• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • MTNL-BSNL Power Grid समेत इन कंपनियों की प्रॉपर्टी बेचने को लेकर बुधवार को अहम बैठक होगी

MTNL-BSNL Power Grid समेत इन कंपनियों की प्रॉपर्टी बेचने को लेकर बुधवार को अहम बैठक होगी

सचिवों के समूह की अहम बैठक बुधवार को होगी.

सचिवों के समूह की अहम बैठक बुधवार को होगी. इसमें MTNL, BSNL, Power Grid के एसेट मोनेटाइजेशन (प्रॉपर्टी और अन्य एसेट बेचने को लेकर) की समीक्षा होगी. NITI आयोग के CEO की अगुवाई में ये बैठक होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
नई दिल्ली. महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (MTNL) भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) और पावर ग्रिड (Power Grid) की संपत्ति को बेचने यानी एसेट मॉनेटाइजेशन की प्रक्रिया काफी तेज हो गई है. CNBC आवाज़ को सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार को इस पर सचिवों के समूह की अहम बैठक होगी. NITI आयोग के CEO की अगुवाई में ये बैठक होगी. MTNL और BSNL की कुल 38,000 करोड़ की संपत्ति बेची जानी है. इस संपत्ति में कंपनी की खाली जमीन, बिल्डिंग शामिल होंगी.

बुधवार की बैठक में क्या होगा? CNBC आवाज़ को सूत्रों को मिली जानकारी के मुताबिक,  NITI आयोग के CEO की अगुवाई में होने वाली इस बैठक में सभी कंपनियों से पूछा जाएगा की ऐसट मॉनेटाइजेशन प्लान पर क्या अभी तक क्या हुआ है? इसके अलावा MTNL और BSNL पर ज्यादा फोकस रहेगा. इन दोनों कंपनियों के टावर को बेचने और किराए पर देने का प्लान है.

पावर ग्रिड की ट्रांसमिशन लाइन का मॉनेटाइजेशन किया जाएगा. इससे दो चरणों में 10-10 हजार करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है. GAIL की पाइपलाइन का मॉनेटाइजेशन किया जाएगा. इसी तरह से रेलवे, शिपिंग और हाइवे के प्रोजेक्ट को मॉनेटाइजेशन किया जाएगा. इन सभी से जुड़े प्लान की समीक्षा होगी. सभी मंत्रालयों से इनसे जुड़ा प्लान मांगा गया है. सूत्रों ने बताया कि कंपनियों में हिस्सेदारी बेचने की योजना सफल नहीं हो रही है. ऐसे में सरकार ने एसेट मॉनेटाइजेशन का प्लान बनाया है.

VIDEO- जानिए सरकारी कंपनियों की पॉपर्टी को बेचने के नए प्लान के बारे में...

37500 हजार करोड़ रुपए की संपत्ति बेची जाएगी-MTNL और BSNL की कुल 37500 करोड़ रुपए की संपत्ति बेची जानी है. इस संपत्ति में कंपनी की खाली जमीन और बिल्डिंग शामिल होंगी. इस बिक्री से मिले पैसों का इस्तेमाल कंपनी की माली हालत सुधारने में होगा.

अक्टूबर 2019 में घोषित किया गया था रिवाइवल प्लान-घाटे में चल रहीं सरकारी टेलीकॉम कंपनी BSNL और MTNL के रिवाइवल के लिए केंद्र सरकार ने इसी साल अक्टूबर में 70,000 करोड़ के रिवाइवल प्लान को मंजूरी दी थी. इसमें इन दोनों कंपनियों को विलय, संपत्तियों की बिक्री और कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) देने की घोषणा थी. केंद्र सरकार का लक्ष्य दोनों कंपनियों के विलय से बाद बनने वाली ईकाई को दो साल के भीतर मुनाफे वाले ईकाई बनाना है.

इन दो बैंकों ने ग्राहकों को दिया तोहफा, सस्ता किया लोन, अब हर महीने बचेंगे इतने पैसे

घाटे में चल रहीं दोनों कंपनियां-BSNL को 2018-19 में करीब 14,202 करोड़ रुपए का घाटा हुआ. 2017-18 में 7,993 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था. 2016-17 में 4,793 करोड़ और 2015-16 में 4,859 रुपए का घाटा हुआ था. कंपनी 2010 से ही नुकसान में चल रही है. वहीं पिछले 10 सालों में से 9 साल में MTNL ने घाटा दर्ज किया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज