एयरपोर्ट पर ये सामान ले जाना पड़ेगा भारी, सख्त कानून लाने की तैयारी में सरकार

प्रतीकात्मक तस्वीर

एयरपोर्ट के भीतर संदिग्ध वस्तुएं ले जाने वाले लोगों के पकड़े जाने पर सख्त धाराएं लगाने पर विचार किया जा रहा है. साथ ही संदिग्ध वस्तुओं की श्रेणियों को भी बढ़ाने की योजना है, जिसमें अनधिकृत ड्रोन भी शामिल होंगे.

  • Share this:
भारत में हवाई यात्रा को सुरक्षित बनाने के लिए सरकार संदिग्ध वस्तुओं को एयरपोर्ट के भीतर ले जाने वाले लोगों पर कड़ी कार्रवाई करने का विचार कर रही है. इसके अलावा सुरक्षा के लिहाज से सरकार कई कदम उठाने की योजना बना रही है. सरकार का मानना है कि मौजूदा एंटी हाईजैकिंग कानून भी प्रभावी ढंग से काम करेगा, जिससे लोगों का हवाई सफर आनेवाले दिनों में ज्यादा सुरक्षित होगा.

बदलते समय के साथ हवाई यात्रा को सुरक्षित करने के लिए सुरक्षा एजेंसियां लगातार तैयारी करती रहती हैं. मौजूदा समय में अनधिकृत ड्रोन कैमरों की एयरपोर्ट परिसर में रोकथाम सुरक्षा एजेंसियों के लिए भी बड़ी चुनौती है, जिसके लिए एक विस्तृत योजना बनाई जा रही है. इसके अलावा सरकार संदिग्ध वस्तुओं को एयरपोर्ट के भीतर ले जाने वाले लोगों पर अत्यधिक सख्त कार्रवाई करने की योजना बना रही है.

ये भी पढ़ें: सस्ते में सोना खरीदने का सुनहरा मौका, सिर्फ 2 दिन और चलेगी स्कीम

एयरपोर्ट के भीतर संदिग्ध वस्तुएं ले जाने वाले लोगों के पकड़े जाने पर सख्त धाराएं लगाने पर विचार किया जा रहा है. साथ ही संदिग्ध वस्तुओं की श्रेणियों को भी बढ़ाने की योजना है, जिसमें अनधिकृत ड्रोन भी शामिल होंगे. इसके साथ ही एयरपोर्ट पर अत्याधुनिक सीटीएक्स मशीन भी लगाई जाएगी जो कि बारीक और संदिग्ध वस्तुओं का भी पता लगा सकती है.

सरकार और सुरक्षा एजेंसियां मानती हैं कि इन नए कदमों से मौजूदा एंटी हाईजैकिंग कानून को और धार मिलेगी जिसे दो साल पहले ही लागू किया गया था. इस कानून के तहत दोषी पाए जाने पर हाईजैकर और उसकी मदद करने वाले लोगों पर एक ही सजा का प्रावधान होगा और अधिकतम सजा मृत्युदंड भी हो सकती है.

ये भी पढ़ें: दुनिया की सबसे महंगी चीज! 1 ग्राम खरीदने के लिए खर्च करने होंगे 1.82 लाख करोड़ रुपये

इस कानून में हवाई जहाज को नुकसान पहुंचाए जाने की नीयत से संदिग्ध वस्तु ले जाने पर दस साल तक की सजा का प्रावधान है. गौरतलब है कि हवाई यात्रा के खतरों से निपटने के लिए एंटी हाईजैकिंग एक्ट1982 में बदलाव किया गया था और 2016 में नया एंटी हाईजैकिंग एक्ट बना था. जिसके बाद से लगातार अलग-अलग एजेंसियां इस कानून की मदद से हवाई खतरों का मुकाबला करने की रणनीति बना रही हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.