लाइव टीवी

22-23 रुपये किलो भाव पर प्याज बेचेगी सरकार, इस वजह से लिया ये फैसला

भाषा
Updated: January 30, 2020, 5:21 PM IST
22-23 रुपये किलो भाव पर प्याज बेचेगी सरकार, इस वजह से लिया ये फैसला
बंदरगाहों पर सड़ रहा है इंपोर्टेड प्याज

केंद्र सरकार बंदरगाहों (Ports) पर सड़ रहे आयातित प्याज (Imported Onion) को सरकार काफी सस्ती दर पर यानी 22-23 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर सकती है. यह प्याज (Onion) के मौजूदा बाजार भाव की तुलना में करीब 60 प्रतिशत कम है.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार बंदरगाहों (Ports) पर सड़ रहे आयातित प्याज (Imported Onion) को सरकार काफी सस्ती दर पर यानी 22-23 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर सकती है. यह प्याज (Onion) के मौजूदा बाजार भाव की तुलना में करीब 60 प्रतिशत कम है. सूत्रों ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी. केंद्र सरकार अभी राज्य सरकारों को 58 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से आयातित प्याज मुहैया करा रही है. केंद्र सरकार परिवहन खर्च (Transportation Cost) का भी वहन कर रही है.

14 हजार टन प्याज हो चुका है आयात
सरकार ने प्याज की बढ़ती कीमतों को देखते हुए नवंबर, 2019 में एमएमटीसी (MMTC) के जरिये 1.2 लाख टन प्याज का आयात करने का निर्णय लिया था. MMTC विदेशी बाजारों से 14 हजार टन प्याज का आयात कर चुकी है. सूत्रों ने कहा कि आयातित प्याज की बड़ी खेप बंदरगाहों विशेषकर महाराष्ट्र में पड़ी हुई है. नयी फसल के बाजार में पहुंचने से खुदरा कीमतें नरम पड़ने लगी हैं. ऐसे में कई राज्य उच्च दर पर आयातित प्याज खरीदने को तैयार नहीं हैं. ये भी पढ़े: 'चेतक' को दौड़ाने वाले राहुल का Bajaj में बदला रोल, बने Non Executive Chairman



स्वाद भी घरेलू प्याज की तुलना में अलग
सूत्रों ने कहा कि आयातित प्याज का स्वाद भी घरेलू प्याज की तुलना में अलग है. इसके कारण कई राज्यों ने आयातित प्याज के ठेके रद्द कर दिये. उन्होंने कहा कि आयातित प्याज की नरम मांग को देखते हुए एमएमटीसी ने अभी तक महज 14 हजार टन प्याज की ही खरीद की है, जबकि उसने 40 हजार टन प्याज आयात करने के ठेके दिये हैं. अभी तक आयातित प्याज की बड़ी खेप भी बंदरगाहों पर पड़ी है. नाफेड, मदर डेयरी और इच्छुक राज्य सरकारें मंडियों में वितरण के लिए 22-23 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से आयातित प्याज खरीद सकती हैं. ये भी पढ़ें-हाइवे पर शुरू कर सकते हैं ये बिजनेस, नितिन गडकरी ने दी इसकी जानकारी

 

200 रुपये प्रति किलो पहुंचा था प्याज का भाव
बता दें कि पिछले महीने एक समय प्याज की कीमत 200 रुपये किलो तक पहुंच गई थी लेकिन अब यह किस्म और अलग अलग स्थानों की प्याज के मुताबिक 60 से 70 रुपये किलो रह गई है. नई प्याज की आवक जनवरी से मई तक होगी. ये भी पढ़ें: लाखों लोगों का PF खाता हुआ ब्लॉक, आप भी ऐसे करें पता



प्याज में तेजी की वजह
महाराष्ट्र में प्याज की काफी पैदावार होती है लेकिन वर्षा के मौसम में यहां भारी बारिश होने और राज्य में आने से नुकसान होने की वजह से दिल्ली और देश के अन्य हिस्सों में खुदरा प्याज की कीमतें आसमान पर पहुंच गईं. प्रमुख प्याज उत्पादक राज्यों में अधिक बारिश से फसल वर्ष 2019-20 के खरीफ और खरीफ की देर से हुये प्याज उत्पादन में लगभग 25 प्रतिशत की गिरावट रही.

ये भी पढ़ें: खाली बर्थ के लिए ट्रेन में अब नहीं काटने होंगे टीटीई के चक्कर, रेलवे ने शुरू की नई सर्विस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 5:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर