लाइव टीवी

छोटे कारोबारियों और बि​जनेस शुरू करने वालों को सरकार का तोहफा, इस शुल्क में की कटौती

भाषा
Updated: September 16, 2019, 11:40 PM IST
छोटे कारोबारियों और बि​जनेस शुरू करने वालों को सरकार का तोहफा, इस शुल्क में की कटौती
वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि इस कदम का मकसद नवोन्मेषण को प्रोत्साहन देना है. IPR आवेदन दाखिल करने के लिए किसी व्यक्ति, समूह या उद्योग को शुल्क देना होता है.

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि इस कदम का मकसद नवोन्मेषण को प्रोत्साहन देना है. IPR आवेदन दाखिल करने के लिए किसी व्यक्ति, समूह या उद्योग को शुल्क देना होता है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 16, 2019, 11:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार ने सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उपक्रमों (MSME) तथा Start-Up के लिए विभिन्न बौद्धिक संपदा अधिकारों (IPR) मसलन पेटेंट और डिजाइन के लिए शुल्कों में भारी कटौती का प्रस्ताव किया है. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि इस कदम का मकसद नवोन्मेषण को प्रोत्साहन देना है. आईपीआर आवेदन दाखिल करने के लिए किसी व्यक्ति, समूह या उद्योग को शुल्क देना होता है.

क्या होगा स्टार्टअप के लिए आवेदन दाखिल करने का चार्ज

प्रस्ताव के अनुसार MSME और स्टार्टअप के लिए पेटेंट आवेदन दाखिल करने के शुल्क को 4,000 या 4,400 रुपये से घटाकर 1,600 या 1,750 रुपये किया जा सकता है. इसी तरह तेजी से समीक्षा के लिए शुल्क को 25,000 रुपये से घटाकर 8,000 रुपये किया जा सकता है. इसी तरह पेटेंट नवीकरण के शुल्क में भी कटौती की जा सकती है.

ये भी पढ़ें: अमेजन की 'ग्रेट इंडियन फेस्टिवल सेल', कैशबैक के साथ मिलेगा बंपर डिस्काउंट



इन चार्जेज में भी कटौती होगी

डिजाइन आवेदन के लिए एमएसएमई और स्टार्टअप का शुल्क 2,000 रुपये से घटाकर 1,000 रुपये किया जाएगा. भौगोलिक पहचान (GI) के लिए आवेदन के शुल्क को समाप्त करने का प्रस्ताव है. इसी तरह प्रमाणपत्र जारी करने और जीआई नवीकरण के शुल्क में भी कटौती का प्रस्ताव है.
Loading...

पेटेंट आवेदन में वृद्धि

वर्तमान में इन कार्यों के लिये शुल्क क्रमश: 500 रुपये, 100 रुपये और एक हजार रुपये है. मंत्रालय ने कहा कि घरेलू स्तर पर पेटेंट के लिए आवेदन करने का आंकड़ा 2013-14 में 22 प्रतिशत था, जो 2018-19 में बढ़कर 34 प्रतिशत हो गया. मंत्रालय ने बताया कि स्कूलों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों तथा शोध एवं विकास संस्थानों में बौद्धिक संपदा जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें: Zomato पर भारी पड़ रहा #Logout कैंपेन, 5 हजार डिलिवरी पार्टनर्स ने छोड़ा साथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 16, 2019, 11:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...