचारी इस खाते में अपने वेतन का एक निश्चित फीसदी योगदान करके फंड का सदस्य बन सकता है. (ये भी पढ़ें-सिर्फ 100 रुपये में शुरू करें पोस्ट ऑफिस की ये स्कीम, मिलेगा बचत खाते से ज्यादा मुनाफा)

    जीपीएफ खाते की जरूरी बातें-
    इस खाते में जमा राशि का भुगतान आम तौर पर कर्मचारी की सेवानिवृत्ति/ रिटायरमेंट के बाद किया जाता है. इस फंड में जमा रकम आयकर की धारा 80सी के अंतर्गत टैक्स छूट के दायरे में आती है. जीपीएफ खाते में जमा रकम पर 8 फीसदी की दर से ब्याज दिया जाता है. (ये भी पढ़ें-किसान विकास पत्र में तेजी से पैसा होता है डबल, जानिए जरूरी बातें)

     



    कौन खुलवा सकता है खाता- भारत सरकार या कर सरकारी कर्मचारी जनरल प्रोविडंट फंड में अपना अकाउंट खुलवा सकता है. यह खाता एक निश्चित आय वर्ग के कर्मचारियों के लिए जरूरी है. निजी क्षेत्रों में काम करने वाले कर्मचारी इस अकाउंट के लिए पात्र नहीं होते हैं.

    कैसे काम करता है जीपीएफ-जनरल प्रोविडंट फंड एक तरह का सेविंग टूल है. जो एक कर्मचारी सरकार के साथ खोल सकता है. इस खाते में, खाताधारक एक निश्चित अवधि के लिए नियमित किस्तों के रूप में अपने वेतन का एक हिस्सा खाते में योगदान करता है. इस खाते में जमा राशि खाताधारक को रिटायरमेंट के समय दी जाती है. इसमें खाताधारक खाता खुलवाने के समय ही अपना नॉमिनी भी चुन सकता है. अगर खाताधारक को कुछ होता है तो नॉमिनी को अकाउंट से जुड़े तमाम फायदों का लाभ मिलता है.

    जीपीएफ में खास फीचर- जीपीएफ खाते से जुड़ा एक खास फीचर होता है जिसे जीपीएफ एडवांस के नाम से भी जाना जाता है. यह जनरल प्रोविडंट फंड की सेविंग के अंतर्गत दिया गया इंटरेस्ट फ्री (ब्याजमुक्त) लोन होता है. इसे लोन इसलिए कहा जाता है क्योंकि उधार ली गई राशि का नियमित मासिक किश्तों में वापस भुगतान किया जाता है. जीपीएफ खाते से अग्रिम रूप में निकाली गई राशि पर कोई ब्याज का भुगतान नहीं करना होता है. आप अपने पूरे करियर में आवश्यकता पड़ने पर जितने चाहें जीपीएफ अग्रिम ले सकते हैं.

    Tags: Central government, Employee provident fund, Employees’ Provident Fund (EPF), Employment Provident Fund Organisation, Provident fund savings, Public Provident Fund

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर