सरकार का नया प्लान, EPFO में हो सकता है बड़ा बदलाव, जानें किन लोगों को मिलेगा फायदा

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन

केंद्र सरकार EPFO में बड़ा बदलाव लाने की तैयारी कर रही है. इस साल सरकार पीएम श्रम योगी मानधन योजना (pm shram yogi mandhan yojana) और नेशनल पेंशन स्कीम (National Pension Scheme) को ईपीएफओ के दायरे में लाने का प्लान बना रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली: केंद्र सरकार EPFO में बड़ा बदलाव लाने की तैयारी कर रही है. इस साल सरकार पीएम श्रम योगी मानधन योजना (pm shram yogi mandhan yojana) और नेशनल पेंशन स्कीम (National Pension Scheme) को ईपीएफओ के दायरे में लाने का प्लान बना रही है. मनी कंट्रोल की खबर के मुताबिक, सरकार PM-SYM और NPS दोनों स्कीमों को EPFO के दायरे में लाने का विचार कर रही है. फिलहाल ये अभी इन दोनों स्कीमों का एडमिनिस्ट्रेशन एलआईसी के पास है.

सरकार का ऐसा मानना है कि जब ये स्कीम ईपीएफओ के दायरे में आ जाएगी तो इसमें निवेश करने वालों की संख्या में इजाफा होगा. अभी इस समय काफी कम लोग इस स्कीम में निवेश कर रहे हैं.

नई दिल्ली: Gold Price Today: आज फिर सस्ता हो गया सोना-चांदी, खरीदारी से पहले चेक कर लें 10 ग्राम का रेट



क्या है पीएम श्रम योगी मानधन योजना?
बता दें कि पीएम श्रम योगी मानधन योजना को फरवरी 2019 में शुरू किया गया था. असंगठित क्षेत्र के कम आयवर्ग वालों को बुढ़ापे में वित्तीय सुरक्षा के लिए मोदी सरकार की एक खास स्कीम पीएम श्रम योगी मानधन है. इस स्कीम के जरिए हर महीने बेहद ही कम अंशदान करने पर 60 साल की उम्र के बाद मंथली 3000 रुपये सा 36 हजार रुपये सालाना पेंशन का प्रावधान है.

इस स्कीम के तहत ऐसा कोई भी भारतीय नागरिक जुड़ सकता है, जिसकी उम्र 18 साल से 40 साल के बीच हो. इस स्कीम के तहत खाता बेहद ही आसान शर्तों और कम डॉक्युमेंटेशन के साथ खुल जाता है.

यह भी पढ़ें: Indigo Paints IPO: इंडिगो पेंट्स में लगाया है पैसा तो फटाफट चेक करें आपको शेयर्स मिले या नहीं, ये है तरीका

NPS (National Pension System)
नेशनल पेंशन सिस्टम को साल 2019 में लाया गया था. इस स्कीम के तहत केंद्र सरकार व्यापारियों और ट्रेडर्स के लिए पेंशन प्लान लेकर आई थी. इसमें रिटेल कारोबारी, दुकानदार और अपना बिजनेस करने वाले लोग निवेश कर सकते हैं. इसके अलावा बुढ़ापे में पेंशन का फायदा उठा सकते हैं. 60 साल के बाद इस स्कीम में पेंशन की सुविधा दी जाती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज