लाइव टीवी

कोरोना वायरस: 24 मार्च की आधी रात से सभी घरेलू यात्री विमान सेवाएं बंद

News18Hindi
Updated: March 23, 2020, 6:56 PM IST
कोरोना वायरस: 24 मार्च की आधी रात से सभी घरेलू यात्री विमान सेवाएं बंद
कोरोना वायरस की वजह से कई कंपनियों को उड़ानें बंद करनी पड़ी है.

मंगलवार आधी रात के बाद कोई भी घरेलू फ्लाइट उड़ान नहीं भरेगी. 19 मार्च को ही सरकार ने सभी विमान कंपनियों को निर्देश जारी किया था कि 22 मार्च से कोई भी इंटरनेशनल फ्लाइट्स भारत से उड़ान नहीं भरेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2020, 6:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस आउटब्रेक (Coronavirus Outbreak) के बाद देशभर के 80 जिलों में लॉकडाउन कर दिया गया है. सभी गैर-जरूरी सेवाओं को भी बंद कर दिया गया है. अब घरेलू रूटों पर चलने वाली विमान कंपनियों की भी फ्लाइट्स बंद हो गई हैं. मंगलवार आधी रात के बाद कोई भी घरेलू फ्लाइट उड़ान नहीं भरेगी. 19 मार्च को ही सरकार ने सभी विमानन कंपनियों को निर्देश जारी किया था कि 22 मार्च से कोई भी इंटरनेशनल फ्लाइट्स भारत से उड़ान नहीं भरेगी.

विमान कंपनियों पर क्या असर पड़ेगा
कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए कई शहरों में लॉकडाउन की वजह से ग्राउंडेड प्लेन्स की संख्या बढ़ने वाली है. विमान कंपनियों का संचालन बढ़ने के बाद ईंधन की कीमतों में इजाफा नहीं होगा, कोई रूट नैविगेशन और लैंडिंग चार्ज नहीं वसूला जाएगा. हालां​कि, इस दौरान ​लीज पर लिए गए विमानों का खर्च देना होगा.

कई विदेशी कंपनियों ने भी बंद की सेवा



दुनिया की कई प्रमुख विमान कंपनियों ने कहा कि वो फ्लाइट्स की संख्या में बड़ी कटौती करेंगी. इनमें डेल्टा, अमेरिकन एयरलाइंस भी शामिल हैं. सिंगापुर एयरलाइंस ने कहा है कि वो अपनी क्षमता में 96 फीसदी तक कटौती करेगी. ​एमिरेट्स ने कहा है कि 25 मार्च से अपनी पूरी सेवाओं को बंद कर देगी. कुछ विमान कंपनियों ने पहले से ही अपने संचालन को बंद कर दिया है.



यह भी पढ़ें: इस शर्त को पूरा किए बिना नहीं मिलेंगे PM-किसान सम्मान निधि स्कीम के 6000 रुपए!

भारत में अब तक 40 फीसदी विमानों का संचालन बंद
भारत में Vistara Airlines ने कहा कि वो अपने क्षमता को कम कर रही है. इंडिगो ने 23 मार्च से अपनी घरेलू क्षमता में 25 फीसदी तक कटौती करने का ऐलान किया है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में अब तक घरेलू रूट्स पर 40 फीसदी विमान खड़े कर दिए गए हैं. इनमें एअर इंडिया ने अपनी दो तिहाई क्षमता को कम किया है, जिसमें कुल 80 एयरक्रॉफ्ट्स हैं. GoAir ने 60 फीसदी​ विमानों को खड़ा कर दिया है. इस विमान कंपनी के बेड़े में कुल 54 एयरक्रॉफ्ट्स हैं, जिनमें 30 एयरक्राफ्ट ग्राउंडेड हैं. विस्तारा ने अपने 41 में से 20 एयरक्राफ्ट को ग्राउंड कर दिया है.

यह भी पढ़ें: SBI की नई पहल, कोरोना की वजह से कारोबारियों को कम ब्याज पर देगा Loan

पार्किंग की समस्या
इन विमान कंपनियों के लिए सबसे बड़ी समस्या पार्किंग की है. फिलहाल अधिकतर विमानों को दिल्ली, मुंबई में पार्क किया गया है. कुछ विमानों को चेन्नई, बेंगलुरू, हैदराबाद और कोलकाता में पार्क किया गया है. हालांकि, एअर इंडिया की अपनी मेंटेनेंस फैसिलिटी है, जहां इन विमानों को पार्किंग खर्च नहीं देना होगा. लेकिन अन्य विमान कंपनियों को ग्रांउडेड प्लेन्स के लिए पार्किंग चार्ज देना होगा.

यह भी पढ़ें: कोरोना की वजह से अब बंद हुई नोटों की छपाई, नासिक करंसी प्रेस पर भी लगा ताला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 3:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर