अब GST चोरी पर लगेगी लगाम, सरकार ने ई-वे बिल सिस्टम में किया ये बदलाव!

अब GST चोरी पर लगेगी लगाम, सरकार ने ई-वे बिल सिस्टम में किया ये बदलाव!
अब ई-वे बिल जेनरेट करने के लिए पिन कोड डालना जरूरी होगा. साथ ही एक चालान पर सिर्फ एक ही ई-वे बिल जेनरेट होगा.

अब ई-वे बिल जेनरेट करने के लिए पिन कोड डालना जरूरी होगा. साथ ही एक चालान पर सिर्फ एक ही ई-वे बिल जेनरेट होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2019, 12:14 PM IST
  • Share this:
कारोबारियों के लिए गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) को लेकर एक अहम खबर. सरकार ने GST चोरी पर लगाम के लिए मौजूदा ई-वे बिल (e-way bill) सिस्टम में बड़ा बदलाव कर दिया है. अब ई-वे बिल जेनरेट करने के लिए पिन कोड डालना जरूरी होगा. साथ ही एक चालान पर सिर्फ एक ही ई-वे बिल जेनरेट होगा. (ये भी पढ़ें: ध्यान दें! सुकन्या, PPF में है खाता तो घर बैठे आज जरूर निपटा लें ये काम, वरना होगी परेशानी!)

पिन कोड डालना होगा जरूरी
सरकार जीएसटी चोरी में लगाम के लिए ई-वे बिल सिस्टम में बदलाव किया है. अब बिना पोस्टल पिन कोड डाले e-way bill जेनेरेट नहीं होगा. लोडिंग-अनलोडिंग दूरी की गणना करने में इस्तेमाल होगा. अब पिनकोड के जरिए ऑटोमेटिक तरीके से दूरी की गणना होगी. अब माल के लोडिंग और अनलोडिंग लोकेशन का पिन कोड जरूरी होगा. पिनकोड के मुताबिक डिलीवरी की वास्तविक दूरी तय होगी. वास्तविक दूरी से 10 फीसदी ऊपर-नीचे की गुंजाइश मिलेगी.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! 1 अप्रैल से लाखों कारोबारियों को मिलेंगी ये दो बड़ी छूट, नोटिफिकेशन जारी
एक चालाना पर एक ई-वे बिल होगा जेनरेट


अब एक चालान पर सिर्फ एक ही e-way bill जेनरेट होगा. पहले एक चालान से कई ई-वे बिल जेनरेट की सुविधा थी. कनसाइनर, कनसाइनी और ट्रांसपोर्टर को सिंगल बिल मिलेगा. 50,000 से ज्यादा के माल ढुलाई के लिए ई-वे बिल जरूरी होगा.

ये भी पढ़ें: सस्ते AC-फ्रिज खरीदने का शानदार मौका, मिल रही इतने रुपये की छूट

ये भी पढ़ें: आपका PAN कार्ड Aadhaar से लिंक है या नहीं, घर बैठें इन 5 स्टेप में करें पता

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज