चीन-वियतनाम से आयातित कुछ उत्पादों पर शुल्क लगा सकती है सरकार

डीजीटीआर ने इन उत्पादों पर 29.88 प्रतिशत और 10.33 प्रतिशत के दायरे में शुल्क लगाने की सिफारिश की है.

भाषा
Updated: August 5, 2019, 5:13 PM IST
चीन-वियतनाम से आयातित कुछ उत्पादों पर शुल्क लगा सकती है सरकार
चीन-वियतनाम से आयातित कुछ उत्पादों पर शुल्क लगा सकती है सरकार
भाषा
Updated: August 5, 2019, 5:13 PM IST
सरकार चीन और वियतनाम से आयातित कुछ स्टील पाइपों और ट्यूब्स पर पांच साल के लिए प्रतिपूरक शुल्क लगा सकती है. इस कदम का मकसद घरेलू कंपनियों को सस्ते आयात से संरक्षण देना है.

वाणिज्य मंत्रालय की जांच इकाई व्यापार उपचार महानिदेशालय (डीजीटीआर) ने इस बारे में जांच पूरी करने के बााद ‘वेल्डेड स्टेनलेस स्टील पाइप और ट्यूब्स’ पर प्रतिपूरक शुल्क लगाने की सिफारिश की है.

कई संगठनों ने स्टेनलेस स्टील पाइप एंड ट्यूब्स मैन्युफैक्चरर एसोसिएशन, साउथ इंडिया स्टेनलेस स्टील पाइप एंड ट्यूब मैन्युफैक्चरर एसोसिएशन और हरियाणा स्टेनलेस स्टील पाइप एंड ट्यूब मैन्युफैक्चरर एसोसिएशन ने इस बारे में शिकायत की थी. जिसके बाद डीजीटीआर ने इसकी जांच की थी.

स्टील पाइपों और ट्यूब्स पर पांच साल के लिए प्रतिपूरक शुल्क
स्टील पाइपों और ट्यूब्स पर पांच साल के लिए प्रतिपूरक शुल्क


डीजीटीआर ने शुल्क लगाने की सिफारिश
अपने अंतिम निष्कर्ष में निदेशालय ने पाया है कि इन दो देशों से ये उत्पाद सब्सिडी वाली कीमत पर निर्यात किए जा रहे हैं. डीजीटीआर ने इन उत्पादों पर 29.88 प्रतिशत और 10.33 प्रतिशत के दायरे में शुल्क लगाने की सिफारिश की है. डीजीटीआर शुल्क लगाने की सिर्फ सिफारिश करता है जबकि शुल्क लगाने पर अंतिम फैसला वित्त मंत्रालय करता है.

ये भी पढ़ें- राज्यसभा में पीडीपी सांसदों ने फाड़े कपड़े, धरने पर बैठे गुलाम नबी आजाद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 5, 2019, 5:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...