कर्मचारियों को वेतन देने के लिए अगले महीने इस राज्य सरकार को लेना पड़ सकता है कर्ज

कर्मचारियों को वेतन देने के लिए अगले महीने इस राज्य सरकार को लेना पड़ सकता है कर्ज
'कर्मचारियों की सैलरी देने के लिए अगले महीने सरकार को लेना पड़ सकता Loan'

कोरोना की वजह से उद्योग-धंधे बंद होने से सरकार को प्राप्त होने वाले राजस्व में भारी कमी आई है. इसकी वजह से सरकारी तिजोरी खाली होती जा रही है और अब हाल ये है कि अगले महीने सरकार के पास अपने कर्मचारियों को वेतन देने में कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना की वजह से उद्योग-धंधे बंद होने से सरकार को प्राप्त होने वाले राजस्व में भारी कमी आई है. इसकी वजह से सरकारी तिजोरी खाली होती जा रही है और अब हाल ये है कि अगले महीने सरकार के पास अपने कर्मचारियों को वेतन देने में कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है. सरकारी कर्मचारियों का वेतन देने के लिए सरकार को कर्ज भी लेना पड़ सकता है ऐसी चिंता महाराष्ट्र के मदद एवं पुनर्वसन मंत्री विजय वडेट्टीवार ने पुणे में संपन्न प्रेस कॉन्फ्रेंस में व्यक्त की.

अगले महीने में कर्मचारियों को वेतन देने के लिए लोन लेना पड़ सकता
प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए वडेट्टीवार ने कहा कि कोरोना के कारण सरकारी राजस्व में कमी आई है. जिसकी वजह से अगले महीने में कर्मचारियों को वेतन देने के लिए लोन लेना पड़ सकता है. इसके साथ ही मदद एवं पुनर्वसन, स्वास्थ्य और अन्य दो विभागों को छोड़कर बाकी विभागों में वेतन कटौती की नौबत आ गई है. हालांकि डॉक्टर, नर्स और उनसे संबंधित कोरोना योद्धाओं को वेतन दिया जायेगा ये भी उन्होंने स्पष्ट किया.

ये भी पढ़ें:- भारत द्वारा लगाए 59 चीनी ऐप पर बैन से परेशान है China, हो रहा अरबों का नुकसान
उद्योग कारोबार चलाना कठिन हो गया


उन्होंने आगे कहा कि कोरोना वायरस के कारण राज्य में उद्योग कारोबार चलाना कठिन हो गया है. इसकी वजह से राज्य की आर्थिक स्थिति बहुत गंभीर हो गई है. केंद्र सरकार ने आर्थिक पैकेज का एक भी पैसा अभी तक नहीं दिया है. इसलिए गंभीर परिस्थिति को देखते हुए राज्य को केंद्र द्वारा शीघ्र ही मदद मिलनी चाहिए. लेकिन ऐसा होता दिख नहीं रहा है.

ये भी पढ़ें:- FD से ज्यादा मुनाफा देने वाली सरकार की नई स्कीम शुरू!हर 6 महीने में होगा फायदा

लोकसत्ता में छपी खबर के मुताबिक उन्होंने कहा कि राज्य की सहायता करने की बजाय कुछ लोग सरकार पर टिप्पणी कर रहे हैं. जिन्होंने मुख्यमंत्री सहायता निधि में मदद करने का आवाहन करने की बजाय प्रधानमंत्री निधि में मदद करने की अपील की है उन्हें राज्य सरकार के खिलाफ बोलने का कोई अधिकार नहीं है. इन शब्दों में मंत्री वडेट्टीवार ने राज्य के भाजपा नेताओं पर निशाना साधा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading