लाइव टीवी

India Lockdown: सरकार की व्यापारियों को चेतावनी मुनाफाखोरी की तो सख्त कार्रवाई, नहीं होगी बाजार में जरूरी सामान की कमी

News18Hindi
Updated: March 25, 2020, 1:14 PM IST
India Lockdown: सरकार की व्यापारियों को चेतावनी मुनाफाखोरी की तो सख्त कार्रवाई, नहीं होगी बाजार में जरूरी सामान की कमी
व्यापारियों को मुनाफाखोरी नहीं करने की चेतावनी दी

केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने ट्वीट कहा कि सरकार बाजार में आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता पर नजर बनाए हुए है. पासवान ने इस दौरान मैन्युफैक्चरर और व्यापारियों को मुनाफाखोरी नहीं करने की चेतावनी दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 1:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नए कोरोनावायरस कोविड19 (Coronavirus Covid-19) के खतरे को रोकने के लिए देशभर में 21 दिन के लॉकडाउन का एलान किया गया है. इस बीच, सरकार की पूरी कोशिश है की बाजार में जरूरी सामानों की उपलब्धता कम नहीं हो. केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने ट्वीट कहा कि सरकार बाजार में आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता पर नजर बनाए हुए है. पासवान ने इस दौरान मैन्युफैक्चरर और व्यापारियों को मुनाफाखोरी नहीं करने की चेतावनी दी. उन्होंने कहा कि केंद्र यह सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकारों के साथ संपर्क में है कि आवश्यक वस्तुओं की कोई कमी न हो.






राशन की दुकानवालों को तीन महीने का खाद्यान्न उठाने की अनुमति
इस बीच केंद्र ने कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर 23 मार्च को राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को राशन की दुकानों से खाद्य सामग्री बांटने के लिए भारतीय खाद्य निगम (FCI) से तीन महीने का खाद्यान्न उठाने की अनुमति दी थी. पब्लिक डिस्ट्रिब्यूशन सिस्टम (PDS) के तहत करीब 75 करोड़ लाभार्थी हैं.

ये भी पढ़ें: 14 अप्रैल तक नहीं चलेगी कोई ट्रेन, ऑनलाइन बुकिंग का पैसा मिलेगा वापस

435 लाख टन का सरप्लस अनाज
सरकारी आंकड़ों के अनुसार, सरकार के पास 435 लाख टन का सरप्लास अनाज है. इनमें से 272.19 लाख टन चावल और 162.79 लाख टन गेहूं का स्टॉक है. ऐसे में सरकार राज्यों के साथ यह सुनिश्चित करेगी कि किसी भी राज्य में अनाज की कमी नहीं होने पाए. इसके लिए राज्यों को पहले ही निर्देश दिए जा चुके हैं.

21 दिन तक लॉकडाउन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 मार्च से पूरे देश में अगले 21 दिन तक लॉकडाउन यानी पूर्ण बंदी का एलान किया है. पीएम का कहना है कि कोविड19 की चेन को तोड़ने के लिए यह जरूरी है कि अगले तीन हफ्ते तक जो जहां है वहीं रहे. इसबीच, प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर देशवासियों को आवश्वत किया कि देश में जरूरी सामानों जैसे दवाई, दूध, ग्रॉसरी की कमी नहीं होने दी जाएगी. इसकी उपलब्धता सुनिश्चित रहेगी.

ये भी पढ़ें: कोरोना की वजह से नहीं जा पा रहे ATM तो ऐसे घर बैठे मंगवा सकते है पैसे!

मोदी सरकार कर चुकी है राहत पैकेज का ऐलान
पीएम मोदी ने मंगलवार को हेल्थ इंफ्रा के लिए 15,000 करोड़ रुपये खर्च करने का भी एलान किया है. वहीं आंकड़ों के अनुसार, 21 मार्च तक केंद्र ने छह राज्यों की छह निकायों के लिए 2,570 करोड़ का लंबित अनुदान जारी कर दिया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 1:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर